साध्वी को उर्दू में लेटर, 'तुझे जहन्नुम में पहुंचाना ही असली जेहाद है, नेक काम से जन्नत मिलेगी'

पुलिस ने पाउडर को जांच के लिए सागर स्थित एफएसएल के लैब में भेज दिया है

भोपाल/ बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा को एक धमकी भरा खत मिला है। उस खत के साथ एक पाउडर भी था। हालांकि यह खत उनके पास कई महीने पहले आया था। लेकिन इसको उन्होंने देखा मंगलवार को। उसके बाद पुलिस अधिकारियों को सूचना दी। पुलिस अधिकारी ने पाउडर को जांच के लिए सागर स्थित एफएसएल के लैब में भेज दिया है।

साध्वी प्रज्ञा को जो धमकी भरा खत मिला वह उर्दू में लिखा हुआ था। इसलिए जांच करने गए अधिकारी उस वक्त बता नहीं पाए थे कि पत्र में लिखा क्या हुआ है। अब पुलिस ने इस लेटर को ट्रांसलेट किया है, जिसमें चौंकाने वाली बात सामने आई है। धमकी भरे इस खाते में पाकिस्तानी आतंकी संगठन अनसारुल मुजाहिदीन का जिक्र मिला है। जो प्रज्ञा ठाकुर को जहन्नुम पहुंचाने की बात कर रहा है।

अलग-अलग नामों से आतंक फैलाता है यह संगठन
हालांकि पुलिस इस लेटर की अभी जांच कर रही है। लेकिन ट्रांसलेट होने के बाद उसमें अनसारुल मुसलामीन नाम का जिक्र है। बाताया जा रहा है कि यह पाकिस्तान का सक्रिय आतंकी संगठन है। जो वहां अलग-अलग नामों से आतंक फैलाने का काम करता है। 2017 में पाराचिनार शहर में हुए धमाके में भी इस संगठन का नाम आया था जिसमें बीस लोगों की मौत हुई थी।

लेटर में लिखी बात
दरअसल, बंद लिफाफे में भेजा गया यह लेटर उर्दू में लिखा है। उसमें अनसारुल आतंकी संगठन ने लिखा है कि कहां से हैं, क्या करते हैं, ये सब नहीं सोचना। कुछ भी हमारे बारे में पता नहीं चलेगा। हमलोग हमेशा जान हथेली पर लेकर चलते हैं, तूने इंसानियत के खिलाफ बहुत जुल्म किए है। मालेगांव में मुसलानों की जान लेकर और सैकड़ों को जख्मी कर भी तेरा दिल नहीं भरा। दस साल जेल में रही लेकिन अकल नहीं आई। जजों के सामने कैंसर की बीमारी बता तुने जमानत ले ली।

अब जमानत पर बाहर आकर तुम ऐश कर रही है। लोगों के बीच नफरत पैदा कर रही और खुद को देशभक्त कहती है, असल में तू देशद्रोही है। जहन्नुम में पहुंचाना ही असली जेहाद है। तेरे जैसे लोगों को सबक सिखाने का फैसला किया है। कानून तूझे सजा दे या न दे, मगर अनसारुल मुसलामीन का जहन्नुम पहुंचाना असली काम है। नेक काम से जन्नत मिलेगी।

सत्यता की जांच कर रही पुलिस
वहीं, लेटर ट्रांसलेट होने के बाद पुलिस इस मामले की जांच कर रही है कि क्या उसी आतंकी संगठन ने यह धमकी दी है या फिर किसी ने शरारत की है। साथ ही सागर लैब से उस पाउडर के एफएसएळ रिपोर्ट की भी जांच कर रही है कि आखिर वह क्या है। उस खत के ऊपर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह, अजीत डोभाल, योगी आदित्यनाथ और जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल की भी फोटो है। साध्वी की तस्वीर को उसमें क्रॉस किया गया है।


कब्र में भी तुम्हें महफूज नहीं रहने देंगे
साध्वी प्रज्ञा ने धमकी भरे खत पर कहा है कि पीएम और अमित शाह तक पहुंचने से पहले उन्हें हमारी याद आ गई। साथ ही उन्होंने कहा कि उनमें सामने आने की हिम्मत नहीं है, सामने आने पर पता चल जाएगा कि किससे टकराए हो। हम कभी मरते नहीं। उन्होंने धमकी देने वाले आतंकियों से कहा कि हम तो मर कर भी आएंगे तुम्हारी मैयत में, कब्र में भी तुम्हें महफूज नहीं रहने देंगे। जीना है तो औलाद बनकर वर्ना हम मरने भी न देंगे।

Muneshwar Kumar
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned