आज भोपाल एम्स में भी नहीं मिलेगा इलाज, डॉक्टर रहेंगे हड़ताल पर

आज भोपाल एम्स में भी नहीं मिलेगा इलाज, डॉक्टर रहेंगे हड़ताल पर

Deepesh Tiwari | Publish: Jun, 17 2019 08:05:47 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

- डॉक्टर प्रोटेक्शन एक्ट को सख्ती लागू करने की मांग

- जेपी अस्पताल में व्यवस्थाएं दुरुस्त रखने के निर्देश

भोपाल। कोलकाता के मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों से मारपीट के बाद देशभर में आंदोलन फिलहाल जारी रहेगा। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा डॉक्टरों की सभी मांगों को मानने के बावजूद सोमवार को डॉक्टरों की हड़ताल रहेगी।

अब इसमें एम्स के डॉक्टर भी शामिल हो गए हैं। इसके कारण राजधानी में सोमवार को एम्स में भी ओपीडी सेवाएं बंद रहेंगी। गांधी मेडिकल कॉलेज के साथ निजी अस्पतालों में भी हड़ताल रहेगी।

इस मामले में फैकल्टी एसोसिएशन ऑफ एम्स के सचिव डॉ. राघवेन्द्र ने बताया कि एम्स दिल्ली में हुई बैठक के बाद हड़ताल का निर्णय लिया गया है।

सोमवार को एम्स अस्पताल में 24 घंटे तक ओपीडी सेवाएं बंद रहेंगी। हालांकि भर्ती मरीजों के साथ इमरजेंसी में आने वाली मरीजों का इलाज किया जाएगा।

निजी अस्पताल भी अड़े
इधर, यूनाइटेड डॉक्टर्स फेडरेशन ने भी सोमवार को हड़ताल पर जानेे का निर्णय लिया है। फेडरेशन के अध्यक्ष डॉ. अनूप हजेला का कहना है कि हमारी मांग ममता बनर्जी की माफी नहीं है। हम प्रदेश में डॉक्टर्स प्रोटेक्शन एक्ट को सख्ती से लागू कराना चाहते हंै।

सोमवार को गांधी मेडिकल कॉलेज के साथ 250 से ज्यादा निजी अस्पताल और 1000 से ज्यादा क्लीनिक बंद रहेंगे।

17 जून को दोपहर 12 बजे गांधी चिकित्सा महाविद्यालय के प्रांगण में सभी डॉक्टर एकत्रित होकर सभा आयोजित करेंगे। इसके बाद रैली निकालेंगे, जो संभागायुक्त कार्यालय पहुंचेगी और कमिश्नर कल्पना श्रीवास्तव ज्ञापन सौपा जाएगा।

हमीदिया-सुल्तानिया में नौ अतिरिक्त डॉक्टरों की तैनाती...
हड़ताल के मद्देनजर कमिश्नर कल्पना श्रीवास्तव ने हमीदिया और सुल्तानिया अस्पतालों में 9 अतिरिक्त डॉक्टर तैनात करने के निर्देश दिए हैं। डॉ. सतीश अहिरवार, डॉ. यश सर्राफ, डॉ. संजीव जयंत, डॉ. अमर और डॉ. उर्मिला मुंशी को हमीदिया में पदस्थ किया गया है।

सुल्तानिया अस्पताल में डॉ. पूनम श्रीवास्तव, डॉ. गायत्री श्रीवास्तव, डॉ. स्वाति जैन और डॉ. दीप्ति पंवार को तैनात किया है।

कमिश्नर ने दोनों अस्पतालों के अधीक्षकों से कहा है कि मरीजों का अस्पताल में पदस्थ सीनियर और जूनियर रेसीडेंट्स और जूनियर डॉक्टर्स से उपचार कराएं।

 

इधर, आरोप: 'पुलिस अफसरों की पत्नियों को भी करना पड़ता है सैल्यूट'

वहीं दूसरी ओर पुलिस अफसरों के घर पर आरक्षकों से बेगारी कराने का मामला फिर सामने आया है। एक पूर्व आरक्षक ने गृहमंत्री बाला बच्चन से इसकी शिकायत की है। बातचीत का ऑडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें कथित पूर्व आरक्षक बता रहा है कि पुलिसकर्मियों को बंगले में आइपीएस अफसरों की पत्नियों को भी सैल्यूट करना पड़ता है।

अपना नाम नंदकुमार चौहान बताने वाले इस व्यक्ति ने खुद को नीमच निवासी बताया है। उसका दावा है कि अफसरों की प्रताडऩा की वजह से उसने नौकरी छोड़ी थी। वह सबूत होने का दावा करते हुए कह रहा है कि यदि आप (गृहमंत्री) कार्रवाई करेंगे तो उन्हें सौंप देंगे। ऑडियो में गृहमंत्री एक्शन लेने का आश्वासन देते हुए कह रहे हैं कि उज्जैन की बैठक में चर्चा करेंगे।

खुद को पूर्व आरक्षक बताने वाले एक व्यक्ति से बात हुई है। उसने जिन मुद्दों पर बात रखी है, समीक्षा बैठकों में उन पर चर्चा की जाएगी। फोन करने वाले व्यक्ति के बारे में नहीं जानता हूं।
- बाला बच्चन, गृहमंत्री

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned