भाजपा सांसद, पूर्व विधायक और राष्ट्रीय महामंत्री उलझे चुनाव आचार संहिता में

भाजपा सांसद, पूर्व विधायक और राष्ट्रीय महामंत्री उलझे चुनाव आचार संहिता में

Harish Divekar | Publish: Oct, 10 2018 11:07:45 PM (IST) | Updated: Oct, 10 2018 11:07:46 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India


आयोग ने कलेक्टरों से मांगी रिपोर्ट

भाजपा में इन दिनों चुनाव आयोग के एक्शन से हडकंप की स्थिति बनी हुई है। हाल ही में आयोग ने भाजपा सांसद गणेश सिंह, पूर्व विधायक हरेन्द्रजीत सिंह बब्बू और भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन पर चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज हो गया है। आयोग ने इस मामले में संबंधित कलेक्टरों से रिपोर्ट तलब की है।
गुना में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह रोड शो के दौरान नगर पलिका की दुकानों पर लगे पोस्टर-बैनर हटाने पर भजपा के राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन और प्रदेश महामंत्री वीडी शर्मा द्वारा अधिकारियों को धमकाना महंगा पड़ सकता है। चुनाव आयोग ने इस मामले में गुना कलेक्टर से रिपोर्ट मांगी है। मीडिया में प्रकाशित खबरों के अधार पर आयोग ने स्वत: संज्ञान लेते हुए यह कार्रवाई की है। अनिल जैन ने इस मामले में फोन पर स्थानीय अधिकारियों के साथ अभद्र व्यवहार भी किया था। उधर सतना सांसद गणेश सिंह ने आचार संहिता के दौरान ही मैहर में बायपास पर बने रेल्वे ओवरब्रिज का लोकापर्ण कर दिया। इस मामले में भी आयोग ने कलेक्टर से रिपोर्ट तलब की है। कांग्रेस ने इस मामले में जिला निर्वाचन अधिकारी को शिकायती ईमेल किया है। सांसद गणेश सिहं का इस मामले में कहना है कि उन्होंने ब्रिज का उद्घाटन नहीं किया। ब्रिज 6 अक्टूबर को ही चालू हो गया था, वो तो आवागमन देखने वहां गए थे।

सूचना आयुक्तों की नियुक्ति की रिपोर्ट आयोग को भेजी

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने सूचना आयुक्तों की नियुक्ति की रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेज दी है। सीईओ कांताराव ने बताया कि सूचना आयुक्तों की नियुक्ति को लेकर राज्य शासन से रिपोर्ट मांगी गई थी। हालांकि उन्होंने ये नहीं बताया कि रिपोर्ट में शासन ने क्या जवाब दिया है। मामले की शिकायत कांग्रेस के आरटीआई सेल के अजय दुबे ने की थी। उधर, सामान्य प्रशासन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि आचार संहिता प्रभावी होने के पहले ही अधिसूचना जारी कर दी गई थी। सिर्फ उसकी प्रिंटिंग में देरी हुई है।

राजगढ़ कलेक्टर को क्लीनचिट
आयोग ने कलेक्टर के वॉट्सअप ग्रुप पर भाजपा की प्रेसवार्ता के प्रचार मामले में राजगढ़ कलेक्टर कर्मवीर शर्मा को क्लीनचिट दे दी है। सीईओ कांताराव ने बताया कि कलेक्टर ने जवाब दिया है कि उन्होंने मीडिया का एक वाट्सएप ग्रुप बनाया है, जिसमें ग्रुप के किसी सदस्य ने ये पोस्ट डाल दी। वहीं भिंड में वॉट्सअप एडमिन के रजिस्ट्रेशन को लेकर आयोग ने कहा कि ऐसा कोई आदेश नहीं दिया गया है।

पूर्व विधायक बब्बू के खिलाफ मामला दर्ज-

जबलपुर के पूर्व विधायक हरेंद्रजीत सिंह बब्बू के खिलाफ प्रशासन ने आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया है। बब्बू के खिलाफ टोल फ्री नंबर पर शिकायत की गई थी कि वे वोटरों को लुभाने के लिए घडिय़ां बांट रहे हैं। उधर मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी के खिलाफ कांग्रेस ने आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की है। शिकायत में कहा गया है कि त्रिपाठी ने ८ अक्टूबर को बिना अनुमति के ग्राम धनवाही में रात ८ बजे आमसभा कर मतदाताओं को प्रलोभन देने रात्रिभोज कराया। इसके साथ ही दमोह में सपाक्स जिला अध्यक्ष योगी पांडे के खिलाफ बिना अनुमति वाहन रैली निकालने पर मामला दर्ज किया गया है। सनावद नगर पालिका अध्यक्ष मंजूषा शर्मा के खिलाफ भी सरकारी लैटरपैड का उपयोग कर वहां के सीएमआ को रिलीव करने के मामले में शिकायत दर्ज की गई है। भोपाल की नरेला क्षेत्र में सरकारी भवनों पर विधायक विश्वास सारंग के बैनर-पोस्टर लगे होने के मामले में आयोग प्रशासन से जानकारी लेने जा रही है। वहीं बैरागढ़ में भागवत कथा में हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा की लगातार उपस्थित का मामला भी आयोग के पास पहुंचा है। दोनों मामलों में कांग्रेस ने शिकायत की है।

रामपथ गमन में कलेक्टर से रिपोर्ट मांगी-

चुनाव आयोग ने राम पथ गमन के मामले में भी डिंडोरी कलेक्टर से रिपोर्ट मंगवाई है। वीएल कांताराव ने बताया कि राम वन गमन पथ यात्रा को रोकने संबंधी उन्हें कोई शिकायत नहीं मिली है, लेकिन मामला संज्ञान में आया है। कांग्रेस का आरोप है कि रामपथ गमन यात्रा रोकी गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned