8-9 को भाजपा की बड़ी बैठक, MP-CG के सीएम व प्रदेश अध्यक्ष देंगे प्रेजेंटेशन..

8-9 को भाजपा की बड़ी बैठक, MP-CG के सीएम व प्रदेश अध्यक्ष देंगे प्रेजेंटेशन..

KRISHNAKANT SHUKLA | Publish: Sep, 07 2018 09:45:21 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

भाजपा की बड़ी बैठक में MP-CG के सीएम व प्रदेश अध्यक्ष देंगे प्रेजेंटेशन

भोपाल. भाजपा की आठ और नौ सितंबर को हो रही राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री व प्रदेश अध्यक्ष अलग-अलग प्रेजेंटेशन देंगे। आलाकमान ने हाल ही में हुए भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन में चुनावी राज्यों को सरकार और संगठन में खाली पदों पर कार्यकर्ता तैनात करने को कहा था।

साथ ही कार्यकर्ताओं के असंतोष को खत्म करने की हिदायत दी थी। अब दोनों की रिपोर्ट मांगी जाएगी। कार्यकारिणी में चुनावी राज्यों का विशेष सत्र होगा। भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार पार्टी हाईकमान ने मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में चुनावी सर्वेक्षण कराया है। इसके नतीजों के आधार पर दोनों राज्यों उनका आकलन मांगा है।

राज्य के मुद्दों को लेकर प्रदेश इकाई की तैयारियों के बारे में पूछा जाएगा। केंद्रीय नेतृत्व ने प्रदेश भाजपा को निर्देश दिया गया है कि विपक्ष के आरोपों की काट तथ्यों के आधार पर निकाले। दलित और सवर्ण आंदोलन को लेकर जनता को यह समझाए कि कुछ राजनीतिक दल अपना स्वार्थ पूरा करने के लिए इसे समर्थन दे रहे हैं। उनके बहकावे में नहीं आएं।

प्रदेश भाजपा की विस्तारित बैठक आज
बैरागढ़ के संत हिरदाराम गल्र्स कॉलेज ऑडिटोरियम में शुक्रवार को पार्टी की विस्तारित बैठक बुलाई है। इसी स्थल पर दोपहर तीन बजे से भाजपा की अर्थ संग्रह की बैठक रखी गई है। उधर, भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष विजया ताई रहाटकर भी शुक्रवार को राजधानी में रहेंगी। वे महिला मोर्चा की बैठक प्रदेश कार्यालय में लेंगी।

कल्याणकारी योजनाओं पर जोर
दोनों राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए किए गए कार्यों का ब्योरा भी आलाकमान के सामने पेश करेंगे। केंद्रीय संगठन ने दोनों राज्यों से केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का महत्व बताने के लिए बड़ी संख्या कार्यक्रम आयोजित करने के लिए कहा था। साथ ही नाराज कार्यकर्ताओं से लगातार संवाद करने की सख्त हिदायत दी थी। दोनों राज्यों को इसकी रिपोर्ट भी पेश करना है।

लापरवाही पर बीएलओ सुपरवाइजर निलंबित

इधर, मध्यप्रदेश के पूर्व राज्यपाल स्व. रामनरेश यादव का नाम मृत्यु के दो साल बाद भी भोपाल की मतदाता सूची में जुड़ा रहा। इस लापरवाही पर ध्यान गया तो जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर ने बीएलओ सुपरवाइजर उमाशंकर मिश्रा (उपयंत्री पीडब्ल्यूडी) को जिम्मेदार मानते हुए निलंबित कर दिया।

आठ सितम्बर 2011 को मध्यप्रदेश के राज्यपाल बने यादव पांच साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद अपने गृह राज्य उत्तर प्रदेश चले गए। लम्बी बीमारी के बाद वहां उनका निधन हो गया, लेकिन भोपाल की मतदाता सूची में उनका नाम दर्ज रहा। यह स्थिति तब रही जब मृत और गुमनाम लोगों के नाम मतदाता सूची से हटाने का अभियान चलता रहा। बीएलओ अशोक यादव ने राजभवन के पते पर अंकित रामनरेश यादव का नाम मतदाता सूची से हटाने के लिए बीएलओ सुपरवाइजर उमाशंकर को रिपोर्ट भेजी। उमाशंकर ने इस पर ध्यान ही नहीं दिया। निलंबन के दौरान उनका मुख्यालय निर्वाचन कार्यालय में रखा गया है।

अब तक हटाए 24 लाख डुप्लीकेट नाम
हाल ही में चुनाव आयोग ने पुनरीक्षण अभियान के दौरान प्रदेश से 24 लाख ऐसे मतदाताओं के नाम हटाए हैं, जिनके नाम एक से अधिक बार और एक ही पते पर एक से अधिक नाम थे। इनमें साढ़े सात लाख नाम मृतकों के भी शामिल थे। इस मामले में कांग्रेस ने आयोग में लिखित शिकायत की थी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned