scriptBhopal eye project is not getting success | लोग इसलिए नहीं चाहते कि पुलिस उनके निजी सीसीटीवी के फुटेज चेक करे | Patrika News

लोग इसलिए नहीं चाहते कि पुलिस उनके निजी सीसीटीवी के फुटेज चेक करे

भोपाल आई प्रोजेक्ट के लिए पुलिस ने लोगों से मांगी निजी सीसीटीवी की कनेक्टिविटी, पर प्राइवेसी खत्म होने के डर से लोग नहीं देना चाहते कनेक्टिविटी
साइबर के जानकारों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार इंफोर्मेशन सिक्योरिटी मैनेजमेंट सिस्टम के तहत सरकारी संस्था को भी ऑडिट कराना जरूरी है। यदि पुलिस डेटा सेंटर का ऑडिट करवाए और भरोसा पैदा करे कि सिस्टम हैक प्रूफ है और निजी जानकारियां सार्वजनिक नहीं होंगी तो लोग ज्यादा जुड़ेंगे

भोपाल

Published: January 15, 2022 11:51:46 pm

पंकज श्रीवास्तव, भोपाल. शहर और आम नागरिकों की सुरक्षा का भरोसा जताने वाले प्रमुख चौक-चौराहों के कैमरे बंद हैं। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट और पुलिस सर्विलेंस सिस्टम के तहत 70 से अधिक स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए पर रखरखाव नहीं होने से महज ३० फीसदी काम कर रहे हैं। इस समस्या से निपटने के लिए भोपाल आई प्रोजेक्ट के तहत पुलिस ने आम नागरिकों से उनके प्राइवेट सीसीटीवी कैमरों की कनेक्टिविटी मांगी पर प्राइवेसी भंंग होने के भय से लोग आगे नहीं आ रहे। तीन साल से संचालित इस प्रोजेक्ट के तहत महज 6000 कैमरे ही सर्वर से कनेक्ट हुए हैं। साइबर एक्सपर्ट कहते हैं कि पुलिस डेटा सेंटर का ऑडिट करवाकर तथ्यों से लोगों को अवगत करवाया जाना चाहिए। इससे लोग इस प्रोजेक्ट से बेखौफ जुड़ेेंगे।
cartoon
cartoon on CCTV issue, cameras are not working in city and police asking peoples to give access of personal cctv camera connectivity
क्या है भोपाल आई प्रोजेक्ट
भोपाल आई प्रोजेक्ट के नाम से स्थानीय पुलिस ने एक स्पेशल यूनिट का गठन किया है। इस यूनिट की निगरानी के लिए अलग से अधिकारियों की टीम बनाई गई है। पुलिस कंट्रोल रूम के पास इस टीम को बैठने के लिए जगह उपलब्ध कराई गई है। यह टीम विशेष प्रकार के सर्वर से शहर के सभी निजी एवं व्यवसायिक सीसीटीवी कैमरा को पुलिस के सर्वर से कनेक्ट करने लोगों को प्रोत्साहित कर रही है। लोगों का यह भ्रम भी दूर किया जा रहा है कि उनके सभी कैमरों की रिकॉर्डिंग पुलिस देखकर इसे जांच में शामिल करेगी। लोगों को समझाया जा रहा है कि उनके घरों के बाहर लगे कैमरों को भी सुरक्षा की दृष्टि से सर्विलांस पर लिया जाएगा।
लोगों को डर... सिस्टम हैक हो गया तो उन पर कोई हर पल नजर रख सकता है
अभी पुलिस जो सर्वर पर अपना डाटा रखती है, वो पूरी तरह सुरक्षित नहीं है। अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार इंफोर्मेशन सिक्योरिटी मैनेजमेंट सिस्टम के तहत सरकारी संस्था को भी ऑडिट कराना जरूरी है। पुलिस ने अभी तक डेटा सेंटर का ऑडिट नहीं कराया है। लोगों को ये डर रहता है कि यदि किसी हैकर ने इस सिस्टम को हैक कर लिया तो हैकर उन पर हर पल नजर रख सकता है। दूसरा कारण यह भी है कि लोग अपनी प्राइवेसी को खत्म नहीं करना चाहते, क्योंकि घर के बाहर लगे कैमरे में भी उनकी हर गतिविधि रिकॉर्ड होती है। पुलिस ऑडिट कराती है तो लोगों का विश्वास बढ़ेगा।
यशदीप चतुर्वेदी
साइबर एक्सपर्ट
प्राइवेसी का मामला है पर फुटेज देते हैं
सीसीटीवी कैमरों की कनेक्टिविटी प्राइवेसी का मामला है। सुरक्षा के लिहाज से बात करें तो लोगों को पुलिस की मदद करना चाहिए। बाजार में लगे कैमरों की फुटेज
हम उपलब्ध कराते हैं।
सतीश गंगराड़े, अध्यक्ष, न्यू मार्केट व्यापारी महासंघ
शासन से फंड
मांगा गया है
विभागीय सीसीटीवी मेंटेनेंस के लिए वार्षिक संधारण नीति बनाई जा रही है। शासन से इसके लिए फंड भी मांगा गया है। भोपाल आई के तहत पब्लिक सीसीटीवी की लोकेशन चिह्नित की जा रही है।
मकरंद देउसकर
पुलिस आयुक्त
22 चौराहों पर आईटीएमएस कैमरों से ट्रैफिक पर निगाह
इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के तहत शहर के 22 चौक चौराहों पर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत आईटीएमएस कैमरे लगाए गए हैं। 22 चौराहों पर हाई रिजॉल्यूशन वाले कैमरे लगाए गए हैं। इसके लिए स्मार्ट सिटी के दफ्तर में कंट्रोल रूम बनाया गया है। चालान वॉट्सऐप, ईमेल और डाक से भेजे जाते हैं। प्रोजेक्ट की लागत करीब 17 करोड़ रुपए हैं। जो वाहन चालक ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करते हैं। उनकी पहचान कैमरों की निगरानी में कर ली जाती है। नंबर प्लेट को स्कैन कर वाहन मालिक का पूरा पता लगाया जा सकता है। बार-बार नियम तोड़ रहे वाहन चालकों के ड्राइविंग लाइसेंस निलंबित करने की कार्रवाई परिवहन विभाग के माध्यम से करवाई जा रही।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Texas Shooting: अमरीकी राष्ट्रपति ने टेक्सास फायरिंग की घटना को बताया नरसंहार, बोले- दर्द को एक्शन में बदलने का वक्तजातीय जनगणना सहित कई मुद्दों को लेकर आज भारत बंद, जानिए कहां रहेगा इसका ज्यादा असरमहंगाई से जंग: रिकॉर्ड निर्यात से घबराई सरकार, गेहूं के बाद अब 1 जून से चीनी निर्यात भी प्रतिबंधितआंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलरिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगदिल्ली के नरेला में एनकाउंटर, बॉक्सर गैंग का शातिर शार्प शूटर अरेस्टESIC MTS Result 2022 : ESIC MTS फेज 1 का परिणाम जारी, ऐसे चेक करें स्कोरकार्डRajasthan : सिर्फ 5 दिन का कोयला शेष, छत्तीसगढ़ से जल्दी नहीं मिली मदद तो गंभीर बिजली संकट में डूबने की चेतावनी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.