संगठन की नजर अब मोर्चो पर, यहां भी लागू हो सकता है उम्र का फेक्टर

पार्टी के मंडल और जिला अध्यक्षों में उम्र का बंधन लगाने के बाद अब उसकी नजर मोर्चा अध्यक्षों और पदाधिकारियों पर है।

भोपाल। भाजपा के केंद्रीय संगठन ने पार्टी में बड़े बदलाव की तैयारियां शुरू कर दी है। पार्टी के मंडल और जिला अध्यक्षों में उम्र का बंधन लगाने के बाद अब उसकी नजर मोर्चा अध्यक्षों और पदाधिकारियों पर है।दिसंबर में संगठन चुनाव निपटने के बाद मोर्चों में भी बदलाव का सिलसिला शुरू होगा। सूत्रों के मुताबिक पार्टी अब यहां भी उम्र का फार्मूला लगाने की तैयारी में हैं।

अभी सिर्फ युवा मोर्चा में 35 साल उम्र का बंधन है। लेकिन महिला, किसान, अल्पसंख्यक, पिछड़ा एवं अनुसूचित जाति-जनजाति मोर्चा में अभी उम्र का फार्मूला नहीं है। मुख्य संगठन में मंडल अध्यक्ष के लिए 35 साल और जिला अध्यक्ष के लिए 50 साल अधिकतम उम्र करने के बाद अब मोर्चों में भी अधिकतम आयुसीमा करने की तैयारी है। इसमें जिला स्तर पर 40 एवं प्रदेश स्तर पर 50 वर्ष उम्र की जा सकती है। यह फार्मूला पूरे देश में एक साथ लागू करने की तैयारी है।

राज्यों में हार के बाद नए नेतृत्व की तलाश-
भाजपा ने पिछले एक वर्ष में कई राज्यों में सत्ता गंवाई हैं। ऐसे में पार्टी राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की सलाह पर युवा नेतृत्व को सामने लाने की तैयारी कर रही है। ऐसे में मंडल एवं जिला अध्यक्ष के साथ ही मोर्चा पदाधिकारी भी कम उम्र के बनाने की तैयारी है। ताकि संगठन तेज रफ्तार से काम कर सके।

Show More
Alok pandya
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned