लोकसभा चुनाव 2019: मध्यप्रदेश में महिला वोटों पर कांग्रेस-भाजपा की नजर

लोकसभा चुनाव 2019: मध्यप्रदेश में महिला वोटों पर कांग्रेस-भाजपा की नजर

KRISHNAKANT SHUKLA | Publish: Apr, 13 2019 10:18:31 AM (IST) | Updated: Apr, 13 2019 10:18:32 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

अभी तक टिकटों में नहीं दिखी दिलेरी, महिला आरक्षण, मुद्दा है मुद्दे का क्या

अरुण तिवारी, भोपाल. महिलाओं के बैंक पर कांग्रेस-भाजपा दोनों की नजर है, लेकिन इन्हें टिकट देने से परहेज है। कांग्रेस 25 सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर चुकी है, इनमें पांच महिलाएं हैं। यानी 20 फीसदी। जबकि, कांग्रेस ने घोषणापत्र में 33% महिला आरक्षण को प्रमुख मुद्दा बनाया है।

भाजपा भी संसद और विधानसभा में 33% महिलाओं की भागीदारी की बात करती है, लेकिन टिकट देने में वह भी कंजूस है। भाजपा ने 21 प्रत्याशी घोषित किए हैं, जिनमें महिलाएं महज तीन हैं। ये 15% भी नहीं है।

राजीव का सपना पूरा करेंगे। केंद्र में सरकार बनने पर महिलाओं को 33त्न आरक्षण दिया जाएगा। जो टिकट बाकी हैं, उनमें भी महिलाओं का प्रतिनिधित्व रहेगा।
- शोभा ओझा, अध्यक्ष, मीडिया विभाग, कांग्रेस

उम्मीद है कुछ और महिलाओं को टिकट मिलें। चुनाव का सेटअप अलग होता है, आजकल जीत का फैक्टर भी बहुत मायने रखता है।
- लता ऐलकर, अध्यक्ष, महिला मोर्चा, भाजपा

2014 का चुनाव
भाजपा ने 2014 में पांच महिलाओं को टिकट दिए थे। ये पांचों जीतीं। कांग्रेस ने चार और बसपा ने एक महिला को टिकट दिया था, लेकिन सभी हार गईं। भाजपा की सुषमा स्वराज, सुमित्रा महाजन, ज्योति धुर्वे, सावित्री ठाकुर और रीति पाठक लोकसभा पहुंचीं थीं।

ज्यादा प्रतिनिधित्व कब
मध्यप्रदेश में 1957 से लेकर 2014 तक अधिकतम महिला सांसदों की संख्या छह तक ही पहुंच पाई। कभी ये संख्या पांच तक सीमित रही। 1962 और 2009 में अधिकतम छह महिला सांसद मध्यप्रदेश से लोकसभा तक पहुंच सकीं। वहीं, 1967, 1991 और 1996 में प्रदेश का लोकसभा में महिला प्रतिनिधित्व पांच सांसदों का रहा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned