दिनभर की सारी बड़ी खबरें, जबलपुर में घर में घुस लड़की की हत्या से लेकर अखबार की आड़ में काले करोबार तक


यूरिया की किल्लत को लेकर भी प्रदेश के कई हिस्सों में जारी है बवाल

By: Muneshwar Kumar

Published: 02 Dec 2019, 08:46 PM IST

भोपाल/ बेटियों की सुरक्षा को लेकर किए जा रहे तमाम दावे पर प्रश्नचिह्न है। इन सबके बीच मध्यप्रदेश के जबलपुर में फिर एक लड़की हत्या कर दी गई है। तो इंदौर में भी अखबार की आड़ में लड़कियों को ढाल बनाकर सफेदपोशों को लूटा जा रहा था। ऐसी ही मध्यप्रदेश की दिनभर की बड़ी खबरें हम आपको बताने जा रहे हैं...

1. बेटी हम शर्मिंदा हैं..
जबलपुर में एक सनकी आशिक ने एक नाबालिग की घर में घुसकर चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। दिलदहला देने वाली ये वारदात गोहलपुर थाना के कूदवारी की है। आरोपी का नाम शिवकुमार चौधरी है जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी शिवकुमार चौधरी के खिलाफ नाबालिग ने 3 महीने पहले छेड़छाड़ की शिकायत की थी जिसके बाद उसे पकड़कर जेल भेजा गया था। 10 दिन पहले आरोपी जेल से छूटकर आया था और आज उसने नाबालिग के घर में घुसकर चाकू से गोदकर उसकी हत्या कर दी। वहीं आरोपी ने शुरुआती पूछताछ में पुलिस को बताया है कि वह जमानत पर छूटने के बाद जब घर लौटा तो नाबालिग और उसके परिजन आए दिन डायल हंड्रेड और पुलिस से शिकायत कर उसे परेशान करते थे इसलिए उसने युवती की हत्या कर दी।

2. 'अखबार की आड़..काला कारोबार' !
इंदौर के होटल माय होम में छापे के बाद से हनीट्रैप मामला फिर सुर्खियों में है। इस छापे की जो चाहे वजह हो लेकिन 67 लड़कियों को बंधक बनाकर रखने और डांस बार चलाने का गुनाह भी छोटा नहीं है। फिलहाल सवाल यही है कि ये छापा वाकई खुलासे के लिए है या फिर कुछ छिपाने के लिए। लेकिन अखबार की आड़ में जीतू सोनी बड़ा खेल खेल रहा था।

3. प्रतिमा पर संग्राम
भोपाल में शहीद चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा हटाकर पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की प्रतिमा लगाने पर शुरू हुआ विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। अब इसके विरोध में खुद चंद्रशेखर आजाद के प्रपौत्र अमित तिवारी आजाद मैदान में उतर आए हैं जिन्होंने शहीद आजाद की प्रतिमा के सामने उपवास कर अपना विरोध जताया। अमित का कहना है कि जब तक अर्जुन सिंह की प्रतिमा यहां से नहीं हटती है वे धरने और उपवास पर बैठे रहेंगे। इस दौरान उनके साथ शहर के कई अन्य संगठन भी आए हैं।

4. हाईकोर्ट पहुंचा मामला
एक तरफ जहां चंद्रशेखर आजाद के प्रपौत्र उपवास पर बैठे हुए थे, वहीं दूसरी तरफ मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में भी इस मामले पर सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने मध्यप्रदेश शासन के चीफ जस्टिस से इस मामले 24 घंटे के अंदर जवाब मांगा है। कोर्ट में याचिकाकर्ता ग्रीष्म जैन के अधिवक्ता ने कहा कि 3 साल पहले भोपाल जबलपुर और कुछ शहरों में ट्रैफिक व्यवधान और दृश्य बाध्यता के मद्देनजर कई मूर्तियों को चौराहों से हटाया गया था। लेकिन अब उसी जगह पर दोबारा कमलनाथ सरकार मूर्ति लगा रही है ये सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन है। जिस पर कोर्ट ने चीफ सेक्रेटरी मध्यप्रदेश शासन से 24 घंटे के अंदर अपना जवाब पेश करने के लिए कहा है।

5. 'धमकीबाज' विधायक की गांधीगिरी
पहले धमकी और फिर गांधीगिरी। जी हां, मध्यप्रदेश के ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी कुछ इसी राह पर चलते नजर आ रहे हैं। संसद में सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोड़से को देशभक्त कहने पर भड़कने वाले गोवर्धन दांगी के बोल अब बदल गए हैं। गोवर्धन ने पहले सांसद साध्वी प्रज्ञा को जिंदा जलाने की धमकी दी थी। उन्होंने कहा था कि सांसद साध्वी अगर ब्यावरा आईं तो उन्हें जिंदा जला देंगे। हालांकि कुछ देर बाद उन्होंने अपने इस बयान के लिए माफी भी मांग ली थी।

इस बयान के बाद साध्वी प्रज्ञा की तरफ से भी 30 नवंबर को एक ट्वीट आय़ा था। जिसमें उन्होंने लिखा कि कांग्रेसियों को जिंदा जलाने का पुराना अनुभव है। 1984 में सिखों को और नैना साहनी को तंदूर में जलाने तक का। राहुल गांधी ने आतंकी कहा और उनके विधायक गोवर्धन दांगी मुझे जलाएंगे। ठीक है तो मैं आ रही हूं ब्यावरा उनके निवास मुल्तानपुरा पर दिनांक 8 दिसंबर 2019 समय सायं 4:00 बजे जला लीजिए।

साध्वी प्रज्ञा के इस ट्वीट के बाद अब कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी गांधीगिरी की राह पर चलते हुए दिख रहे हैं और उन्होंने एक खत साध्वी प्रज्ञा को लिखा है जिसमें उन्होंने पूर्व में दिए गए अपने बयान को लेकर खेद जताया है साथ ही ये भी लिखा है कि सांसद साध्वी प्रज्ञा जब ब्यावरा आएंगी तो वो और कांग्रेस कार्यकर्ता ईश्वर अल्लाह तेरो नाम सबको सन्मति दे भगवान भजन गाकर उनका स्वागत करेंगे और साध्वी को गांधी साहित्य भी भेंट करेंगे।

6. ताई ने कही 'दिल की बात'
पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने एक कार्यक्रम में अपने मन की बात की और दिल का राज खोला। दरअसल इंदौर के एम वाय अस्पताल में नयी कैंटीन शुरू हुई। इस भोजन शाला का लोकार्पण राज्यपाल लालजी टंडन ने किया। इस कार्यक्रम में पार्टी की वेटरन लीडर और पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन भी मौजूद थीं। उन्होंने यहां अपने बेहद सरल और सहज अंदाज में मन की बात कही। पार्टी लाइन से ऊपर उठते हुए ताई ने कहा, मैं जब सांसद और स्पीकर थी, उस दौरान इंदौर के विकास की फिक्र रहती थी। लेकिन पार्टी के अनुशासन में होने के कारण मैं कई बार अपनी पार्टी की प्रदेश और केंद्र सरकार के ख़िलाफ आवाज़ नहीं उठा सकती थी। ऐसे में मैं कांग्रेस के युवा नेता जीतू पटवारी और तुलसी सिलावट से धीरे से कह देती थी कि भैया इंदौर के लिए कुछ करो, कुछ कहो, मुद्दा उठाओ। आगे मैं आपकी बात शिवराज सिंह चौहान और केंद्र तक पहुंचा दूंगी। यहां ताई ने कमलनाथ सरकार में मंत्री और स्थानीय विधायक जीतू पटवारी की खुलकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि जीतू पटवारी में मेरा शिष्य बनने के सभी गुण हैं।

7. यूरिया संकट
खाद की किल्लत से जूझ रहे मध्यप्रदेश के किसानों का गुस्सा अब फूटने लगा है। हरदा में किसान यूरिया खाद नहीं मिलने से इस कदर परेशान हो गए कि उन्होंने चक्काजाम कर दिया। सैकड़ों की संख्या मे किसान सड़कों पर उतर आए और रोड जाम कर दिया। इस दौरान किसान रेलवे रैक प्वाइंट पर भी पहुंच गए। जहां उन्होंने वाहन चालकों से बदसलूकी भी की। बाद में पुलिस वहां पहुंची और किसी तरह से किसानों को शांत कराया।

हरदा में जहां खाद की किल्लत से परेशान किसानों ने हंगामा किया वहीं दूसरी तरफ भोपाल में कृषि मंत्री सचिन यादव ने ये बयान दिया है कि किसान परेशान न हों उन्हें आवश्यकतानुसार यूरिया उपलब्ध कराए जाने के लिए सरकार कटिबद्ध है। कृषि मंत्री सचिन यादव ने बताया कि प्रदेश में आने वाले 8 दिनों में 49 रैक में लगभग 1 लाख 60 हज़ार मीट्रिक टन यूरिया विभिन्न जिलों में भेजा जाएगा। हमने केंद्र सरकार से 18 लाख मीट्रिक टन यूरिया की मांग की थी मगर केंद्र ने 15 लाख 40 हज़ार मीट्रिक टन यूरिया प्रदाय करने की मंजूरी दी है।


8.युवक की पिटाई
बात सतना की करते हैं जहां मैहर में ऐसी तस्वीरें सामने आईं जिन्हें देखकर आप ये सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि आखिरकार हमारे समाज में ये क्या हो रहा है। तस्वीरें देखिए एक युवक को दो युवक बेरहमी से पीट रहे हैं। वो दर्द से कराह रहा है लेकिन मानो पीटने वालों पर भूत सवार है और वो उसे अपने पैरों के नीचे मसले जा रहे हैं। ऐसा नहीं है कि जिस वक्त ये घटना घटी आसपास कोई नहीं था। लेकिन सभी मूकदर्शक बने रहे। हैरानी की बात तो ये है कि जिस जगह पर ये घटना हुई उससे चंद कदमों की दूरी पर पुलिस थाना भी है। दरअसल जो युवक पीट रहे हैं उन्हें शक है कि इस युवक ने उनका मोबाइल चुराया है।

Show More
Muneshwar Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned