जी-पीजी की चार लाख सीटें पांचवें राउंड की समाप्ति में रहेंगी खाली

प्रोविजनल एडमिशन लेने वालों को नहीं मिल रही अंतिम साल की परीक्षा देने के बावजूद भी मार्कशीट

By: manish kushwah

Updated: 22 Nov 2020, 11:58 PM IST

भोपाल. उच्च शिक्षा विभाग के द्वारा स्नातक और स्नातकोत्तर में भी एडमिशन का पांचवां सीएलसी का राउंड चल रहा है। यूजी में एडमिशन की रफ्तार काफी धीमी है। खास बात यह है कि पीजी में लगभग सीटें भर गई हैं लेकिन प्रोविजनल एडमिशन वाले छात्रों ने अब तक रिजल्ट जमा नहीं किया है। जिसकी वजह से एडमिशन कंफर्म नहीं हो पा रहा है। इस स्थिति की वजह है कि कॉलेज एडमिशन कंफर्म कराने के लिए छात्रों से रिजल्ट मांग रहे हैं जिन्होंने अंतिम साल व सेमेस्टर की परीक्षा ओपन बुक माध्यम से दी है। मजे की बात यह है कि इसमें बरकतउल्ला विश्वविद्यालय सहित कई अन्य विश्वविद्यालय भी शामिल हैं। अब उनके रिजल्ट पर उच्च शिक्षा विभाग के निर्देश लागू नहीं हो रहे हैं। विश्वविद्यालय और कॉलेजों ने छात्रों को अब तक रिजल्ट बनाकर नहीं दिया है। जबकि इस संबंध में डेडलाइन का भी ध्यान नहीं दिया गया है। इसके पीछे का तर्क है कि जनरल प्रमोशन वाले छात्रों का रिजल्ट तैयार नहीं हो पाया है। इसलिए अभी तक के एडमिशनों की संख्या को देखते हुए अनुमान लगाया गया है कि करीब चार लाख से ज्यादा सीटें खाली रहेंगी।

रोजाना जारी होगी मेरिट लिस्ट 26 तक होंगे एडमिशन
16 नवंबर से चल रहे यूजी और पीजी में पांचवें राउंड के रजिस्ट्रेशन व सत्यापन की प्रक्रिया समाप्त हो गई है। मेरिट लिस्ट रोजाना कॉलेज स्तर पर जारी हो रही है। जिसके जरिए छात्र एडमिशन ले रहे हैं। यह प्रक्रिया पांचवें राउंड की 23 नवंबर को समाप्त हो जाएगी।

manish kushwah Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned