इन खूंखार कुत्तों की मदद से मारा गया था लादेन, अमेरिकी राष्ट्रपति के घर की भी करते हैं सुरक्षा

इन खूंखार कुत्तों की मदद से मारा गया था लादेन, अमेरिकी राष्ट्रपति के घर की भी करते हैं सुरक्षा

Manish Geete | Publish: Apr, 16 2019 10:30:00 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

इन खूंखार कुत्तों की मदद से मारा गया था लादेन, अमेरिकी राष्ट्रपति के घर की भी करते हैं सुरक्षा

 

भोपाल। ओसामा बिन लादेन का सफाया करने वाले ऑपरेशन से लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति के घर व्हाइट हाउस की सुरक्षा करने वाले खूंखार कुत्ते अब मध्यप्रदेश पुलिस के डॉग स्क्वायड में शामिल किए गए हैं। बेल्जियन मेलिनोइस नस्ल (Malinois dog) के इन खोजी कुत्तों को 9 माह की ट्रेनिंग दी जाएगी।

अलकायदा चीफ और दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकवादी माने जाने वाले ओसामा बिन लादेन को मारने के लिए अमेरिका की सील नेवी की टीम ने प्रमुख भूमिका निभाई थी। यह आपरेशन नेप्ट्यून स्पीयर था। इसी टीम में बेल्जियन मालिनोस कुत्तों को भी शामिल किया गया था। अब उसी नस्ल के कुत्तों को मध्यप्रदेश पुलिस की डॉग स्क्वायड में शामिल कर लिया गया है।

 

व्हाइट हाउस की भी सुरक्षा करते हैं ऐसे डॉग
अमेरिकी राष्ट्रपति के घर व्हाइट हाउस की सुरक्षा में भी इसी नस्ल के कुत्ते तैनात रहते हैं। जो संदिग्ध व्यक्ति को दूर से ही समझ जाते हैं।

 

 

डॉग स्क्वायड का कुनबा बढ़ा
मध्यप्रदेश में हैदराबाद से हाल ही में 12 जर्मन शेफर्ड, 12 डॉबरमैन और दो बेल्जियन मलिनॉस को डॉग स्क्वाड (Dog Squad) में शामिल किया गया है। मध्यप्रदेश पुलिस के एक अधिकारी ने मीडिया को बताया कि इस नस्ल के कुत्तों की सूंघने और अटैक करने की क्षमता दूसरे किसी भी नस्ल के कुत्तों से बेहतर होती है।

9 माह की होगी ट्रेनिंग
डॉग स्क्वायड में शामिल इन कुत्तों को 9 महिना की ट्रेनिंग दी जाएगी। इसका खर्च एक लाख रुपए प्रति डॉग आएगा। इस खर्च में उनके लिए आहार और अन्य सुविधाएं शामिल की गई हैं। दुनिया के कई देशों की पुलिस फोर्स भी इसी नस्ल के कुत्तों का इस्तेमाल करती है।

 

टाइगर रिजर्व में होता है इनका इस्तेमाल
मध्यप्रदेश में फिलहाल इस नस्ल के कुत्तों का उपयोग टाइगर रिजर्व में होता है। प्रदेश के कान्हा और पेंच में वन्य जीव संरक्षण और शिकारियों को पकड़ने के लिए किया जाता है।

ऐसा होता है यह डॉग
-बेल्जियन मालिनोस डॉग की ऊंचाई 24 से 26 इंच तक होती है।
-इनका वजन 18 किलोग्राम से 27 किलोग्राम तक होता है। इनकी औसत आयु 14 से 16 साल है।

 

क्या था ऑपरेशन नेप्ट्यून स्पीयर
-11 सितंबर 2001 को अलकायदा के आतंकवादियों ने अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर को ध्वस्त कर दिया गया था।
-इस हमले में तीन हजार से अधिक लोगों की मौत हो गई थी।
-इसके बाद अमेरिका ने अफगानिस्तान में स्थित अलकायदा के ठिकानों पर हमला किया था।
-अमेरिकी इंटेलिजेंस को सूचना मिली थी कि पाकिस्तान के एबटाबाद में ओसामा बिन लादेन छुपा हुआ है।
-इसके बाद 2 मई 2011 को अमेरिकी नेवी सील ने पाकिस्तान में ऑपरेशन नेप्ट्यून स्पीयर चलाया, जिसमें आतंकी ओसामा बिन लादेन और उसके साथियों को मार डाला गया। इस टीम में बेल्जियन मालिनोस डॉग भी थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned