भाजपा पर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का हमला बोले मेरे खिलाफ 'ये चल रहीं हैं साजिशें'...

भाजपा पर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का हमला बोले मेरे खिलाफ 'ये चल रहीं हैं साजिशें'...

Deepesh Tiwari | Publish: Sep, 05 2018 12:39:29 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

बोले मुख्यमंत्री की हत्या की साजिश थी तो गृहमंत्री को इस्तीफा देना चाहिए...

भोपाल@दीपेश अवस्थी की रिपोर्ट...

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पहले दिग्विजय सिंह को देशद्रोही कहा, लेकिन सिद्ध नहीं कर पाए। अब मुझे फंसाने की कोशिश कर रहें हैं लेकिन मैं डरने वाला नहीं हूं। चुरहट में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, सीएम की जनआशीर्वाद बस में भी कैमरे हैं।

कैमरे की वीडियो फूटेज उजागर किए जाएं तो सब स्पष्ट हो जाएगा। मुख्यमंत्री गैर जिम्मेदाराना आरोप लगा रहे हैं। पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होना चाहिए। यह गृहमंत्री का फेलुअर है, वे मुख्यमंत्री की सुरक्षा नहीं कर पा रहे हैं, तो प्रदेश की जनता की सुरक्षा कैसे करेंगे।

वे तत्काल पद से इस्तीफा दें। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि वे पीठ पीछे वार नहीं करते। दो बार अविश्वास प्रस्ताव लेकर आए मुख्यमंत्री ही चर्चा से भागे।

नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि चुरहट में दरअसल प्रशासन और मुख्यमंत्री की चिढ़़ की वजह यह है कि वहां एनएच 49 की हालत खराब है। इस सड़क के निर्माण को लेकर पिछले डेढ़ साल से आंदोलन चल रहा है।

एक माह पहले युवक कांगे्रस के लोगों ने गड्ढों में धान रोपा। इसके बाद अचानक जिला प्रशासन चेता और सड़कों के गड्ढे भरने का काम शुरू हो गया क्योंकि मुख्यमंत्री की जन-आशीर्वाद यात्रा 2 सितम्बर को आने वाली थी।

इसका विरोध रहवासियों ने किया कि अब तक सड़क ठीक नहीं की और मुख्यमंत्री आ रहे हैं तो चिंता हो गई। रहवासियों ने कहा अब मुख्यमंत्री इसी गड्ढे से होकर गुजरें। इसको लेकर जिला प्रशासन भाजपाई और मुख्यमंत्री चिढ़े और फिर उसके बाद अचानक यह पत्थर बाजी हो गई यह एक साजिश है।

जिसकी उच्चस्तरीय जांच की जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि घटना निंदनीय है और इसमें कोई भी दोषी हो उसके खिलाफ कार्यवाही होना चाहिए। लेकिन उस पर भी गौर करें जो यह बताता है कि बौखलाई भाजपा की यह साजिश है।

नेता प्रतिपक्ष सिंह ने उठाए ये बड़े सवाल -
1. जब पटपरा में पथराव हुआ तो चुरहट में बस साबित क्यों थी और अचानक फिर क्या हुआ कि कांच टूट गया।
2. जब पटपरा में कांच फूट गया तो मंच पर सारे भाजपा नेता बोले उन्होंने किसी ने पत्थर मारने का जिक्र नहीं किया सिवाए मुख्यमंत्री के, जिनका सबसे आखरी में भाषण हुआ उन्हीं ने यह सनसनीखेज समाचार दिया। क्या भाजपा नेताओं को इतनी बड़ी खबर पता नहीं थी ।
3. टीवी पर जो फुटेज भाजपा चलवा रही है। उसमें एक लड़के को कुछ फेंकते हुए दिखाया वह साइड कंडक्टर साइड है जबकि कांच ड्राइवर साइड का फूटा है।
4. गृहमंत्री कह रहे हैं हत्या की साजिश पटपरा पेट्रोल पंप पर रची गई। लेकिन यह पेट्रोल पंप तो भाजपा मंडल अध्यक्ष का है।

5. एक भाजपा नेता कह रहे हैं कि यह साजिश नेता प्रतिपक्ष के बंगले पर रची गई दोनों में पहले यह तय हो कि सही क्या है।
6. पत्थरबाजी जैसी घटना मुख्यमंत्री के रथ पर होती है। इसमें अत्याधुनिक उच्च क्षमता वाले कैमरे लगे हैं। उसमें फुटेज भी होगा कि पत्थर किसने फेंका। इसके अलावा पूरे चुरहट में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे।
7. इसके अलावा मुख्यमंत्री की रथ यात्रा थी उन्हें जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त है। पूरे रास्ते में पुलिस और गुप्तचर के लोग थे तब पुलिस को मुखबिर की सूचना का सहारा क्यों लेना पड़ा।
8. मुखबिर की सूचना पर पकड़े गए जिस व्यक्ति को पकड़ा गया उसके आाधार पर 8 संदेही पकड़े गए और पुलिस ने दबाव डालकर पूरी कहानी गढ़ ली। क्या पुलिस के अपने गुप्तचर नहीं थे। क्या जहां पत्थर फेंका गया वहां पुलिस सुरक्षा नहीं थी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned