scriptbhopal rail | 5 हजार रेल यात्रियों से फीडबैक- सुविधा सुधार के लिए अब मिशन रेल कर्मयोगी | Patrika News

5 हजार रेल यात्रियों से फीडबैक- सुविधा सुधार के लिए अब मिशन रेल कर्मयोगी

भोपाल. ट्रेन में यात्रा करने वाले 5 हजार से ज्यादा रेल यात्रियों से उनका अनुभव पूछने के बाद रेल मंत्रालय ने चलती ट्रेन, प्लेटफार्म और आरक्षण केंद्र पर यात्रियों की सुविधाओं में इजाफा करने एवं रेलवे कर्मचारियों को बेहतर व्यवहार करने का प्रशिक्षण देना शुरू किया है।

भोपाल

Published: April 30, 2022 07:07:34 pm

रेलवे मिशन रेल कर्म योगी के तहत अपने कर्मचारियों को कारपोरेट कंपनियों की तर्ज पर प्रोफेशनल कस्टमर हैंडलिंग के तरीके सिखा रहा है। इसके लिए लखनऊ स्थित भारतीय रेल परिवहन प्रबंधन संस्थान में कोर्स शुरू किया गया है। भोपाल रेल मंडल के 12 सौ से ज्यादा रेल कर्मियों को इस कोर्स में शामिल करवा कर ट्रेनिंग दिलवाई जा रही है। डीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय ने बताया कि फ्रंटलाइन विंडो एवं प्लेटफार्म पर काम करने वाले इन कर्मचारियों का सीधा कनेक्शन रेल में सफर करने वाले यात्रियों एवं रिजर्वेशन कराने आने वाले नागरिकों से होता है। प्लेटफार्म एवं रिजर्वेशन काउंटर पर आने वाली दिक्कतों को दूर करने के लिए कर्मचारियों को प्रैक्टिकल समीकरणों के माध्यम से ट्रेनिंग दी जा रही है। शनिवार को पत्रकार वार्ता में एडीआरएम गौरव सिंह अशोक कुमार सिंह सीनियर डीसीएम प्रियंका दीक्षित ने इस कोर्स के बारे में जानकारियां दी। डीआरएम ने बताया कि मुंबई की प्राइवेट कंपनी के माध्यम से यात्रियों पर यह सर्वे करवाया गया था। फीडबैक के आधार पर लखनऊ के संस्थान ने बेहतर यात्री सुविधाओं के लिए कोर्स तैयार किया है। सभी कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिलवाया जा रहा है
railway_station_news.jpg
ऐसे उत्पन्न होते हैं हालात

- रिजर्वेशन काउंटर पर नगद भुगतान में आने वाली दिक्कतों को दूर करने के लिए कर्मचारी डिजिटल माध्यम का इस्तेमाल करने के लिए नागरिकों को प्रोत्साहित करेंगे। जिन नागरिकों को डिजिटल माध्यम से भुगतान करने में परेशानी आती है उन्हें मौके पर ही एप्लीकेशन चलाना बताया जाएगा।
- प्लेटफार्म पर पहुंचकर यदि यात्रियों को ट्रेन आने एवं जाने के दौरान किसी प्रकार की सुविधा की आवश्यकता है तो इसकी सूचना स्टेशन मास्टर तक पहुंचाने में मौजूद कर्मचारी सक्रियता से पहुंचेंगे।

- चलती ट्रेन के अंदर यदि किसी प्रकार की इमरजेंसी निर्मित हो रही है तो परिचालन स्टाफ के कर्मचारी आरपीएफ जीआरपी एवं गार्ड की सहायता से अगले स्टेशन के कर्मचारियों से संपर्क कर सहायता मुहैया करवाएंगे।
- महिलाओं से जुड़ी समस्याओं को सुलझाने के लिए महिला कर्मचारियों का समूह बनाकर इन्हें अलग से प्रशिक्षण दिलाया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.