बड़ी खबर: कमलनाथ मंत्रिमंडल के कैबिनेट मंत्री ने की इस्तीफे की पेशकश! जानिये पूरा मामला...

छिंदवाड़ा की सभा में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज पर कसा तंज, कहा शिवराज की घोषणाओं से थक गई है जनता...

भोपाल। कांग्रेस में चल रही रस्साकशी के बीच टीम कमलनाथ के एक कैबिनेट मंत्री ने इस्तीफे की पेशकश कर दी है। इस सूचना के सामने आते ही राजनैतिक हलकों में एकएक हलचल बढ़ गई, वहीं कई लोग इस इस्तीफे को कहीं न कहीं कांग्रेस में चल रही बगावत से जोड़कर देखने लगे।

लेकिन पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे द्वारा की गई इस पेशकश का मुख्य कारण कांग्रेस के भीतर किसी प्रकार की उथलपुथल न होकर कमलनाथ को विधायक सीट दिलाना है।

दरअसल छिंदवाड़ा में आयोजित कमलनाथ की सभा में उपस्थित पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे ने कमलनाथ के उपचुनाव के लिए अपनी मुलताई सीट से इस्तीफा देने की पेशकश है।

वहीं दूसरी ओर सौंसर विधायक विजय चौरे और छिंदवाड़ा के दीपक सक्सेना ने भी कमलनाथ से अपनी सीट से चुनाव लडऩे का आग्रह किया। लेकिन इस दौरान सभा में कमलनाथ ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

इधर, अब कमलनाथ नहीं करेंगे घोषणाएं!...
छिंदवाड़ा मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश के मुखिया के रूप में अब कोई नई घोषणाएं नहीं करेंगे बल्कि अधिकारी ही यह जिम्मेदारी निभाएंगे और उसका पालन कराने की जिम्मेदारी भी उनकी होगी। यह बात उन्होंने रविवार को छिंदवाड़ा के पोला ग्राउण्ड में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

यह उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता पिछली शिवराज सरकार की घोषणाओं से थक चुकी है। अब ऐसा नहीं होगा।

सीएम बनने के बाद पहली बार अपने गृह जिले छिंदवाड़ा पहुंचे कमलनाथ ने कहा कि उनकी सरकार के समक्ष युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने और कृषि क्षेत्र को आर्थिक मजबूती देने की चुनौती है। उन्होंने तंज कसा कि देश-प्रदेश में मंदिर मस्जिद से बात नहीं बनेगी।

kamalnath at chindwadi

सीएम कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में औद्योगिक निवेश विश्वास से आएगा। पिछली सरकार ने इस पर काम नहीं किया। उन्होंने मुख्यमंत्री बनाने में छिंदवाड़ा के मतदाताओं की भूमिका का उल्लेख करते हुए धन्यवाद दिया और कहा कि उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत 38 साल पहले सांसद के रूप में छिंदवाड़ा से की थी। इसी जिले का आज मुख्यमंत्री है। यहां का हर विधायक और जनता अपने आप में मंत्री है।


पीएम मोदी पर भी साधा निशाना...
सीएम ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की छिंदवाड़ा में हुई सभा का जिक्र करते हुए कि उन्होंने नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराने के बारे में कुछ नहीं कहा बल्कि उन्हें ही निशाना बनाया। छिंदवाड़ा की जनता ने उन्हें सात सीट कांग्रेस को जिताकर बाहर का रास्ता दिखाया। यहां उन्होंने कहा कि मोदी का मुंह बहुत चलता है।

कलेक्टर ने की घोषणा: छिंदवाड़ा में बनेगा कृषि महाविद्यालय...
सीएम कमलनाथ ने पहली बार मुख्यमंत्री और मंंत्रियों की घोषणाओं की परिपाटी को बदला। उन्होंने छिंदवाड़ा जिले की घोषणा का जिम्मा कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा को सौंपा। इसके बाद शर्मा ने घोषणा की कि छिंदवाड़ा में कृषि महाविद्यालय बनाया जाएगा।

गौरतलब है कि पिछली शिवराज सरकार ने उद्यानिकी कॉलेज की घोषणा की थी। इसमें कृषि को जोड़ दिया गया है। कलेक्टर ने छिंदवाड़ा शहर की पेयजल संकट पर कहा कि एक मार्च से छिंदवाड़ा शहर को नियमित पानी दिया जाएगा।

इसके अलावा जिले में 500 हैंडपंप खनन और जिले के गांवों को जल निगम के माध्यम से पेयजल उपलब्ध कराने की घोषणा भी की। यह भी कहा कि वन विभाग के माध्यम से युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned