भोपाल में दिखा थिएटर का दम, 10 यंग आर्टिस्ट को मिली सीसीआरटी स्कॉलरशिप

भोपाल में दिखा थिएटर का दम, 10 यंग आर्टिस्ट को मिली सीसीआरटी स्कॉलरशिप

hitesh sharma | Publish: Jul, 14 2018 08:47:43 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

शहर के 12 युवा कलाकारों को मिली यंग आर्टिस्ट स्कॉलरशिप

 

भोपाल। राजधानी में थिएटर का क्रेज ऐसा है कि साल भर में यहां 300 से अधिक नाटकों का मंचन होता है। भारत भवन, शहीद भवन, रवीन्द्र भवन, जनजातीय संग्रहालय, राज्य संग्रहालय, नर्मदा मंदिर समेत कई स्टूडियो में नाट्य प्रस्तुतियां होती हैं। थिएटर का यह पावर सेंटर फॉर कल्चरल रिसोर्सेस एंड ट्रेनिंग (सीसीआरटी) की स्कॉलरशिप में भी देखने को मिला है।

भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय की ओर से हर साल इंडियन क्लासिकल म्यूजिक, इंडियन क्लासिकल डांस, थिएटर, वर्चुअल आर्ट, फोक आर्ट फॉर्म जैसी विधाओं में यंग आर्टिस्ट को सीसीआरटी स्कॉलरशिप दी जाती है। जिसमें इस बार भोपाल के 10 थिएटर आर्टिस्ट का इस स्कॉलरशिप के चयन हुआ है।

इसके अलावा संतूर वादन और विजुअल आर्ट में भी एक-एक कलाकार को यह स्कॉलरशिप मिली है। थिएटर में तिकर्षि नाट्य संस्था, एकरंग सोश्यो कल्चरल सोसाइटी, विहान सोश्यो कल्चर और सघन सोसाइटी फॉर कल्चरल एंड वेलफेयर के कलाकार शामिल हैं।

 

इन्हें मिली स्कॉलरशिप
अंकित पारोचे-थिएटर

पूजा मालवीय - थिएटर
प्रज्ञा चतुर्वेदी - थिएटर

शांतनु पाण्डेय - थिएटर
मधुसूदन - थिएटर

आयुष शर्मा - थिएटर
संचिता श्रीवास्तव- थिएटर

अनुराग जैन - थिएटर
अनुज शुक्ला - थिएटर

हर्ष पांडेय - थिएटर
निनाद अधिकारी - संतूर

शुभम वर्मा - विजुअल आर्ट पेटिंग
इन विधाओं में मिलती है स्कॉलरशिप

1- इंडियन क्लासिकल म्यूजिक
2- इंडियन क्लासिकल डांस

3- थिएटर, माइम
4- विजुअल आर्ट

5- फोक, ट्रेडिशनल एंड इंडीजेनस आर्ट
6- लाइट क्लासिकल म्यूजिक

 

18 से 25 वर्ष तक युवा ले सकते हैं हिस्सा

सीसीआरटी स्कॉलरशिप में 2017-18 में देश भर से 315 और वर्ष 2016-17 में 312 प्रतिभागियों का चयन हुआ है। इस स्कॉलरशिप के लिए ऑनलाइन आवेदन किए जाते हैं जिसके इंटरव्यू उदयपुर में हुए थे। इसमें 18 से 25 वर्ष तक के युवा कलाकार हिस्सा ले सकते हैं। देश भर में 400 युवाओं को यह स्कॉलरशिप दी जाती है।

सितार वादक स्मिता नागदेव का नाम पहले स्थान पर
भोपाल समेत देश की प्रसिद्ध सितार वादक स्मिता नागदेव को भी वर्ष 1984 में जूनियर स्कॉलरशिप और वर्ष 1995 में सीनियर स्कॉलरशिप मिल चुकी है। भोपाल की स्मिता का नाम सीसीआरटी ने अपनी वेबसाइट पर उन कलाकारों की लिस्ट में पहले स्थान पर रखा है जिन्होंने यह स्कॉलरशिप मिलने के बाद देश-विदेश में अपनी पहचान बनाई है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned