कॉलेज के छात्रों को उद्यमी बनाने बड़ी योजना तैयार

- उद्योगों का भ्रमण, प्लेसमेंट आदि पर फोकस

By: anil chaudhary

Published: 03 Jan 2020, 07:57 AM IST

भोपाल. कॉलेज के विद्यार्थी उद्यमी बनने का गुर भी सीख सकेंगे। प्रदेश सरकार उनके लिए इंडस्ट्रीयल विजिट प्लान तैयार कर रही है। इसके तहत छात्र-छात्राओं को उद्योगों का भ्रमण कराया जाएगा। उन्हें उद्योगों से जुड़ी बारीकियां और तकनीक समझने का मौका मिलेगा। उद्योगों एक हफ्ते से लेकर 15 दिन तक की ट्रेनिंग भी देंगे।
कॉलेज के प्राचार्य, उद्योग संचालकों और प्रबंधकों के साथ मिलकर ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए अनुबंध करेंगे। उन्हें कॉलेजों में मोटिवेशनल लैक्चर भी दिया जाएगा।

जिन जिलों में उद्योग नहीं हैं, उनके विद्यार्थियों को उद्योग भ्रमण और ट्रेनिंग दिलाने का कार्य उत्कृष्ट महाविद्यालय व अग्रणी महाविद्यालय करेंगे। सभी कॉलेजों में प्लेसमेंट एंड ट्रेनिंग सेल का गठन भी होगा। ये सेल जॉब फेयर आयोजित कराएगी। इसके अलावा एनजीओ, मल्टी नेशनल कंपनियों, निर्माण कंपनियों और माइनिंग जुड़ी कंपनियों से मिलकर विद्यार्थियों के लिए रोजगार की संभावनाएं तलाश करेगी। इसमें उद्योग विभाग के स्थानीय अधिकारियों का सहयोग लिया जाएगा।

- जॉब फेयर में सरकारी विभाग में होंगे शामिल

कॉलेज और जिलास्तर पर होने वाले जॉब फेयर में जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र, सेडमेप, औद्योगिक केंद्र विकास निगम, खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड, जिला रोजगार कार्यालय, मप्र कंसल्टेंसी ऑर्गनाइजेशन और सीआईआई के प्रतिनिधि रोजगार उपलब्ध कराने का काम करेंगे। वहीं, सरकार ने सभी शासकीय विभागों को जॉब फेयर्स में हिस्सा लेने के लिए कहा गया है।


- अलग से बजट देगी सरकार

विद्यार्थियों को उद्योगों के भ्रमण कराने और प्लेसमेंट के लिए कार्यक्रम कराने सरकार अलग से बजट देगी। इसके लिए कॉलेजों को अलग से प्रोग्राम तैयार कर प्रस्ताव भेजने के लिए कहा है। बताया जाता है कि सरकार ने पहले चरण में इसके लिए करीब सौ कॉलेजों को बजट जारी किया है, जिसमें प्रत्येक कॉलेज को 15 हजार से अधिक राशि दी गई है। कॉलेज अपनी स्ववित्तीय मद से भी ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट पर राशि कर सकेंगे। जिले के सभी कॉलेज मिलकर जॉब फेयर के लिए बड़े कार्यक्रम भी कर सकेंगे।

 

anil chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned