कल से एक माह नहीं होंगे बड़े मांगलिक कार्य

14 मार्च से खरमास शुरू, अब अक्षय तृतीया के अबूझ मुहूर्त से होगी मांगलिक कार्यों की शुरुआत...

By: शिव शर्मा

Published: 13 Mar 2018, 09:16 AM IST

भोपाल. शहर में इन दिनों शादी-विवाह की धूम मची है, लेकिन १४ मार्च से खरमास शुरू होने से एक माह तक बड़े मांगलिक कार्य बंद रहेंगे। इससे १४ अप्रैल तक विवाह, मुंडन, गृहप्रवेश सहित सभी मांगलिक कार्य नहीं होंगे। १८ अप्रैल को अक्षय तृतीया के अक्षय मुहूर्त से मांगलिक कार्य शुरू हो सकेंगे। सूर्य का प्रवेश १४ मार्च की मध्यरात्रि में मीन राशि में होगा।
मीन की संक्रांति को खरमास कहा जाता है, इसलिए इस दौरान मांगलिक कार्य वर्जित रहते हैं। सोमवार को विवाह के लिए इस सीजन का आखिरी शुभ मुहूर्त था, हालांकि कुछ पंचांगों में १३ तारीख को भी मुहूर्त दिए गए हैं। पं. विष्णु राजौरिया का कहना है कि मीन की संक्रांति में शुभ कार्य नहीं किए जाते। यह खरमास की श्रेणी में आता है। १४ मार्च से सूर्य का भ्रमण मीन राशि में होगा और एक माह तक सूर्य इसी राशि में रहेगा, इसलिए बड़े मांगलिक कार्यों पर विराम लगा रहेगा।

मई-जून में भी विराम, जुलाई में ८ दिन शादियां
मार्च-अप्रैल के बाद मई और जून माह में भी तकरीबन एक माह तक विवाह सहित सभी मांगलिक कार्य बंद रहेंगे। दरअसल इस साल अधिकमास है, इसलिए १६ मई से १३ जून तक फिर मांगलिक कार्य रुक जाएंगे। १४ जून से विवाह का सिलसिला शुरू होगा, और जून में कुल १० दिन मुहूर्त रहेंगे, इसी प्रकार जुलाई माह में देवशयनी एकादशी तक ८ दिन शुभ मुहूर्त विद्यमान रहेंगे। जुलाई में १६ तारीख तक शादियां होंगी। मार्च-अप्रैल के बाद मई और जून माह में भी तकरीबन एक माह तक विवाह सहित सभी मांगलिक कार्य बंद रहेंगे।
अप्रैल-मई में १९ दिन विवाह
खरमास समाप्त होने के बाद १८ अप्रैल से विवाह मुहूर्तों का सिलसिला शुरू होगा। अप्रैल और मई माह में इस साल १९ मुहूर्त रहेंगे। अप्रैल माह में १८ अप्रैल के बाद १० दिन और मई में ९ दिन विवाह होंगे।

शिव शर्मा Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned