लाखों कर्मचारियों को इस बार नहीं मिलेगी सैलरी, कर दी ये बड़ी गलती

मध्यप्रदेश के साढ़े पांच लाख अधिकारी और कर्मचारियों को इस बार सैलरी नहीं मिल पाएगी। वित्त मंत्रालय के आदेश के बाद जो भी व्यक्ति बैंक खाते को आधार से लिंक नहीं कर पाया है, उनकी मुश्किलें बढ़ जाएंगी।


भोपाल। मध्यप्रदेश के साढ़े पांच लाख अधिकारी और कर्मचारियों को इस बार सैलरी नहीं मिल पाएगी। वित्त मंत्रालय के आदेश के बाद जो भी व्यक्ति बैंक खाते को आधार से लिंक नहीं कर पाया है, उनकी मुश्किलें बढ़ जाएंगी।

मध्यप्रदेश सरकार के कर्मचारियों और अधिकारियों के सैलरी एकाउंट अब भी आधार से लिंक नहीं हो पाया है। इस कारण कई कर्मचारियों की सैलरी इस बार खटाई में पड़ सकती है। हालांकि कर्मचारी और अधिकारी अपने खाते को आधार नंबर से लिंक करवाने के लिए जुटे हुए हैं, फिर भी पांच प्रतिशत से अधिक कर्मचारी पिछड़ गए हैं। सरकारी आंकड़ों के तहत अब तक देशभर में 10 करोड़ से अधिक खातों को आधार कार्ड से जोड़ा जा चुका है।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में करीब दस लाख शासकीय कर्मचारी हैं, इसके अलावा कई पेंशनभोगी, छात्र, जनधन खाते और निजी कंपनियों में कार्यरत कर्मचारियों के भी खाते हैं।

वित्त विभाग के सचिव और आयुक्त कोष एवं लेखा सुखबीर सिंह कहते हैं कि नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया ने कैशलेस लेन-देन को बढ़ावा दिया है, इसके तहत सीधे खातों में भुगतान करने की सिफारिश की गई है। इसी को ध्यान में रखते हुए मध्यप्रदेश में भी सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के बैंक खातों को आधार से लिंक करने की प्रक्रिया की जा रही है।


सिर्फ पांच प्रतिशत बाकी
सूत्रों के मुताबिक 90 फीसदी से अधिक कर्मचारियों औरअधिकारियों के खाते आधार से जुड़ गए हैं। जो रह गए हैं उन्हें भी तय समय में अपनी जानकारी अपडेट करना है। खातों से आधार नंबर लिंक हो जाने के बाद ही वेतन का भुगतान होगा।

यह भी है खास
1. सीधे खातों में भुगतान के लिए भी आधार को अनिवार्य किया गया है।
2. गड़बड़ी की गुंजाइश नहीं रहने से पारदर्शिता आएगा।
3. प्रदेश के साढ़े पांच लाख से अधिक कर्मचारी और अधिकारियों के खाते में आधार लिंक होने के बाद ही वेतन दिया जाएगा।
4. वित्त विभाग ने कर्मचारियों के बैंक खातों को आधार से लिंक करवाना अनिवार्य कर दिया है। इसके लिए अंतिम तारीख 13 अप्रैल थी।
5. अब तक 95 प्रतिशत कर्मचारियों ने बैंक खाते को आधार से लिंक करवा लिया है।

1 मई से ब्लाक हो जाएंगे बैंक खाते
यदि किसी भी व्यक्ति ने अपने बैंक खातों को आधार नंबर से लिंक नहीं करवाया तो एक मई से बैंक खातों को ब्लाक कर दिया जाएगा। इसमें रखा पैसा भी नहीं मिलेगा, जबकि जुर्माना भी देना पड़ सकता है।

निजी कंपनियों के कर्मचारियों पर भी पड़ेगा असर
मध्यप्रदेश की निजी कंपनियों के ऐसे कर्मचारी जिनकी सैलरी सीधे खाते में जमा होती है, यदि उन्होंने भी अपने खाते को आधार से नहीं जुड़वाया है तो उनका खाता ब्लाक होने की स्थिति में उन्हें भी वेतन नहीं मिल पाएगा।

क्या कहता है इनकम टैक्स डिपार्टमेंट
खातों के सुचारू रूप से संचालन के लिए 30 अप्रैल तक टैक्स काम्प्लायंस एक्ट के तहत सारी जानकारी देना अनिवार्य है। यदि आप यह जानकारी नहीं दे पाए तो 1 मई के बाद वित्तीय संस्थाओं को आपका खाता ब्लाक करने का पूरा अधिकार मिल जाएगा। टैक्स चोरी के मद्देनजर ऐसा किया जा रहा है।

बैंक को आधार से लिंक करने के कई फायदे
1. आधार कार्ड को खाते से लेकर PAN CARD तक लिंक करवाने के कई फायदे हैं। आपके लिए टैक्‍स रिटर्न भरते वक्‍त कागजात बैंगलुरू ऑफिस भेजने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
2. पासपोर्ट बनवाते वक्‍त आधार कार्ड का प्रयोग करते हैं तो आपको दो हफ्ते से ज्‍यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा।
3. गैस सब्सिडी के लिए यदि आपका बैंक अकाउंट आधार कार्ड से जुड़ा है तो कागजी कार्यवाही से बच जाएंगे।
4. पीडीएस, स्कॉलरशिप, मनरेगा के साथ ही कई सरकारी योजनाओं का फायदा भी आसानी से उठा सकते हैं।

Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned