Cyber Crime: खाली हो जाएगा आपका 'बैंक खाता', हर दिन रहे अलर्ट

Blackmail on social media: इज्जत के कारण कई पीड़ित नहीं बता पाते हैं अपनी परेशानी...।

By: Manish Gite

Published: 06 Jun 2021, 02:06 PM IST

भोपाल. साइबर अपराधी लोगों के बैंक अकाउंट खाली कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने नए-नए तरीके भी ईजाद कर लिए हैं। इन दिनों फेसबुक ब्लैकमेलिंग (Blackmail on social media) का सबसे अच्छा जरिया बना हुआ है। क्योंकि लॉकडाउन की वजह से ज्यादातर लोग आनलाइन (online) ही काम कर रहे हैं। इसमें शापिंग हो या पैसों का ट्रांजेक्शन (transaction)।

online_dating.png

ऑनलाइन अपराध की जद में आप हर दिन आ सकते हैं। इसके जरिए आप किसी लड़की के जाल में फंस सकते हैं, वहीं ब्लैकमेलिंग का शिकार हो सकते हैं, वहीं आपके खाते से भी पैसा निकाला जा सकता है।

आपकी ऑनलाइन सक्रियता के कारण ही फेसबुक पर ठग सक्रिय हो गए हैं, जो आपको अपना मित्र बनाते हैं फिर एक लिंक भेजते हैं। कोई युवती के जरिए आपको इश्क में उलझाते हैं। युवती आपसे प्यार-मोहब्बत की बातें करने लगती हैं। कोई लिंक आपको भेजती है, जिसमें वो वीडियो कॉल करती है। धीरे-धीरे उसकी हरकतें बढ़ती जाती है और अश्लील संवाद से शुरुआत कर उसकी हरकतें बढ़ती जाती हैं। युवती की हरकतों के साथ ही आपका वीडियो भी रिकार्ड हो जाता है।

dating.jpg

इसके बाद शुरू हो जाती है ब्लैक मेलिंग की कहानी। फेसबुक यूजर को वही वीडियो भेजकर उसे वायरल करने की धमकी दी जाती है। इसके बदले में रकम ट्रांसफर करवा ली जाती है। हाल ही में महाराजपुर विधायक नीरज दीक्षित को ब्लैकमेल करने की शिकायत आई थी। पुलिस ने आरोपी को राजस्थान से गिरफ्तार किया।

 

यह भी पढ़ेंः ऑनलाइन ठगीः प्रधान आरक्षक के खाते से निकाले 1.40 लाख रुपए

यह सावधानियां बरतें और ठगी से बचें

इस प्रकार के मामलों में पांच से दस हजार रुपए लेने की जानकारी अधिकारियों को पता चली है, लेकिन वे मानते हैं कि लोगों के स्टेटस के हिसाब से मोटी रकम भी वसूली जाती है। इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से राशि निकाले जाने की शिकायतें साइबर पुलिस के पास पहुंची है। इसमें फोन पर व्यक्तिगत जानकारी देना धोखे का कारण बना है। बैंक खाते और व्यक्तिगत जानकारी के आधार पर अपराधी इंटरनेट बैंकिंग की सेवा ले लेते हैं और राशि निकाल लेते हैं। यह भी पता चला है कि अपराधियों ने व्यक्तिगत जानकारी के आधार पर अपना फोन नंबर खाते के साथ लिंक करवाया और फिर धोखाधड़ी की।

 

यह भी पढ़ेंः 24 साल के कार्यकाल में ये पुलिस जवान कभी नहीं हुए गैर हाजिर, न ही ली लीव

 

यह भी है खास

  • -सोशल नेटवर्किंग साइट पर अनजान लोगों की फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार न करें।
  • -जिस लिंक पर शक हो उसे क्लिक न करें और यदि वीडियो कॉल शुरू होता है तो उस साइट से तत्काल बाहर आ जाएं।
  • -सोशल मीडिया फ्रेंड को व्यक्तिगत जानकारी न दें।

 

यह भी पढ़ेंः पीएम मोदी को किया ऐसा कमेंट कि रातों रात कांग्रेसी लीडर उठा ले गई दिल्ली पुलिस, गर्माई राजनीति

साइबर सेल के एसपी गुरुकरण सिंह (ips gurukaran singh) कहते हैं कि फेसबुक पर वीडियो कॉल के माध्यम से ब्लैकमेलिंग और इंटरनेट बैंकिंग की सेवा शुरू कर धोखाधड़ी की शिकायतें मिली हैं, जिनकी जांच जारी है। लोग सतर्कता बरतकर धोखाधड़ी से बच सकते हैं।


दर्ज हुई कई शिकायतें

साइबर पुलिस के पास ऐसी घटनाओं की चार से पांच शिकायतें दर्ज हुई हैं। हालांकि अधिकारी मानते हैं कि इन घटाओं के शिकार बहुत लोग हैं, लेकिन शर्म और संकोच के कारण वे पुलिस तक नहीं पहुंचते और यहीं से इन साइबर अपराधियों का हौंसला बढ़ता जाता है और वे निडर होकर वारदात को अंजाम देते हैं।

 

यह भी पढ़ेंः अनाथ हुए बच्चों के पास मां के अंतिम संस्कार के लिए नहीं थे पैसे, TI ने की मदद

 

चुप न रहें आवाज उठाए

  • किसी भी प्रकार की ब्लैकमेलिंग बर्दाश्त न करें, तुरंत ही आवाज उठाएं। ब्लैकमेलर की बात मानना आपको बड़ा नुकसान पहुंचा सकता है। डरने की बजाय एक्शन जरूर लें।
  • यदि आपने किसी को पर्सनल तस्वीरें भेज दी हैं और उनके आधार पर वो आपको ब्लैकमेल कर रहा है तो यह जानना जरूरी है कि उसकी मर्जी के बगैर कोई भी तस्वीरें शेयर करना या उसमें कोई एडिटिंग करना अपराध है।
  • लोकल पुलिस से पहले वकील की सलाह लेना चाहिए। वो आपको बेहतर बता पाएगा कि किन पहलुओं के आधार पर आगे की कार्रवाई हो सकती है और केस को कैसे मजबूत बना सकते हैं।
  • आप चाहें तो अपना नाम गुप्त रखकर भी शिकायत कर सकते हैं। गृह मंत्रालय ने साइबर क्राइम पर एक्शन लेने के लिए वेबसाइट भी बनाई है। इसके जरिए भी आप रिपोर्ट कर सकते हैं।
  • फेसपुक और इंस्टाग्राम पर भी ब्लैकमैलिंग का मामला आने पर रिपोर्ट का आप्शन दबा सकते हैं।
  • इसके अलावा वाट्सएप चैट विंडो में ही मामला रिपोर्ट करने का आप्शन आ जाता है। चैट विंडो में मेन्यू से जाकर सीधे ऐसे मामलों पर रिपोर्ट कर सकते हैं।
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned