सीरियल किलर गिरोह का सनसनीखेज खुलासा: याद नहीं कुल कत्लों की संख्या, अब भाजपा नेता पर भी लगाए ये आरोप

सीरियल किलर गिरोह का सनसनीखेज खुलासा: याद नहीं कुल कत्लों की संख्या, अब भाजपा नेता पर भी लगाए ये आरोप

Deepesh Tiwari | Publish: Sep, 09 2018 03:20:38 PM (IST) | Updated: Sep, 09 2018 03:58:47 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

अब तक 30 कत्ल कबूले, खांबरा के खुलासे से 22 अनसुलझे मामले भी सुलझे। चंदेरी, रायपुर और विदिशा में तक में की हत्या!

भोपाल@नीलेंद्र पटेल की रिपोर्ट...

ट्रक ड्राइवर और क्लीनर्स के सीरियल किलर आदेश खांबरा इस समय पुलिस की हिरासत में है। इस सीरियल किलर यानि हाईवे गैंगस्टर आदेश ने पुलिस के सामने जो खुलासे किए है, उनके बारे में सुनकर पुलिस तक भौचक्की रह गई है।

इसके खतरनाक इरादों का इसी बात से पता चलता है कि सीरियल किलर आदेश खांबरा को तक याद नहीं है कि उसने अब तक कितने कत्ल किए हैं।

वहीं इसी बीच रविवार को पुलिस के सामने खांबरा का एक नया मामला समाने आया, जिसमें उसने कहा है कि मंडीदीप के भाजपा नेता पप्पू सोलंकी से सुपारी लेकर उसने दो लोगों की हत्या की। इस बात के सामने आते ही पुलिस अधिकारी सकते में आ गए। जिसके बाद पुलिस सोलंकी को मिसरोद थाने से औबेदुल्लागंज लेकर गई।

इससे पहले आरोपी की राजधानी से लगी नगर पालिका अध्यक्ष से दोस्ती की बात भी सामने आई है। खांबरा का अध्यक्ष के साथ सोशल मीडिया में फोटो भी मिला है। इधर, आरोपी आदेश खांबरा व तुकाराम को शनिवार को न्यायालय में पेशकर पुलिस ने चार दिन के लिए रिमांड पर लिया है।

ऐसे समझें इसका शातिर दिमाग...
राह चलते ट्रक ड्राइवर और क्लीनर्स को मार डालने वाला सीरियल किलर आदेश खामरा बेहद शातिर है। हर कत्ल या वारदात से पहले वह नया मोबाइल फोन और नए सिमकार्ड का इस्तेमाल करता था।

अब तक की जांच में पुलिस को उसके अलग-अलग मोबाइल फोन के 43 आईएमईआई नंबर मिले हैं, जिन पर 50 से ज्यादा सिमकार्ड का इस्तेमाल किया गया है। उसे ये तक पता है कि पुलिस किसी अपराधी को पकड़ने के लिए क्या-क्या हथकंडे अपनाती है। इसलिए उसने एसपी के सवाल पर यह तक कह दिया कि साहब, आप देख लो एक भी घटनास्थल पर मेरी लोकेशन नहीं मिलेगी।

हर खुलासा पुलिस के लिए हैरान करने वाला...
पूछताछ में खांबरा का हर खुलासा पुलिस को हैरान करने वाला व परेशानी बढ़ाने वाला रहा। वहीं बिलखिरिया पुलिस अब तक उससे हत्या की 30 संगीन वारदातों का खुलासा करा चुकी है। वहीं इनमें 22 ऐसे मामले भी हैं, जिन्हें पुलिस कभी सुलझा ही नहीं पाई थी।

खांबरा के अनुसार हर कत्ल पर उसके हिस्से में महज 25 से 30 हजार रुपए ही आते थे। इन 30 में से एक हत्या तो उसने 25 हजार रुपए की सुपारी लेकर भी की है। शनिवार देर रात कड़ी पूछताछ में उसने 16 हत्याएं और कबूल कीं, जिनमें आठ के आरोप में वह जेल भी जा चुका है।

होशंगाबाद में हत्या...
एसपी साउथ ने बताया कि पूछताछ में आदेश ने होशंगाबाद के शाहपुर गांव निवासी जगदीश कीर की हत्या करना भी कबूल किया है। आदेश ने पुलिस को बताया है कि जगदीश के पिता गेंदालाल कीर (85) और मां कौशल्या (70) के शव उन्हीं के खेत में लगे आम के पेड़ पर फंदे से लटके मिले थे।

21 अगस्त 2013 को इस मामले में शिवपुर थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया। जांच के दौरान शिवपुर पुलिस आरोपियों को नहीं तलाश पाई और मामले में खात्मा लगा दिया।

जगदीश इस मामले में एक कॉन्ट्रेक्टर समेत कुछ लोगों पर हत्या का आरोप लगा रहा था। पुलिस अफसरों से इस संबंध में 10 बार लिखित शिकायत भी की थी। आदेश का दावा है कि उक्त कॉन्ट्रेक्टर ने उसे जगदीश की हत्या की सुपारी दी थी।

हाईवे गैंगस्टर आदेश खांबरा गिरोह ने भोपाल व आसपास में 14 से अधिक ट्रक ड्राइवर-क्लीनर की हत्या के साथ छत्तसीगढ़ में भी 5 हत्याएं कबूली हैं। रायपुर में तीन हत्या कर 50 लाख के माल से भरा ट्रक गिरोह ने गायब किया था। मामले की जांच के लिए गठित एसआइटी ने रायपुर पुलिस को सूचना दे दी है।

रायपुर के मामले में गाजियबाद से पचास लाख का माल (रेग्जिन) लेकर रायपुर के लिए ट्रक चला था। खांबरा व तुकाराम ने बीच में ट्रक ड्रायवर, क्लीनर व हेल्पर को मौत के घाट उतार दिया था। निर्वस्त्र उनके शव को फेंककर ट्रक लेकर फरार हो गया।

एसपी राहुल लोढ़ा ने बताया कि जल्द ही छग पुलिस भोपाल आएगी। रायपुर पुलिस के पास घटना के दौरान के खांबरा के सीसीटीवी फुटेज हैं। खांबरा के पास पुलिस को मिली डायरी में 50 से अधिक नंबर लिखे हैं। पुलिस को आशंका कि यह नंबर ट्रक ड्रायवरों व ट्रक ठिकाने लगाने वाले लोगों के हो सकते हैं। पुलिस नंबरों के आधार पर उनके ठिकानों पर दबिश देने की तैयारी कर रही है।

खांबरा के साथी...
आदेश का साथी 30 वर्षीय जयकरण प्रजापति 2014-15 में पहली बार छोला मंदिर थाने में ट्रक चोरी में पकड़ाया था। वह व्यापारी रोहित पटेल का ट्रक चलाता था। उसने सीमेंट की बोरियों से भरा ट्रक गायब कर माल बेच दिया था। उस दौरान वह नारायण नगर में पत्नी और दो बेटियों व बेटे के साथ रहता था।

इसके बाद पुलिस ने 2015 में उसे एक बार मारपीट और दूसरी बार फिर सीमेंट की बोरियों से भरे ट्रक चोरी में पकड़ा था। पुलिस अब भी उसे मामूली चोर मानती रही। इसके बाद उसने मकान छोड़ दिया और वह गौतम नगर थाना इलाके में छोला नाका के पास रहने लगा। पुलिस ने उसके पते का सत्यापन तक नहीं कराया।

2015-16 के बीच वह गणेश नगर में रहा। दिसंबर 2017 में वह ट्रक चोरी के मामले में सूखी सेवनिया पुलिस के हत्थे चढ़ा। अब भी पुलिस ने ये पड़ताल नहीं की कि जयकरण रहता कहां है और उसकी कमाई का असल जरिया क्या है? अब तक वह कई हत्याओं में भी शामिल हो चुका था।
पूछताछ में जयकरण प्रजापति, वाहिद व शाबिर काला के नाम सामने आए। वाहिद फरार है।


गिरोह ने 14 मर्डर के बाद छत्तसीगढ़ के 5 मर्डर कबूले हैं। छत्तीसगढ़ पुलिस जल्द ही भोपाल आएगी। अलग-अलग टीमें फरार आरोपियों की तलाश में जुटी हैं।
- राहुल कुमार लोढा, एसपी साउथ

आउटर में अज्ञात शव की शिनाख्ती में जुटी
राजधानी के आउटर के थानों में ढाबों के आसपास कुछ महीने पहले अज्ञात शव भी मिले हैं। ऐसा ही एक मामला ईंटखेड़ी थाना इलाके का भी है। इसमें ट्रक पर चलने वाला एक युवक बेहोश होकर गिर गया था। उसके मुंह से झाग निकल रहा था। पुलिस इसकी कडिय़ां जोड़ रही है।

ग्वालियर के ‘साहबजी’ की हो रही पड़ताल
खांबरा ने ग्वालियर के किसी साहबजी का नाम उगला है। अब साहबजी की पुलिस तलाश कर रही है। ड्रायवरों की हत्या के बाद साहबजी के जरिए ही दूसरे राज्यों में लूटे गए ट्रक खपाए जाते हैं। खांबरा पत्नी के अलावा दो गर्लफ्रैंड रखा है। दोनों महिलाएं ग्वालियर-भिंड की रहने वाली हैं।

इस चूक से पकड़ा गया गिरोह...
जांच में सामने आया कि जयकरण जिन ट्रकों को लूटता था उनके चालकों की हत्या के बाद वह भोपाल में ही माल खपाता था। जबकि खांबरा ग्वालियर नेटवर्क के जरिए माल खपाता था।

ऐसे में खांबरा पुलिस की निगाह में नहीं आता था। जबकि जयकरण ने भोपाल में ही हत्या करने के बाद माल भी यहीं बेच दिया, जिससे वह पकड़ा गया। उसने खांबरा का भी नाम उगल दिया।

ड्राइवरों से ऐसे करता था दोस्ती...
एसपी राहुल लोढा ने बताया कि वर्ष 2010 में आदेश ने झांसी के एक गैंग के लिए काम करना शुरू किया। उन दिनों आदेश के जिम्मे वही काम था, जो इन दिनों उसके लिए जयकरण करता था। यानी ड्राइवर को झांसे में लेकर दोस्त बनाना। जनवरी 2018 में मंडीदीप की शराब दुकान पर उसकी मुलाकात जयकरण से हुई। इसके बाद दोनों ने मिलकर कई वारदातों को अंजाम दे दिया।

टेलर से सीरियल किलर बनने की कहानी :
मंडीदीप निवासी 48 वर्षीय आदेश खांबरा टेलर है। कभी उससे नए ट्रेंड के कपड़े सिलवाने के लिए लोग दो-दो, तीन-तीन दिन इंतजार तक कर लेते थे।

मुख्य बाजार राधा-कृष्ण चौक में उसने दुकान खोली थी। मंडीदीप में वह एक बेटे और तीन बेटियों के साथ रहता था। आदेश ने अपने घर के बाहर एक बड़ा कुत्ता बांधकर रखा है। इसके कारण उसके घर पर कोई भी नहीं जाता। यहां तक कि पुलिस भी उसके घर जाने से कतराती है।

ऐसे देता था वारदातों को अंजाम...

- पुलिस इन्वेस्टिगेशन के हर पहलू की जानकारी रखता था।
- हर हत्या के बाद नए मोबाइल फोन का इस्तेमाल करता था। इसी के चलते एक साल में 50 सिम बदलीं।
- हत्या से पहले ड्राइवर को बेहोश करते थे। फिर हत्या कर सुनसान जगह फेंक देते थे।

ऐसे समझें कुछ हत्याओं का आंकड़ा...
- चंदेरी में 5 और रायपुर में 5 लोगों की हत्या कर शव ठिकाने लगाए।
- गुना में 3 को मारकर फेंका।
- शिर्डी में 1 को मारकर फेंका।
- वर्धा में 2 को मारकर फेंका।
- छोला गंल्ला मंडी में 2 हत्या।
- गोविंदपुरा मेनगेट से 1 हत्या।
- अमरावती में 2 को मारकर फेंका।
- पथरिया में 2 को मारकर फेंका।
- बिलखिरिया में 1 हत्या।
- बरखेड़ा में 1 हत्या।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned