बदमाशों पर शिकंजा कसने आधी रात सड़क पर उतरे पुलिस अधिकरी

रात्रि गश्त के साथ अलग-अलग क्षेत्र में लगाए चैकिंग प्वाइंट

By: Sumeet Pandey

Published: 04 Apr 2019, 06:02 AM IST

भोपाल. बदमाशों पर शिकंजा कसने के लिए एएसपी अखिल पटेल ने सिटी डीआईजी इरशाद वली के साथ मिलकर एक मेगा प्लान तैयार किया है। प्लान के मुताबिक बुधवार आधी रात से सीएसपी और टीआई अलग-अलग क्षेत्र में रात 12 बजे से सुबह 5 बजे तक सड़क पर चैकिंग प्वाइंट लगाए। इस दौरान वाहनों की चैकिंग पर विशेष ध्यान दिया। दरअसल, देर रात सक्रिय बदमाशों पर शिकंजा कसने और अपराध पर लगाम कसने के लिए यह प्लान तैयार किया गया है। प्लान के मुताबिक ऐसे बदमाश जो रात के समय सक्रिय रहते हैं या फिर दूसरे जिले से शहर में फरारी काटने आया बदमाश पुलिस की गिरफ्त में आ सकेगा। अगर यह प्लान सफल होता है, तो पुलिस मुख्यालय के आदेश पर यह प्रदेशभर में लागू हो जाएगा। राजधानी पुलिस के सभी अधिकारी तय रोस्टर के मुताबिक बुधवार रात 12 बजे से जोन अधिकारी के साथ सेक्टर ऑफिसर अपने-अपने इलाके में चैकिंग प्वाइंट पर नजर आएंगे। सभी थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी और संबंधित थाने में रात्रि गश्त पुलिसकर्मी इस अभियान में हिस्सा लिया।

 

हर रात 9 प्वाइंट पर डेढ़ घंटे की चैकिंग

तय प्लान के मुताबिक शहर को नौ सेक्टर में बांटा गया है। नए शहर में पांच और पुराने शहर में चार। बुधवार रात नए शहर के सेक्टर प्रभारी जहांगीराबाद संभाग सीएसपी अब्दुल अलीम खान और पुराने शहर में एसडीओपी बैरसिया रहेंगे। बुधवार रात आईएसबीटी बस स्टैंड पर रात एक बजे से चैकिंग शुरू होगी, जो रात ढ़ाई बजे तक चलेगी। साकेत नगर एम्स तिराहे के पास यह चैकिंग प्वाइंट रात डेढ़ लगाया जाएगा, जो तीन बजे तक रहेगा। प्रभात चौराहे पर रात दो बजे से तीन बजे तक। कमला नगर में शबरी नगर चौराहे पर रात साढ़े 12 से दो बजे तक। लाल परेड ग्राउंड तिराहे पर रात एक बजे से रात ढाई बजे तक। टीला जमालपुरा में साईं बाबा मंदिर के पास रात दो बजे से तीन बजे तक। फंदा टोल नाके पर 3.30 बजे से पांच बजे तक। कैंची छोला पर रात 12.30 से 1.30 बजे तक चैकिंग प्वाइंट लगाया जाएगा।

 

क्या दिए दिशा-निर्देश
- रात्रि गश्त के दौरान पांच स्थाई, पांच गिरफ्तारी, पांच निगरानी और पांच गुंडे बदमाशों की कुंडली की तस्दीक करना।

- प्रतिदिन रात को जहां पर चैकिंग प्वाइंट लगाया जाएगा, वहां चैकिंग का समय भी बदला रहेगा। इसकी जानकारी कंट्रोल रूम में बनाए गए वाट्सएप गु्रप पर देना होगी।
- चैकिंग के दौरान जिन कार या गाड़ी पर महिलाएं-बच्चे और बुजुर्ग हैं, उनको परेशान नहीं किया जाएगा। साधारण जांच के बाद उन्हें जाने दिया जाएगा।

- रात्रि गश्त पर निकले सीएसपी-एसडीओपी एक बार चैकिंग प्वाइंट पर पहुंचकर पड़ताल करेंगे।
- रात्रि गश्त अधिकारी जेल से रिहा होने वाले बदमाशों की कुंडली तैयार कर उनकी रिपोर्ट बनाएंगे। जेल से रिहा हुआ बदमाश कहां था, क्या कर रहा था।

- रेलवे पटरियों के आसपास की कॉलोनियों में पेट्रोलिंग की जाएगी। इस दौरान वहां क्या मिला, क्या देखा। इसकी जानकारी रजिस्टर में दर्ज की जाएगी।

राजधानी में इस तरह का प्लान पहली बार तैयार किया गया है। इस प्लान के मुताबिक रात में सक्रिय बदमाशों पर लगाम कसेगी। रात्रि गश्त के दौरान चैकिंग प्वाइंट हर रोज बदले जाएंगे, प्रतिदिन रात को हर प्वाइंट पर डेढ़ घंटे चैकिंग का समय तय किया है।
अखिल पटेल, एएसपी जोन-1

 

Sumeet Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned