चीचली गांव पहुंचे दिग्विजय , पीड़ित परिवार से की मुलाकात, कहा- हत्यारों को जल्द मिलेगी सजा

चीचली गांव पहुंचे दिग्विजय , पीड़ित परिवार से की मुलाकात, कहा- हत्यारों को जल्द मिलेगी सजा

KRISHNAKANT SHUKLA | Updated: 17 Jul 2019, 01:37:44 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

दिग्विजय सिंह ने ग्रामीण जनों को आश्वस्त करते हुए कहा कि वरुण के हत्यारों को जल्द से जल्द सजा दिलवाई जायेगी और फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस को चलवाया जायेगा।

भोपाल. कोलार थाना क्षेत्र के बैरागढ़ चिचली गांव में साढ़े तीन साल के मासूम वरुण की अपहरण के बाद हत्या मामले में बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की और परिजन को ढांढस बांधाया। दिग्विजय सिंह ने ग्रामीण जनों को आश्वस्त करते हुए कहा कि वरुण के हत्यारों को जल्द से जल्द सजा दिलवाई जायेगी और फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलवाया जायेगा।

अपहरण के बाद की गई थी हत्या

दो दिन पहले बैरागढ़ चिचली गांव में घर के सामने से रहस्यमयी ढंग से गायब हुए साढ़े तीन साल के मासूम वरुण की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। इस घटना को पड़ोस की एक महिला ने अकेले ही अंजाम दिया। हालांकि उसके सोलह वर्षीय नाबालिग बेटे को हत्या का पता चल गया था, लेकिन वह चुप रहा।

Digvijay Singh met victim's family

 

आरोपी महिला ने स्वीकार किया

महिला ने स्वीकार किया कि अपहरण के बाद मासूम को खाने के साथ चींटी मार दवा देकर मार दिया, फिर शव को चार फीट की टंकी में गेहूं के बीच दबा दिया। दो दिन बाद शव को खाली मकान में जला दिया। डीजीपी वीके सिंह मौके पर पहुंचे और इसके एक घंटे बाद आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया।

जहां अफसरों ने चाय पी, वहीं आरोपी

रविवार शाम वरुण घर से दुकान जाते समय गायब हो गया। परिजन और पड़ोसी उसे खोजते रहे। रात करीब डेढ़ बजे पुलिस अफसर वरुण के घर पहुंचे। इसके बाद आरोपी महिला सुनीता सोलंकी (42) के घर बैठकर तफ्तीश शुरू की। महिला सुनीता और उसका छोटा नाबालिग बेटा (16) सभी पुलिस अफसरों को चाय और पीने का पानी पूछते रहे।

Digvijay Singh met victim's family

ऐसे हुआ बच्चे का अपहरण

पुलिस पूछताछ में आरोपी ने कबूल किया कि रविवार शाम को उसने वरुण को चॉकलेट का लालच देकर बुलाया। फिर उसे चींटी मारने की दवा खिलाकर मार दिया। हत्या करने के बाद उसने करीब पांच फीट की एक गेहूं की टंकी में वरुण की लाश को बंद कर दिया। बदबू न आए, इसलिए लाश को गेहूं के बीच में दबा दिया।

महिला ने वरुण के परिवार पर चोरी का आरोप लगाते हुए कहा कि इसी कारण उसकी जान ले ली। मंगलवार तड़के करीब तीन-चार बजे के बीच पुलिस का पहरा जैसे ही कमजोर हुआ, शव को ले जाकर पड़ोस में दो साल से बंद पड़े एक मकान के अंदर जला दिया। शव जलाने के लिए कंबल, रूई और कंडे का सहारा लिया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned