आईआईटी और मेडिकल के एंट्रेंस एग्जाम अब नहीं कराएगा सीबीएसई और एआईसीटीई

आईआईटी और मेडिकल के एंट्रेंस एग्जाम अब नहीं कराएगा सीबीएसई और एआईसीटीई
Budget 2017, Budget news, new budget, union budget, education budget, arun jetly, Breaking news, cbse, iit, medical, pmt, entrance exams, bhopal, bhopal news,

Juhi Mishra | Publish: Feb, 01 2017 12:26:00 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

लेकसभा में बजट 2017-18 में बजट पेश करते हुए अरुण जेटली ने यह घोषणा कि एआईसीटीई और सीबीएसई द्वारा कराए जा रहे सारे एग्जाम्स अब एक राष्ट्रीय एजेंसी द्वारा करवाए जाएंगे। 

भोपाल। लेकसभा में बजट 2017-18 में बजट पेश करते हुए अरुण जेटली ने यह घोषणा कि एआईसीटीई और सीबीएसई द्वारा कराए जा रहे सारे एग्जाम्स अब एक राष्ट्रीय एजेंसी द्वारा करवाए जाएंगे। इसके लिए एनईबी (नेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड) का गठन किया जाएगा। इस बारे में एजुकेशन एक्सपर्ट का कहना है कि अस तरह से बोर्ड को सेंट्रलाइज्ड करना प्रैक्टिकली फायदेमंद नहीं होगा।

हायर स्टडी के लिए आईआईटी और मेडिकल के लिए हो रहे सारे एंट्रेंस एग्जाम अब एनईबी द्वारा करवनाए जाएंगे। इस बारे में एक्सपर्ट और प्रिंसिपल एथेस लकेरा का कहना है कि एक ही बोर्ड द्वारा सब कंट्रोल करने से चीजें लेट होंगी, जिससे स्टूडेंट्स को समस्याएं होंगी। एक ही बोर्ड में सारे पेपर्स जाना, करैक्शन करना इन सबमें टाइम लगने से 


सीबीएसई ग्रुप के भोपाल के अध्यक्ष एथेस लकेरा का कहना है कि गर्वमेंट का एक ऑर्डर रात को आता है और सुबह उसे इंप्लीमेंट करना होता है। इस तरह से सिस्टम चलता है। अब बोर्ड को सेंट्रलाइज्ड करने से चीजें मॉनीटर करने में टाइम लगेगा। अगर स्टूडेंट्स को मटेरियल और इंर्फोमेशन टाइम पर मिल सके तो यह डिसीजन अच्छा है। 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned