नहीं हटेगा भोपाल का BRTS, निरीक्षण के बाद बताया इसे बेहतर

नहीं हटेगा भोपाल का BRTS, निरीक्षण के बाद बताया इसे बेहतर

Manish Geete | Publish: Jun, 25 2019 01:35:32 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

मिसरोद से बैरागढ़ तक बने 24 किलोमीटर के बीआरटीएस कॉरिडोर को नहीं हटाया जाएगा। 121 दुर्घटना और 21 मौतों के बाद इसे हटाने के लिए काफी समय से मांग की जा रही थी।


भोपाल। मिसरोद से बैरागढ़ तक बने 24 किलोमीटर के बीआरटीएस कॉरिडोर में हो चुकी 121 दुर्घटना और अक्सर लगने वाले जाम से निजात दिलाने के लिए यह कोरिडोर हटाने की कवायद चली थी। Central Road Research Institute की टीम ने निरीक्षण करने के बाद यह संकेत दे दिये हैं कि इसके हटाने की जरूरत नहीं है।

दिल्ली से सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट ( सीआरआरआई ) के सीनियर प्रिंसिपल साइंटिस्ट डा. एस वेलमुरुगन के नेतृत्व में यह टीम मंगलवार सुबह भोपाल पहुंची। इन्होंने सबसे पहले संत हिरदाराम नगर (बैरागढ़) का निरीक्षण किया। यहां व्यापारियों को बीआरटीएस कारिडोर से काफी दिक्कत होती है, वहीं यहां कई बार दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। यह कॉरिडोर बैरागढ़ से मिसरोद तक 24 किलोमीटर लंबा है। यह टीम कई जगह निरीक्षण करने आई है।

 

BRTS

नहीं हटेगा बीआरटीएस कॉरिडोर
सूत्रों के मुताबिक दिल्ली से आई एक्सपर्स्ट की टीम में शामिल सीनियर प्रिंसिपल साइंटिस्ट डा. एस वेलमुरुगन ने कहा है कि यह कारिडोर हटाने की जरूरत नहीं हैं। भोपाल में यह कॉरिडोर बेहतर काम कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक इस निरीक्षण के बाद यह टीम सरकार को अपनी रिपोर्ट दे देगी।
-डॉ वेलुमुरुग्न ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि लेन में बूम बेरियर लगना चाहिए। वे बीआरटीएस पर विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं। इस रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी।

 

BRTS

बैरागढ़ का किया निरीक्षण
सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट ( crri ) के सीनियर प्रिंसिपल साइंटिस्ट डॉ. एस वेलमुरुगन सुबह दिल्ली से भोपाल पहुंचे और उन्होंने भोपाल में बने बीआरटीएस का निरीक्षण किया।
-राजाभोज एयरपोर्ट से वेलमुरुगन सीधे बैरागढ़ पहुंचे और बीआरटीएस लेन को देखा। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से चर्चा भी की।
-दिल्ली में बने बीआरटीएस को जिनकी सिफारिश के बाद हटा दिया गया था। इसके बाद दिल्ली में बीआरटीएस का विस्तार भी रोक दिया गया।
-भोपाल में मिसरोद से बैरागढ़ तक बने 24 किमी के कॉरिडोर में 2016 से 2018 तक 121 दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, जिसमें 21 लोगों की मौत हो चुकी है।

 

मंत्री के साथ होगी मीटिंग
दिल्ली से आई टीम का निरीक्षण मंगलवार को दिनभर होगा। इस दौरान मध्यप्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह के साथ भी मीटिंग होगी।
-यह टीम बीआरटीएस लेन के निर्माण, फायदे और नुकसान, संभावित दुर्घटनाएं, भविष्य में ट्रैफिक सिस्टम की स्थिति, बढ़ती जनसंख्या और कनेक्टविटी पर भी चर्चा करेगी। इसकी विस्तृत रिपोर्ट का अध्ययन होने के बाद ही बीआरटीएस तोड़ने या नहीं तोड़ने पर विचार किया जाएगा।


कमलनाथ ने की मेट्रो के अफसरों से चर्चा
उधर, कमलनाथ ने मेट्रो ट्रेन को लेकर वल्लभ भवन में अपने कक्ष में बैठक बुलाई है। मंत्रालय में वे अधिकारियों से चर्चा कर रहे हैं। इस बैठक में नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह एवं अन्य अधिकारी भी मौजूद हैं। इस बैठक में मुख्य सचिव एसआर मोहंती समेत अन्य अफसर भी मौजूद हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned