पहला डोज न लगाने वालों को बड़े डिपार्टमेंटल स्टोर नहीं देंगे किराना, तहसील में भी नहीं मिलेगी एंट्री

- फस्र्ट डोज का टारगेट पूरा करने के लिए उल्टी गिनती शुरू, 15 सितंबर तक एक लाख साठ हजार को और लगना है पहला डोज, लोगों की तलाश शुरू

 

भोपाल. राजधानी में पहला डोज का लक्ष्य सौ फीसदी पूरा करने को लेकर लापरवाही बरत रहे लोगों पर सख्ती बरतना शुरू किया है। खाद्य सुरक्षा विभाग की तरफ से शहर के बड़े डिपार्टमेंटल स्टोर में किराना या अन्य सामान खरीदने पहुंच रहे लोगों से फस्र्ट और सेकंड डोज के बारे में पूछा जा रहा है। अगर लगा है तो प्रमाण पत्र दिखाने के बाद ही उसे अंदर एंट्री मिल रही है। अगर नहीं लगा तो नाम पता नोट कर स्वास्थ विभाग की टीम को दिया जाएगा। इसमें खाद्य सुरक्षा विभाग का पूरा अमला लगाया गया है। इसी प्रकार तहसील, एसडीएम दफ्तरों में काम कराने आ रहे लोगों को भी मंगलवार सुबह से एंट्री करते समय पूछा जा रहा है कि टीका लगा या नहीं। अगर किसी को फस्र्ट डोज लगा है और उसका प्रमाण पत्र उसके पास है तो उसकी एंट्री हो जाएगी। लेकिन किसी को अब तक पहला डोज नहीं लगा तो उसे पहला डोज लगवाया जाएगा। इसके लिए लोकसेवा गारंटी केंद्रों (कलेक्टोरेट, कोलार, टीटी नगर ) में वैक्सीनेशन टीम बैठाई गई है। इसी प्रकार बाजारों में बड़े डिपार्टमेंटल स्टोर जहां हैं, वहां भी एक दो सेंटर बुधवार से शुरू किए जाएंगे। जिला प्रशासन के अफसरों ने फस्र्ट डोज को लेकर अचानक जांच का ये तरीका निकाला है। बुधवार से ये शहर के मॉल भी लागू हो सकता है।

राजधानी में मंगलवार शाम छह बजे तक 17 लाख 72 हजार 279 लोगों को वैक्सीन की फस्र्ट डोज लग चुकी है। वहीं सेकंड डोज में कुछ तेजी आई है। 7 लाख 13 हजार 612 लोगों ने सेकंड डोज भी पूरा कर लिया है। अब 15 सितंबर तक फस्र्ट डोज का टारगेट पूरा करने की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। इसके लिए प्रशासन, नगर निगम ने पूरा अमला इसमें उतार दिया है। अब तक करीब 18 हजार लोग सर्वे के दौरान ऐसे मिल चुके हैं जिनको फस्र्ट डोज नहीं लगा है। ऐसे लोगों की सूची तैयार कर बुधवार से वैक्सीन लगवाई जाएगी।

प्रवेंद्र तोमर Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned