scriptBhopal-Indore Corridor, Vedanta-Tata-Excel showed interest | भोपाल-इंदौर कॉरीडोर, वेदांता-टाटा-एक्सेल ने दिखाई रूचि | Patrika News

भोपाल-इंदौर कॉरीडोर, वेदांता-टाटा-एक्सेल ने दिखाई रूचि

-------------------
- कॉरीडोर के सेंट्रल पाइंट आष्टा के आस-पास विकास के प्रयास, हजारों करोड़ के बड़े प्रोजेक्ट आएंगे
------------------

भोपाल

Published: April 06, 2022 09:49:48 pm

भोपाल। प्रदेश के सबसे अहम भोपाल-इंदौर कॉरीडोर में औद्योगिक विकास को नए पंख लग सकते हैं। वजह ये कि अभी तक इस कॉरीडोर में इंदौर-भोपाल के आस-पास ही विकास हो रहा है, लेकिन सरकार की कोशिश पूरे कॉरीडोर को विकसित करने की है। इसके लिए लंबे समय से कॉरीडोर के सेंट्रल पाइंट आष्टा के आस-पास भी औद्योगिक निवेश लाने के प्रयास हो रहे हैं, लेकिन इसमें ज्यादा कामयाबी नहीं मिल पाई है। लेकिन, अब तीन बड़ी कंपनियों ने इस दिशा में रूचि दिखाई है। तीनों कंपनियां बड़ा निवेश प्रोजेक्ट लाने की मंशा रखती है, इस कारण बेहतर कनेक्टिविटी वाले कम विकसित क्षेत्र में भी जा सकती है। इस कारण इस कॉरीडोर का सेंट्रल पाइंट भी इनके लिए मुफीद है। इसलिए सरकार इन्हें इन पाइंट्स पर लाने के प्रयास कर रही है।
---------------------
इन 3 कंपनियों ने दिखाई रूचि-
दरअसल, इंदौर-भोपाल से आगे बढक़र इस कॉरीडोर में अन्य कही पर निवेश को लेकर टाटा, वेदांता और एक्सेल समूह ने रूचि दिखाई है। तीनों ही समूह बड़े वेंचर लाना चाहते हैं। इस कारण आष्टा में बड़े वेंचर को लगाया जा सकता है। बड़े वेंचर में आस-पास ही टाउनशिप, शॉपिंग मार्केट व अन्य अधोसंरचना का विकास भी हो जाता है। इसलिए बड़े वेंचर को कम विकसित जगह पर भी शुरू किया जा सकता है। इस कारण तीनों समूह इस ओर कदम बढ़ा रहे हैं। इसमें मुख्य रूप से साफ्टवेयर-हार्डवेयर प्रोजेक्ट आएंगे। वेदांता तीस हजार करोड़ के निवेश पर प्रारंभिक चर्चा कर चुका है। इस कारण इस कड़ी में वेदांता को प्रमुखता से रखा गया है। एक्सेल समूह ने पहले ग्वालियर के समीप रूचि दिखाई थी, लेकिन बड़े निवेश के कारण ज्यादा जमीन चाहिए। यह स्थिति आष्टा के समीप भी है। यह इंदौर-भोपाल का सेंटर पाइंट होने के साथ बेहतर तरीके से कनेक्ट है। इसलिए यहां निवेश फायदेमंद है। तीनों ही समूहों से अभी सरकार की बातचीत चल रही है।
--------------------
औद्योगिक कॉरीडोर का कांसेप्ट-
आष्टा में बड़ा औद्योगिक क्लस्टर विकसित हो जाता है, तो सरकार का पूरे इंदौर-भोपाल कॉरीडोर को औद्योगिक कॉरीडोर बनाने का प्रोजेक्ट भी सफल हो जाएगा। इंदौर-भोपाल रूट प्रदेश का सबसे कमर्शियल और बेहतर रूट है। अभी इंदौर और उसके आस-पास ही सबसे ज्यादा विकास हुआ है। यह विकास देवास तक आ चुका है, लेकिन इसके बाद सोनकच्छ से विकास नहीं दिखता। वही भोपाल व आस-पास भी विकास है, लेकिन सीहोर के बाद गेप है। आष्टा में बडा क्लस्टर विकसित हो जाता है, तो यह दोनों ओर से बेहतर तरीके से जुड़ा होगा। भोपाल-इंदौर एयरपोर्ट भी होने से कनेक्टिविटी बेहतर रहेगी। इससे आष्टा से इंदौर-भोपाल दोनों ओर विकास हो पाएगा। इसलिए आष्टा को बेहतर पाइंट माना जा रहा है।
------------------------------------
shivraj.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र का सियासी संकट जल्द खत्म होने के आसार कम! सदस्यता को लेकर बागी विधायक कर सकते है कोर्ट का रुखMaharashtra Political Crisis: संजय राउत ने बागी विधायकों पर फिर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बड़ी बातMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीBy-Elections 2022: तीन लोकसभा और सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के नतीजे आजमेरे पास ममता बनर्जी को मनाने की ताकत नहीं: अमित शाहMumbai News Live Updates: शिवसेना ने मुखपत्र 'सामना' के जरिए बागियों पर साधा निशाना, कहा-बगावत करने वालों का सियासी करियर हुआ खत्मपंजाब: भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार IAS के बेटे ने खुद को गोली मारी, अधिकारी की पत्नी ने विजिलेंस टीम पर लगाया हत्या का आरोपMann Ki Baat : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 'मन की बात' कार्यक्रम को करेंगे संबोधित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.