Election2019: राजधानी सीट पर चढ़ा सियासी पारा, दिग्विजय के विरोध में उमा ने खोला मोर्चा

Lok Sabha polls 2019 भोपाल संसदीय सीट से चुनावी मैदान में चुनावी सियासी पारा चढ़ गया है। उमा ने ट्वीट पर दिग्विजय पर साधा निशाना, कहा - दिग्विजय को कार्यकर्ता ही हरा देंगे, मैं प्रचार करने जरूर आऊंगी, जनता को बताएंगी दिग्विजय शासन की कमियां

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Published: 29 Mar 2019, 09:30 AM IST

भोपाल. पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के भोपाल संसदीय सीट से चुनावी मैदान में उतरने के साथ ही उनकी धुर विरोधी रहीं केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने मोर्चा खोल दिया है। भाजपा नेता उमा ने गुरुवार को ट्वीट करके कहा कि वे चुनाव तो नहीं लड़ेंगी, लेकिन दिग्विजय के खिलाफ प्रचार करने भोपाल जरूर आएंगी और वहां की जनता को दिग्विजय के शासन की याद दिलाएंगी।

उमा ने लिखा, यह अच्छा हुआ भोपाल की जनता से अन्याय करने वाले दिग्विजय अब वहां की जनता के दरबार में पेश हो रहे हैं। जनता उन्हें प्रचंड मतों से हराकर बदला लेगी। दिग्विजय की हालत तो यह है कि भाजपा का आम कार्यकर्ता भी उन्हें चुनाव में हरा सकता है। उमा ने भोपाल सांसद और बाद में मुख्यमंत्री रहते हुए राजधानी में कराए काम गिनवाते हुए लिखा, भोपाल में नर्मदा जल लाने की घोषणा मैंने की थी। उस समय दिग्विजय ने इसे असंभव बताकर खिल्ली उड़ाई थी।

Digvijaya Singh

सामने शिवराज हों या उमा भारती जीतकर दिखाएंगे: दिग्विजय सिंह

कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने भोपाल से जीत का दावा किया है। उन्होंने कहा कि सामने उमा भारती हों या शिवराज सिंह चौहान, वे चुनाव जीतकर दिखाएंगे। दिग्विजय ने कहा, मुझे बंटाढार कहा जा रहा है, लेकिन शिवराज सिंह चौहान सार्वजनिक मंच पर मेरे साथ उनके 15 साल बनाम मेरे 10 साल पर बहस कर लें, लेकिन वे मुझसे डरते हैं और भागते हैं। उन्होंने कहा, पिछली सरकार 15 साल तक मेरी फाइलें खुलवाती रही, लेकिन भ्रष्टाचार का मामला नहीं निकाल पाई। उमा भारती भी मेरे खिलाफ भ्रष्टाचार का एक भी आरोप साबित नहीं कर पाईं। दिग्विजय सिंह ने कहा, उनके लिए चुनौती भाजपा पार्टी नहीं बल्कि उनकी विचारधारा है।

BJP VS CONGRESS

अर्गल आज राहुल से मुलाकात के बाद कांग्रेस में होंगे शामिल

मुरैना के महापौर और पांच बार के सांसद रहे अशोक अर्गल शुक्रवार को कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी उन्हें सदस्यता दिलाएंगे। उन्हें भिंड या मुरैना से चुना लड़ा सकते हैं। शहडोल सांसद ज्ञानसिंह के बगावत कर चुनाव लडऩे की घोषणा के बाद भाजपा को यह दूसरा झटका है। अर्गल ने पत्रिका से कहा, मैं भाजपा में एक मिनट नहीं रुकना चाहता हूं। कांग्रेस ने उन्हें मुरैना से नरेंद्र सिंह तोमर के खिलाफ उतारा तो वे टक्कर देने को तैयार हैं। अर्गल को कांग्रेस में जाने से रोकने के लिए प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने फोन पर बात की। संगठन महामंत्री रामलाल ने भी मनाने की कोशिश की, लेकिन बात नहीं बनी।

आरडी प्रजापति को मनाने विधायक बेटे पर दबाव

टीकमगढ़ से भाजपा प्रत्याशी वीरेंद्र कुमार खटीक के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले पूर्व विधायक आरडी प्रजापति को मनाने नेताओं ने उनके बेटे विधायक राजेश प्रजापति पर दबाव बनाया है। आरडी ने बयानबाजी नहीं रोकी तो उन पर अनुशासनात्मक कार्रवाई हो सकती है।

मुझसे हुआ संपर्क, पार्टी नहीं छोड़ूंगा: अनूप

मुरैना सांसद अनूप मिश्रा का कहना है कि उनके भाजपा छोड़ कांग्रेस में जाने की खबरें झूठी हैं। उन्होंने कहा, कांग्रेस के कुछ लोगों ने मुझसे संपर्क किया है, लेकिन मैं कभी भी भाजपा नहीं छोड़ूंगा। भाजपा मेरे लिए मां समान है, मैं कार्यकर्ता की हैसियत से काम करता रहूंगा।

BJP Congress
Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned