भोपाल की महिला खिलाड़ी की रोहतक में गला रेतकर हत्या, नहर के पास मिला शव

वेट लिफ्टिंग की राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी थी महिला, गला रेतकर की गई हत्या, शव को जलाने की भी कोशिश..

By: Shailendra Sharma

Published: 20 Feb 2021, 05:32 PM IST

भोपाल. भोपाल की रहने वाली एक महिला खिलाड़ी की हरियाणा के रोहतक में बेरहमी से हत्या कर दी गई। महिला खिलाड़ी का शव दो दिन पहले एक नहर के पास खून से लथपथ हालत में मिला था। बताया जा रहा है कि हत्या के बाद महिला के शव को जलाने की भी कोशिश की गई है। महिला खिलाड़ी भोपाल के एक स्कूल में पीटीआई के पद पर पदस्थ थी और रोहतक आती जाती रहती थी। जानकारी के मुताबिक वारदात से दो दिन पहले ही महिला रोहतक पहुंची थी।

 

पार्किंग की स्लिप और बिल से हुई शिनाख्त
रोहतक पुलिस को जब महिला का शव मिला तो उसकी शिनाख्त करना मुश्किल था। महिला के जेब से मिली पार्किंग की स्लिप और होटल के बिल से पुलिस उसकी शिनाख्त कर पाई। बताया जा रहा है कि महिला वेटलिफ्टिंग की राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी थी। जो बीते सात साल से अपने परिवार से अलग रहती थी। रोहतक पुलिस ने भोपाल में रहने वाले महिला के परिजन से संपर्क किया जिसके बाद परिजन रोहतक पहुंचे और शव का अंतिम संस्कार किया। बताया जा रहा कि महिला किसी के साथ रिलेशन में थी और रोहतक आती जाती रहती थी। उसे पहले भी रोहतक के राजीव गांधी स्टेडियम में प्रैक्टिस करते हुए लोगों ने देखा है।

 


वेट लिफ्टिंग कोच पर लगाया था दुष्कर्म का आरोप
पुलिस के मुताबिक ढाई साल पहले महिला खिलाड़ी ने रोहतक के रहने वाले एक वेट लिफ्टिंग कोच पर रेप का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी। और तब उसने आरोप लगाया था कि कोच ने उसके साथ बलात्कार करने के बाद उसे नाले में फेंकने की कोशिश की। तब अपनी शिकायत में महिला खिलाड़ी ने आरोप लगाया था कि वो साल 2015 में जबलपुर में एक टूर्नामेंट के दौरान उस कोच से मिली थी और दोनों ने एक दूसरे का नंबर लिया था। फिर दोनों में बातचीत का सिलसिला शुरु हुआ। बाद में कोच ने नौकरी और शादी का झांसा देकर उसे रोहतक मिलने के लिए बुलाया और दुष्कर्म किया। तब पुलिस ने कोच को गिरफ्तार कर लिया था।

देखें वीडियो- RPF और NSUI कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned