माधव राव सिंधिया की मौत पर भाजपा मीडिया प्रभारी ने उठाए सवाल

माधव राव सिंधिया की मौत पर भाजपा मीडिया प्रभारी ने उठाए सवाल

Harish Divekar | Publish: Oct, 02 2018 01:03:54 PM (IST) | Updated: Oct, 02 2018 01:03:55 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

कहा 17 साल पहले हुए विमान हादसे कि क्यों नहीं कराई गई जांच

 

कांग्रेस के पूर्व मंत्री माधव राव सिंधिया की मौत पर भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर ने सवाल उठाए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर 30 सितंबर को स्वर्गीय माधव राव सिंधिया को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि 17 साल पहले विमान हादसे हुई उनकी मौत की जांच क्यों नहीं कराई गई।
भाजपा मीडिया प्रभारी पाराशर ने कहा कि स्वर्गीय सिंधिया की मृत्यु जिन परिस्थितियों में हुई, उन परिस्थितियों को लेकर कई प्रकार के प्रश्न भी खड़े हुए थे। कभी कभी ऐसा जरूर लगता है कि माधवराव जी की मृत्यु की जांच तो होनी चाहिए।
मूलत: ग्वालियर निवासी लोकेन्द्र पाराशर ने माधवराव सिंधिया को भावनात्मक श्रद्धाजलि अर्पित की।

सोशल मीडिया पर कांग्रेस एवं भाजपा के नेताओं ने उनके इस कदम को राजनीति से परे बताया।

क्योंकि मौजूदा राजनीतिक परिवेश में राजनीतिक दल एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप तक सीमित हैं, पाराशर ने सिंधिया को श्रद्धाजलि देकर परिपक्त राजनेता का परिचय दिया है।

 

पाराशर ने सोशल मीडिया पर लिखा कि 'राजमाता विजयाराजे सिंधिया के इकलौते पुत्र और भारत की राजनीति में जिन्होंने गरिमा पूर्ण व्यवहार से एक सम्मानजनक स्थान बनाया था, ऐसे श्री माधवराव जी सिंधिया आज ही के दिन एक विमान दुर्घटना में हम सब के बीच से चले गए। उनकी मृत्यु ग्वालियर अंचल में तो मानो भरी दोपहरी सूर्यास्त की तरह थी। किसी को विश्वास ही नहीं हुआ था कि माधवराव जी के साथ ऐसा भी हो सकता है। मेरे पत्रकारिता के जीवन में उनके साथ कई बार संवाद हुए, कुछ यात्राएं भी हुई । राजनीति में गरिमा पूर्ण व्यवहार का वे सदैव ध्यान रखते थे।

वे भारत की कांग्रेसी राजनीति के केंद्र में तेजी से उभर रहे थे। उनका चला जाना निश्चित तौर पर देश की राजनीति और ग्वालियर अंचल के लिए विशेष रूप से बड़ा धक्का था। उनकी मृत्यु जिन परिस्थितियों में हुई, उन परिस्थितियों को लेकर कई प्रकार के प्रश्न भी खड़े हुए थे। वे प्रश्न आज तक यथावत हैं । यद्यपि ऐसा नहीं लगता की राजनीति के दांव पेच इतने भी क्रूर हो सकते हैं ,लेकिन कभी कभी ऐसा जरूर लगता है कि माधवराव जी की मृत्यु की जांच तो होनी चाहिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned