भोपाल नाव हादसे की झकझोर देने वाली तस्वीरें, परिजनों की चीत्कार सुन नम थी सभी आंखें

भोपाल नाव हादसे की झकझोर देने वाली तस्वीरें, परिजनों की चीत्कार सुन नम थी सभी आंखें

Muneshwar Kumar | Updated: 13 Sep 2019, 02:41:51 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

भोपाल नाव हादसे में 11 लोगों की हुई है मौत, सरकार ने 11 लाख रुपये मुआवजा देने का किया है ऐलान

भोपाल/ गणपति विसर्जन के दौरान भोपाल नाव हादसे में 11 लोगों की मौत हुई है। हादसे की खबर सुनते ही परिजन भागे-दौड़े घटना स्थल पर पहुंचे। वहां सभी अपनों को ढूंढ रहे थे। उसे बाद सभी का शव पीएम के बाद पिपलानी क्षेत्र के पुराने 1100 क्वार्टर में लाया गया। पूरे परिसर में परिजनों की चीत्कार से लोगों के रोंगटे खड़े थे। हर के मन में यही सवाल था कि बप्पा तूने ये क्या किया।

पिपलानी क्षेत्र के पुराने 1100 क्वार्टर से जैसे लोगों की अर्थियां उठनी शुरू हुईं, परिजनों की दहाड़ से पूरा इलाका दहल गया। कल तक जहां लोग खुशी-खुशी अपने घरों और कॉलोनियों बप्पा को इस वायदे के साथ विदा किया था कि अगले बरस तू जल्दी आना। लेकिन आज हर तरफ गमों का पहाड़ टूटा था। इस हादसे में बारह घरों के सपने उजड़ गए हैं।

04.png

किसी ने बेटा खोया है, तो किसी ने भाई, किसी के घर का इकलौता चिराग बुझ गया। कोई कह रहा है कि वहीं तो मेरा सहारा था। अब कैसे और किसके सहारे जिऊंगा। पड़ोसी ढाढस बंधाने के सिवा कर भी क्या सकते थे। परिजनों की चीत्कार सुन सभी की आंखें नम थीं। हर कोई यह जनना चाहता था कि ये सब कैसे हो गया। कोई तो बताए। सरकारी अमला अपनी लापरवाही पूरी तरह खामोश है।

05.png

रोंगटे खड़ी कर देगी ये तस्वीर
इस हादसे की सभी तस्वीरें आपको अंदर से झकझोर देंगी। इस हादसे में बेटे को खोने वाले एक पिता की चीत्कार ने सबको अंदर से हिला दिया। ये तस्वीर इस हादसे की दर्द को बयां कर रही है। पिता बार-बार यही पूछ रहे थे कि कहां चला गया तू। शायद बप्पा से भी वह यह सवाल कर रहे थे कि बप्पा तूने ये क्या किया...

03.png

ये हादसा गणपति विसर्जन के दौरान भोपाल के घटालपुरा के पास हुआ है। सरकार ने मृतकों के परिजनों को ग्यारह लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है। हादसे के बाद कई सवाल भी उठ रहे हैं कि आखिर प्रशासन ने क्यों लापरवाही बरती। इतनी बड़ी मूर्ति को लेकर प्रशासन ने क्यों नाव से तलाब में लेकर जाने दिया। इसके लिए जिम्मेवार कौन है। अभी तक जवाब नहीं आया। सीएम ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

06.png


मृतकों के नाम व पते:-
1- परवेज़ पिता सईद खान उम्र 15 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
2- रोहित मौर्य पिता नंदू मौर्य उम्र 30 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
3- करण पिता...... उम्र 16 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
4- हर्ष पिता ..... उम्र 20 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
5-सन्नी ठाकरे पिता नारायण ठाकरे उम्र 22 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
6- राहुल वर्मा पिता मुन्ना वर्मा उम्र 30 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
7- विक्की पिता रामनाथ उम्र 28 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
8-विशाल पिता राजू उम्र 22 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
9-अर्जुन शर्मा पिता......उम्र 18 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
10-राहुल मिश्रा पिता ......उम्र 20 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।
11- करण पिता पन्नालाल उम्र 26 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned