scriptbharan poshan sdm govindpura jila prashasan collector bhopal | ताई को भारी पड़ गया भतीजे की मदद करना, खाली करने के मांगे पांच लाख रुपए या आधा हिस्सा | Patrika News

ताई को भारी पड़ गया भतीजे की मदद करना, खाली करने के मांगे पांच लाख रुपए या आधा हिस्सा

- धमकी देकर बोला बुढिय़ा मकान में आग लगा दूंगा, हैरान परेशान ताई ने एसडीएम गोविंदपुरा मनोज वर्मा के यहां लगाया भरण पोषण के तहत आवेदन, एसडीएम ने एक माह के अंदर मकान खाली करने का आदेश दिया

भोपाल

Published: April 02, 2022 07:23:18 pm

भोपाल. राजीव नगर निवासी एक बुजुर्ग महिला ने वर्ष अपने देवर की मृत्यु के बाद भतीजे को रहने के लिए अपना घर दे दिया। सात साल बाद जब उन्हें घर की जरूरत हुई तो उसी भतीजे ने घर खाली करने के पांच लाख रुपए या मकान में आधा हिस्सा मांग लिया। इससे घबराई ताई ने एसडीएम गोविंदपुरा मनोज वर्मा के यहां भरण पोषण के तहत घर खाली कराने का आवेदन किया था। दोनों पक्षों को सुनवाई के बाद एसडीएम आवेदिका के पक्ष में फैसला सुनाते हुए भतीजे को एक माह के अंदर घर खाली करने का आदेश दिया है।
महोबा बॉर्डर पर भी उमड़ रहे लोग
महोबा बॉर्डर पर भी उमड़ रहे लोग
मुंद्रा सिंह पत्नी रामगोपाल सिंह, उम्र 61 वर्ष निवासी एलआईजी ए सेक्टर, फेस-3 राजीव नगर ने एसडीएम कार्यालय में दिए अपने आवेदन में बताया कि देवर जयपाल सिंह के निधन के बाद उनके पुत्र अंकुर सिंह को अपना मकान रहने के लिए दिया था। वर्ष 2014 में उस समय वे अपना लालन पालन करने में सक्षम नहीं थे। इस कारण उन्हें अपना घर दे दिया। मुंद्रा ही लीज रेंट और सम्पत्तिकर का भुगतान करती आ रही हैं। भतीजे अंकुर से कभी कुछ नहीं कहा। पिछले दो साल से उन्हें उस मकान की जरूरत महसूस हो रही है, लेकिन अंकुर मकान खाली नहीं कर रहा।उल्टा आवेदक पक्ष को डरा धमकाते हैं। बोलते हैं बुढिय़ा बार-बार मकान मांगने की कोशिश की तो मकान में आग लगा दूंगा। ज्यादा जोर देने पर मकान खाली करने के पांच लाख रुपए मांगे या आधा हिस्सा मांगा। इस मामले में नोटिस जारी कर अंकुर से जवाब मांगा तो उनकी तरफ से दिए जवाब में परिसीमा अधिनियम 1963 के प्रावधानों द्वारा किसी नियम का पालन न करने का हवाला देते हुए आवेदन को निरस्त करने की मांग की। ये भी बताया कि वह इस मकान में वर्ष 2000 से निवासरत है। कभी कोई किरायानामा या लीज रेंट भी नहीं बनाया।
आवेदिका अभद्र व्यवहार से परेशान
एसडीएम मनोज वर्मा ने दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद आदेश में लिखा कि आवेदिका मुंद्रा सिंह भतीजे के व्यवहार से परेशान हैं। उनकी तरफ से अंकुर को एक माह के अंदर उक्त मकान खाली कर अधिपत्य आवेदिका को सौंपना होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

31 साल बाद जेल से छूटेगा राजीव गांधी का हत्यारा, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशकान्स फिल्म फेस्टिवल में राजस्थान का जलवा, सीएम गहलोत ने जताई खुशीगुजरातः चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, हार्दिक पटेल ने दिया इस्तीफा, BJP में शामिल होने की चर्चाआतंकियों के निशाने पर RSS मुख्यालय, रेकी करने वाले जैश ए मोहम्मद के कश्मीरी आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तारआज चंडीगढ़ की ओर कूच करेंगे किसान, बॉर्डर पर ही बिताई रात, CM भगवंत बोले- 'खोखले नारे' नहीं तोड़ सकते संकल्पवाराणसी कोर्ट में आज ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर अहम बहस, जानें किन मुद्दों पर हो सकता है फैसलादिल्ली में आज एक बार फिर चलेगा बुलडोजर! सुरक्षा के लिए 400 पुलिसकर्मियों की मांगकांग्रेस नेता कार्ति चिंदबरम के करीबी को CBI ने किया गिरफ्तार, कल कई ठिकानों पर हुई थी छापेमारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.