scriptBig news - the government will bear the expenses of the children | बड़ी खबर-बच्चों के भोजन, पढ़ाई और शिक्षा का खर्च उठाएगी सरकार | Patrika News

बड़ी खबर-बच्चों के भोजन, पढ़ाई और शिक्षा का खर्च उठाएगी सरकार

मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने बच्चों को लेकर बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने उन सब बच्चों का खर्च उठाने की बात कही है.

भोपाल

Updated: May 20, 2022 09:58:19 am

भोपाल. मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने बच्चों को लेकर बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने उन सब बच्चों का खर्च उठाने की बात कही है, जो बच्चे भीख मांगते हैं, इस संबंध में उन्होंने कलेक्टरों को भी निर्देश दिए हैं कि अगर कोई बच्चा अब भीख मांगता नजर आएगा, तो इसकी जिम्मेदारी संबंधित कलेक्टर की होगी। सरकार बच्चे की पढ़ाई-लिखाई, भोजन और कपड़े की व्यवस्था करेगी। इसलिए अब प्रदेश में कोई भी बच्चा भीख मांगता नजर नहीं आना चाहिए।

बड़ी खबर-बच्चों के भोजन, पढ़ाई और शिक्षा का खर्च उठाएगी सरकार
बड़ी खबर-बच्चों के भोजन, पढ़ाई और शिक्षा का खर्च उठाएगी सरकार


कपड़े, पढ़ाई, भोजन और रहने की व्यवस्था
जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भीख मांगने वाले बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोडऩे के लिए बड़ा फैसला लिया है, जिसके तहत उन्होंने कहा कि अब भीख मांगने वाले बच्चों का खर्च सरकार उठाएगी, ऐसे बच्चों की पढ़ाई, भोजन और कपड़ों की व्यवस्था सरकार करेगी, बच्चों को अच्छे स्कूल में पढ़ाएगी, उनके भोजन और जरूरत पडऩे पर रहने की व्यवस्था भी करेगी।

बच्चों को सड़क पर नहीं रहने देंगे
सीएम शिवराज ने कहा-मैं एक अपील आप सबसे कर रहा हूं। आपके शहर में अगर कोई बच्चा ऐसा है जो कहीं भीख मांगता है तो वह हम सबके लिए शर्म की बात है। यह कलेक्टर की जवाबदारी है कि तत्काल उसके आश्रय की व्यवस्था करें। उसकी पढ़ाई कपड़े आदि के खर्चे की व्यवस्था हम करेंगे। किसी बच्चे को हम सड़क पर नहीं रहने देंगे।

यह भी पढ़ें : गर्मी की छुट्टियों पर कलेक्टर ने लगाई रोक, पहले से लिए अवकाश भी कैंसिल

घरवाले ही मंगवाते हैं भीख
दरअसल प्रदेश में हर दिन हजारों बच्चे सार्वजनिक स्थानों पर भीख मांगते नजर आते हैं, कई बच्चें तो सड़क किनारे कुछ छोटी मोटी सामग्रियां बेचते या चाय, पानी व होटलों पर भी काम करते नजर आते हैं, ऐसे में वे बच्चे शिक्षा की मुख्य धारा से नहीं जुड़ पाते हैं और हमेशा वही काम करते रहते हैं, जो कर रहे हैं, चूंकि इन बच्चों की पारिवारिक स्थितियां ठीक नहीं होती है, इस कारण इन बच्चों को घरवाले ही भीख मांगने के लिए भेज देते हैं, कई बच्चों को तो उनके घरवाले साथ में लेजाकर ही भीख मंगवाते हैं, चूंकि अब सरकार उनका पूरा खर्च उठाएगी तो निश्चित ही भीख मांगने वाले बच्चों में कमी आएगी और वे शिक्षित हो पाएंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

12 जुलाई को झारखंड जाएंगे पीएम नरेंद्र मोदी, देवघर एयरपोर्ट का करेंगे उद्घाटननूपुर शर्मा के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट को 117 पूर्व जजों समेत बड़े अधिकारियों का ओपन लेटर, CJI को भेजाMaharashtra Politics: शिवसेना में किस वजह से शुरू हुई थी बगावत? बागी विधायक ने बताई पूरी सच्चाईसंभल में हिंदू देवी-देवताओं के पोस्टर पर चिकन बेचना पड़ा भारी, पुलिस ने सिखाया ये सबकअयोध्या में 1000 एकड़ भूमि पर बनेगा रामायण परिसर, रामलीलाओं से सजेगी धरतीप्रयागराज पहुंचे डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने कहा- हनिहार में विकसित होगा चंद्रशेखर आजाद पार्क जैसा पार्कMaharashtra Politics: डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मंत्रिमंडल विस्तार पर दिया बड़ा बयान, विदर्भ के विकास को लेकर भी कही यह बातएमपी के इन दो शहरों में हो सकता है G 20 शिखर सम्मेलन, शुरु हुई आयोजन की तैयारियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.