scriptCentral government decision to implement Treasury Single Account Model | Good News- अब निचले स्तर पर भी योजनाओं में समय पर मिलेगा पैसा | Patrika News

Good News- अब निचले स्तर पर भी योजनाओं में समय पर मिलेगा पैसा

- केंद्र सरकार ने लिया ट्रेजरी सिंगल अकाउंट मॉडल लागू करने का फैसला

- अब रियल टाइम निगरानी, क्विक ट्रांसफर करनी होगी 500 करोड़ से ज्यादा की रकम

भोपाल

Published: June 04, 2022 12:17:42 pm

भोपाल@जितेंद्र चौरसिया

केंद्रीय योजनाओं की राशि के मामले में अब प्रदेश में रियल टाइम मॉनीटरिंग होगी। केंद्र सरकार ने 500 करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि के लिए ट्रेजरी सिंगल अकाउंट (टीएसए) मॉडल लागू करने का फैसला लिया है।

money_real_time_monitoring.png

मध्यप्रदेश को इसी मॉडल के तहत 500 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम विभिन्न सरकारी एजेंसी-विभाग में जारी करने के लिए कहा गया है। इससे न केवल रियल टाइम मॉनीटरिंग होगी, बल्कि योजनाओं में पैसा समय पर पहुंचेगा। साथ ही बजट आवंटन की देरी से योजनाओं के काम अटकने पर लगाम लगेगी। एक मद का पैसा दूसरी मद में खर्च करने की प्रवृत्ति भी खत्म होगी।

ये होगा बड़ा फायदा... दूसरी मदों में खर्च करने की प्रवृत्ति पर लगेगी लगाम
ऐसा रहेगा सिस्टम-
: केंद्रीय योजनाओं मेेंं 500 करोड़ से ज्यादा की राशि के आवंटन पर सिंगल ट्रेजरी सिस्टम रहेगा। केंद्रीय नोडल एजेंसी के जरिए बाकी विभाग या एजेंसी को पैसा ट्रांसफर होगा।

: प्रत्येक नोडल एजेंसी ई-कुबेर में आरबीआइ के साथ खाता खोलेगी। हर केंद्रीय योजना के लिए ई-कुबेर में अलग खाता होगा। खातों को आइएसए मॉड्यूल में मैप करेंगे।

: इसके परिणामस्वरूप नोडल एजेंसी व सरकारी विभाग दूसरे बैंक खाते नहीं खोल सकेंगे। आरबीआइ से यह खाते जुड़े रहेंगे, इसलिए ये असाइनमेंट अकाउंट्स होंगे।

: केंद्रीय मद के मामले में वेतन-भत्तों के खाते इसके तहत आएंगे। इसका पूरा ई-रिकार्ड तैयार होगा। सिस्टम डिजिटल होगा। इसका ई-वेरीफिकेशन और ऑडिट होगा।

कवायद इसलिए
केंद्र सरकार सरकारी विभागों के आर्थिक व्यवहार को स्पेशल बजट अकाउंटिंग सिस्टम के जरिए ऑनलाइन कर रही है। आर्थिक लेन-देन की हर स्तर पर अपलोडिंग शुरू की है। इसी कड़ी में यह नया कदम उठाया जा रहा है। इससे राशि का ट्रांसफर तेज होगा।

अब ये होगा फायदा
: केंद्रीय फंड के उपयोग की बेहतर निगरानी हो सकेगी।
: एक मद का पैसा दूसरी मद में खर्च करने की प्रवृत्ति पर रुकेगी।
: समय पर योजनाओं का पैसा निचले स्तर तक पहुंच सकेगा।
: ऑडिट में आसानी होगी, समय पर लेखा-जोखा मिल सकेगा।
: उपयोगिता प्रमाण-पत्र व अन्य दस्तावेज में आसानी रहेगी।
: योजनाओं का काम तेज होगा। अप्रत्यक्ष रूप से जनता को लाभ।
: अलग-अलग ढेरों बैंक खाते रखने की प्रवृत्ति पर भी रोक।

अभी ये सिस्टम
1. वर्तमान में केंद्र से मिलने वाले फंड को विभागों के स्तर पर मुख्यालय से दूसरी जगह एजेंसियों या जिलों में पहुंचने में समय लगता है। कई बार इनके लेप्स होने या वित्तीय सत्र के आखिरी समय में पहुंचने की लापरवाही उजागर हुई है।

2. एक मद का पैसा दूसरी मद में खर्च करने की प्रवृत्ति भी इसी कारण बढ़ी है। राशि के तुरंत ट्रांसफर न होकर लंबे समय बाद देने से दिक्कतें होती हैं।

3. योजनाओं में निचले स्तर तक पैसा देर से पहुंचता है, जिससे काम प्रभावित होते हैं। दूसरा ऑडिट में लंबा समय लगता है। उपयोगिता प्रमाण-पत्र केंद्र को समय पर नहीं पहुंच पाते, जिससे आगे की किश्तों पर असर पड़ता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा ऐलान, सरकार बनी तो किसानों का तीन लाख तक का कर्ज होगा माफBJP का महागठबंधन पर बड़ा हमला, सांबित पात्रा बोले- नीतीश-तेजस्वी के साथ आते ही बिहार में जंगलराज शुरूबिहार कैबिनेट पर दिल्ली में मंथन, आज शाम सोनिया गांधी से मिलेंगे तेजस्वी यादव, 2024 के PM कैंडिडेट पर बोले नीतीश कुमारCoronavirus News Live Updates in India : राजस्थान में एक्टिव मरीज 4 हजार के पारRajasthan BSP : 6 विधायकों के 'झटके' से उबरने की कवायद, सुप्रीमो Mayawati की 'हिदायत' पर हो रहा काम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.