हमीदिया में किडनी ट्रांसप्लांट के लिए एक सप्ताह में शुरू होंगे पंजीयन

राहत: एम्स से भी सस्ता होगा किडनी प्रत्यारोपण

By: manish kushwah

Updated: 03 Jan 2020, 07:41 AM IST

भोपाल. हमीदिया अस्पताल में किडनी ट्रांसप्लांट के लिए एक सप्ताह में मरीजों का पंजीयन शुरू हो जाएगा। मरीजों की पहचान के बाद तय होगा कि किसे ट्रांसप्लांट की सबसे ज्यादा जरूरत है। मालूम हो कि पिछले महीने इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज की चार सदस्यीय टीम ने किडनी ट्रांसप्लांट यूनिट का निरीक्षण किया था।

व्यवस्थाओं से संतुष्ट होने के बाद टीम ने हमीदिया अस्पताल में किडनी ट्रांसप्लांट यूनिट को हरी झंडी दी थी।
हमीदिया अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि एम्स दिल्ली में ट्रांसप्लांट का खर्च पांच लाख रुपए है। हमीदिया में ये खर्च तकरीबन 4.50 लाख रुपए के आसपास आएगा।

'आयुष्मान से ट्रांसप्लांट

किडनी मरीजों को आयुष्मान योजना में शामिल किया गया है। इससे मरीजों को जांचों के लिए अतिरिक्त राशि नहीं देनी होगी।
एक महीने में ट्रांसप्लांट की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। अभी सीटीवीएस यूनिट का उपयोग होगा। बाद में अलग यूनिट बनेगी। - डॉ. एके श्रीवास्तव, अधीक्षक, हमीदिया अस्पताल

क्लास से गैरहाजिर हुए तो मेडिकल छात्र अब नहीं दे पाएंगे परीक्षा

मेडिकल और आयुष कॉलेजों में गैरहाजिर रहने पर छात्रों को अब परीक्षाओं में नहीं बैठने दिया जाएगा। केंद्र सरकार ने इन छात्रों के लिए 75 फीसदी उपस्थिति अनिवार्य कर दी है। एमसीआई, डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया और सीसीआईएम ने गजट नोटिफिकेशन कर प्रदेश के 13 मेडिकल, 15 डेंटल और 41 आयुष कॉलेज समेत देशभर के 532 मेडिकल, 313 डेंटल और 710 आयुष कॉलेजों को आदेश जारी किया है। सूत्रों के मुताबिक स्नातक स्तर के सरकारी व निजी कॉलेजों में कई छात्र नियमित कक्षाओं में नहीं जाते हैं, जिसके कारण केंद्र सरकार से संबंधित विभागों की सहमति से ये आदेश जारी किया गया।

manish kushwah Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned