scriptBoring water dry, tap water scheme failed, 50 thousand cubic meter cap | बोरिंग का पानी सूखा, नल जल योजना फेल, 50 हजार क्यूबिक मीटर क्षमता का तालाब करेगा सूखा दूर | Patrika News

बोरिंग का पानी सूखा, नल जल योजना फेल, 50 हजार क्यूबिक मीटर क्षमता का तालाब करेगा सूखा दूर

-- जनसहयोग से एकत्र किए 4.50 लाख रुपए से बना तालाब, किसी ने दी जेसीबी तो किसी ने ट्रैक्टर, गर्मी के दिनों में टैंकर मंगाकर करते थे गुजारा, दूर होगी समस्या

-- बरसात का पानी स्टोर कर ग्राउंडवॉटर भी होगा रीचार्ज, आस-पास के क्षेत्रों के लोगों की पानी समस्या दूर होगी, 50 साल से परेशान रहते थे लोग

भोपाल

Published: May 10, 2022 07:04:33 pm

भोपाल. गुनगा में पिछले 40-50 वर्षों से चली आ रही पानी की समस्या अब 50 हजार क्यूबिक मीटर क्षमता पानी स्टोर करने वाले तालाब से दूर होगी। आस-पास कोई तालाब य जलश्रोत न होने से यहां का ग्राउंड वॉटर भी कम होता गया। बोर सूखने लगे, नल जल योजना के तहत किए गए प्रयासों ने भी दम तोड़ दिया। गर्मी में यहां के लोग और पशु परेशान रहने लगते हैं, खेत बंजर हो जाते हैं। जैसे तैसे टैंकरों से पीने का पानी मंगाकर गुजारा करते हैं। आज इसी गांव का सूखा दूर करने के लिए जिला पंचायत की तरफ से 50 हजार क्यूबिक मीटर पानी स्टोर करने की क्षमता का तालाब बनाया गया है। इसमें आस-पास के लोगों ने जनसहयोग से 4.50 लाख का चंदा भी किया है। मनरेगा से भी कुछ फंड दिया है। इनमें से कुछ लोगों के पास जेसीबी थी तो उन्होंने अपनी जेसीबी और ट्रैक्टर तक काम में लगा दिए ताकि बरसात से पहले यहां तालाब का निर्माण पूरा हो जाए। यही नहीं लोग खुद भी इसमें जुटे हुए हैं।
बोरिंग का पानी सूखा, नल जल योजना फेल, 50 हजार क्यूबिक मीटर क्षमता का तालाब करेगा सूखा दूर
बोरिंग का पानी सूखा, नल जल योजना फेल, 50 हजार क्यूबिक मीटर क्षमता का तालाब करेगा सूखा दूर
अमृत सरोवर योजना के तहत बनाए जा रहे तालाब की मदद से आस-पास की बंजर खेती को भी पर्याप्त पानी मिलेगा। जिससे वह बंजर होने से बच जाएगी। पानी पर्याप्त मात्रा में रहेगा तो अन्य फसल भी वह कर सकेंगे। सीईओ जिला पंचायत ऋतुराज सिंह ने बताया कि तालाब बनने के बाद यहां पर एक पार्क को विकसित किए जाएगा। वहां पर एक झंडा लगाया जाएगा। 15 अगस्त, 26 जनवरी व अन्य मौकों पर लोग वहां एकत्र हो सकेंगे। भविष्य में तालाब और उसके पानी को कैसे सुरक्षित रखा जाएगा इसको लेकर भी गांव के लोगों से चर्चा हुई है। उनके लिए ये तालाब बड़ी उम्मीदें लेकर आया है।
इस प्रकार के 100 तालाब बनने हैं जिले में

अमृत सरोवर योजना के तहत जिले में इस तरह के 100 तालाबों का निर्माण किया जाना है। इसमें ऐसे ही स्थानों का चयन करना है जहां अंडरग्राउंड पानी सूख गया है। नल जल योजना भी सफल नहीं हो रही। एक बार तालाब में पानी स्टोर हो गया तो उससे आस-पास के लोगों की समस्या तो दूर होगी। वहीं अंडरग्राउंड वॉटर भी रिचार्ज होगा। इसके लिए जिले में ऐसे स्थानों का चयन किया जा रहा है, जहां पानी की भयावह स्थिति है।
वर्जन

अमृत सरोवर योजना के तहत गुनगा में तलाब का निर्माण किया गया है। इससे यहां वर्षों पुराने पानी की समस्या का समाधान होगा। ग्राउंड वॉटर भी रीचार्ज होगा।

अविनाश लवानिया, कलेक्टर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Maharashtra: ईडी ने शिवसेना नेता संजय राउत को फिर भेजा समन, जमीन घोटाले के मामले में 1 जुलाई को पेश होने के लिए कहाMaharashtra Political Crisis: अब महाराष्ट्र के NCP-कांग्रेस विधायकों पर बीजेपी की नजर! सांसद नासिर हुसैन ने किया बड़ा दावाहाईकोर्ट ने ब्यूरोक्रैसी को दिखाया आईना, कहा- नहीं आता जांच करना, सरकार को भी कठघरे में किया खड़ाIMD Rain Alert: एक हफ्ते तक बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल में भारी बारिश का पूर्वानुमानMukesh Ambani ने जियो के डायरेक्टर पद से दिया इस्तीफा, आकाश अंबानी बने चेयरमैनपीएम मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री को तोहफे में दिए खास बर्तन, जानिए जी-7 के दूसरे दोस्तों को क्या किया गिफ्ट?Maharashtra Political Crisis: शिवसेना के दावे को एकनाथ शिंदे ने नकारा, बोले-अगर आपके संपर्क में विधायक हैं तो उनके नाम का करें खुलासाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में नई सरकार की कवायद हुई तेज, दिल्ली में आज देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हो सकती है मुलाकात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.