scriptbhopal rail mandal | सतपुड़ा की पहाडिय़ों पर बाघ का मूवमेंट, फिर भी दिन-रात चल रहा इटारसी-भोपाल तीसरी रेल लाइन का काम | Patrika News

सतपुड़ा की पहाडिय़ों पर बाघ का मूवमेंट, फिर भी दिन-रात चल रहा इटारसी-भोपाल तीसरी रेल लाइन का काम

नाइट शिफ्ट के कर्मचारी कई बार सुना चुके अपने अनुभव काम करने वाले कर्मियों की सुरक्षा में हाइमास्ट लगाकर तैनात रहता है कर्मचारियों का दस्ता जंगलों से निकलकर भोपाल आने वाली सबसे व्यस्त रेल लाइन है हबीबगंज-बरखेड़ा सतपुड़ा के पहाड़ों से होकर भोपाल आने वाली रेलवे की तीसरी लाइन का काम अब अंतिम चरण में पहुंच गया है। पिछले 4 साल से चल रहे इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए रेलवे ने दिसंबर 2022 तक काम खत्म करने का लक्ष्य रखा है।

भोपाल

Published: February 17, 2022 09:36:19 pm

इस हिस्से पर जंगली जानवरों के अलावा टाइगर का मूवमेंट भी अक्सर देखा जाता है। इसका असर यहां काम करने वाले कर्मचारियों पर भी पड़ा है। भोपाल रेल मंडल पिछले 4 साल से टाइगर के मूवमेंट और काम में तेजी लाने की चुनौती का सामना कर रहा है। कर्मचारियों ने रात के वक्त कई बार टाइगर दिखने के अनुभव सुनाए जिसके बाद अतिरिक्त सुरक्षा के तहत प्रोजेक्ट के चारों तरफ अत्यधिक रौशनी पैदा करने वाले हाई मास्ट लैंप लगवाए गए एवं काम करने वाले कर्मचारियों की सुरक्षा एवं जंगली जानवरों की निगरानी के लिए अलग से कर्मचारियों का दस्ता रात के वक्त तैनात किया गया। संक्रमण काल के दौरान सब कुछ बंद हो जाने के चलते यह प्रोजेक्ट भी रोकना पड़ा। रेलवे अब जंगली जानवरों की चुनौती के बीच दिन रात काम कर दिसंबर तक प्रोजेक्ट पूरा करने की तैयारी में है
RAILWAY--जोधपुर मण्डल के तीन रेलखंडों में कार्य प्रगति पर
RAILWAY--जोधपुर मण्डल के तीन रेलखंडों में कार्य प्रगति पर
बरखेड़ा तक लाइन बनाने का काम पूरा
हबीबगंज-बरखेड़ा तीसरी लाइन भोपाल-इटारसी रेलखंड का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इस परियोजना को तीसरी लाइन के साथ विद्युतीकरणके कार्य को 491 रुपए करोड़ की लागत से पूर्ण किया गया है। इस रेलखण्ड पर 6 रेलवे स्टेशन है, जिनमें सभी प्रमुख क्रॉसिंग स्टेशन है। ये 6 स्टेशन भोपाल जंक्शन, हबीबगंज, मंडीदीप, मिसरोद, औबेदुल्लागंज, बरखेड़ा हैं। सभी स्टेशनों को प्लेटफॉर्म, फुटओवर ब्रिज और पुनर्निर्मित स्टेशन बिल्डिंग यात्री सुविधाओं के साथ विकसित कर नया रूप दिया गया है। इस खंड में महत्वपूर्ण 8 बड़े पुल, 45 छोटे पुल और 8 रोड ओवर ब्रिज है। इसके अलावा इस तीसरी लाइन रेल खण्ड पर 48 कर्व भी शामिल हैं।
जंगल में टाइगर के अलावा कई अन्य जीव होते हैं जिनके मूवमेंट के वक्त सावधानी बरती जाती है। थर्ड लाइन में भी इन जानवरों की सुरक्षा के लिए अंडरपास बनाए जा रहे हैं।
विजय प्रकाश, सीनियर डीसीएम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीअब तक 11 देशों में मंकीपॉक्स : 21 मई को WHO की इमरजेंसी मीटिंग, भारत में अलर्ट, अफ्रीकी वैज्ञानिक हैरानफिर महंगी हुई CNG: राजस्थान में दाम सबसे अधिक, Diesel - CNG के दाम में अब मात्र 12 रुपए का अंतर'मैं क्रिकेट खेलना छोड़ दूंगा'- Virat Kohli ने रिटायरमेंट का संकेत देकर चौंकायाअकाली दल के दिग्गज नेता व पंजाब के पूर्व मंत्री तोता सिंह का निधन, सरपंच से पार्टी प्रेसिडेंट तक ऐसा था सफरभीषण सडक़ हादसा: पूर्व सांसद के भतीजे समेत 4 की मौत, गैसकटर से काटकर निकाले गए शव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.