scriptBuilding permission to build a house in minute, just adopt this method | घर बनाने की परमिशन के लिए नहीं काटने होंगे चक्कर, चुटकी बजाते मिलेगी अनुमति | Patrika News

घर बनाने की परमिशन के लिए नहीं काटने होंगे चक्कर, चुटकी बजाते मिलेगी अनुमति

मिनटों में मिल जाएगी भवन अनुज्ञा अनुमति, बस अपनाना होगा यह तरीका

भोपाल

Published: March 25, 2022 03:42:50 pm

भोपाल. प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर और राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के शहरों में अब चुटकी में घर बनाने की परमिशन (Building Permission)मिलने लगेगी। इसके लिए नगर निगम और आर्किटेक्ट के चक्कर नहीं काटने पढ़ेंगे।

building_permission_will_be_given_in_minutes.png

इसके लिए सरकार ने मकान का क्षेत्रफल भी तय कर दिया है। अब 105 वर्गमीटर यानी 1127 वर्गफीट तक के आकार वाले प्लॉट्स पर घर बनाने के लिए बिल्डिंग परमिशन मिनटों में मिल जाएगी। इससे पहले लोगों को नगर निगम के इंजीनियरों के चक्कर लगाने पड़ेंगे और साथ ही नक्सा पास कराने के लिए आर्किटेक्ट को भी मोटी फीस देनी पड़ती थी। अब केवल बस मॉडल नक्शे का ऑनलाइन चयन करके फीस जमा करते ही मिनटों में बिल्डिंग परमिशन का सर्टिफिकेट मिल जाएगा।

मध्य प्रदेश सरकार के नगरीय विकास एवं आवास विभाग ने दिल्ली और महाराष्ट्र राज्य की तर्ज पर इस सुविधा को शुरू करने की तैयारी कर ली है। सरकार जल्द ही मध्य प्रदेश भूमि विकास नियम 2012 में संशोधन करके इसे लागू कर देगी। एक्ट में संसोधन के बाद आवेदक को विभाग की वेबसाइट पर जाना होगा और ऑटोमैटिक बिल्डिंग परमिशन सिस्टम (एबीपीएस) सॉफ्टवेयर में एप्लाई करना होगा। डिटेल्स सबमिट करते ही मॉडल नक्शे के सेंपल सामने आ जाएंगे। नक्से का चयन करते ही सॉफ्टवेयर प्लॉट का प्रॉपर्टी टैक्स देखकर फीस की गणना कर स्क्रीन पर दिखा देगा और जैसे ही फीस जमा होगी इंस्टेंट एंड डीम्ड टू बी के नाम से परमिशन सर्टिफिकेट मिल जाएगा।

नए सिस्टम के लागू होने के बाद प्लॉट पर मकान बनाने के लिए न तो किसी आर्किटेक्ट की जरूरत होगी और न ही फाइल बिल्डिंग परमिशन के अफसरों के पास घूमेगी। पूरा काम ऑनलाइन और सोफ्टवेयर के जरिए अपने आप हो जाएगा और बिल्डिंग परमिशन मिल जाएगी। भूमि विकास नियम में संसोधन के बाद परमिशन की फीस प्लॉट के एरिया के आधार पर तय की गई है। इसके लिए 32, 48, 75, 105, 288 वर्गमीटर के स्लैब बनाए गए हैं जिससे परमिशन के लिए स्लैब को देखकर फीस जमा की जा सके ।

सरकार की नई योजना से सबसे ज्यादा फायदा छोटे प्लॉट मालिकों को होगा। छोटे प्लॉट पर घर बनाने वाले लोगों अभीतक सबसे ज्यादा परेशान होते रहे हैं। इसलिए सरकार ने प्लॉट के साइज को निर्धारित कर दिया है। वही छोटे आकार के प्लॉट पर बिल्डिंग परमिशन का पालन नहीं हो पाने से ज्यादा नुकसान भी नहीं होता है। प्रदेश में फिलहाल दो तरह से बिल्डिंग परमिशन जारी होती रही है। जिसमें 300 वर्गमीटर तक परमिशन लेने के लिए मान्यता प्राप्त आर्किटेक्ट या नगर निगम से परमिशन लेनी होती है और इससे अधिक के प्लॉट साइज के लिए सिर्फ निगम ही परमिशन देता रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Mukhtar Abbas Naqvi ने मोदी कैबिनेट से दिया इस्तीफा, बनेंगे देश के नए उपराष्ट्रपति?काली मां पर टिप्पणी के बाद BJP ने TMC सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत, की गिरफ्तारी की मांगयूपी को बड़ी सौगात, काशी को 1800 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देंगे पीएम Modi, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का करेंगे लोकार्पणDelhi Shopping Festival: सीएम अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, रोजगार और व्यापार को लेकर अगले साल होगा महोत्सवशिखर धवन बने टीम इंडिया के नए कप्तान, वेस्टइंडीज दौरे के लिए भारतीय टीम का हुआ ऐलानकौन हैं डॉ. गुरप्रीत कौर, जो बनने जा रही हैं भगवंत मान की दुल्हनिया? सामने आई तस्वीरसलमान के वकील को लॉरेंस गुर्गों की धमकी, मूसेवाला हाल करेंगेDGCA का SpiceJet को कारण बताओ नोटिस, 18 दिनों में 8 बार आई प्लेन में खराबी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.