scriptcheetahs to be translocated from africa to kuno national park | यह है दुनिया का सबसे तेज दौड़ने वाला जानवर, 73 साल बाद यहां आएगा नजर | Patrika News

यह है दुनिया का सबसे तेज दौड़ने वाला जानवर, 73 साल बाद यहां आएगा नजर

kuno national park- टाइगर स्टेट में संरक्षित करने के लिए लाए जाएंगे अफ्रीकन चीता...।

भोपाल

Updated: February 21, 2022 03:02:16 pm

भोपाल। मध्यप्रदेश के जंगलों में 73 वर्षों बाद दुनिया का सबसे तेज दौड़ने वाला जानवर चीता नजर आएगा। दुनियाभर में लुप्त होने की कगार पर पहुंच गए चीतों का संरक्षण अब मध्यप्रदेश में होगा। एक-दो माह में अफ्रीका से करीब 20 चीते लाए जाएंगे।

chitah.jpg

एक-दो माह में मध्यप्रदेश की धरती पर चीतों की चहल-कदमी नजर आएगी। प्रदेश के बड़े अफसरों की एक टीम इन दिनों दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया में है। माना जा रहा है कि मार्च से लेकर अप्रैल तक यह चीते मध्यप्रदेश के कूनो पार्क में लाए जाएंगे। यह पार्क चीतों के लिए सबसे अनुकूल है।

प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) जसवीर सिंह के नेतृत्व में अधिकारियों का एक दल 17 फरवरी को दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया के दौरे पर है। अधिकारियों का यह दल चीतों को भारत लाने के लिए वहां की सरकार के साथ चर्चा कर रहा है। 25 फरवरी को यह दल भारत लौट आएगा।

तीन वर्षों से चल रहा इंतजार

अफ्रीकन चीतों को मध्यप्रदेश लाने के लिए तीन साल से प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथारिटी को इसकी मंजूरी दी थी, प्रयोग के लिए अफ्रीकन चीते भारत के जंगलों में लाए जाएंगे।

2021 में फिर टल गया था मामला

इससे पहले मध्यप्रदेश सरकार 2021 में स्थापना दिवस 1 नवंबर के मौके पर इन चीतों को कूनो नेशनल पार्क में लाना चाहती थी, लेकिन केंद्र सरकार से तारीख नहीं मिल पाने की वजह से यह मामला फिर फाइलों में अटक कर रह गया था।

20 चीते लाने का प्लान

कूनो नेशनल पार्क में फिलहाल 20 चीतों को लाने का प्लान तैयार है। पिछले साल अगस्त में केंद्रीय विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने चीतों को भारत लाने की तैयारी को लेकर पर्यावरण मंत्रालय से चर्चा की थी। दो चरणों में 10 नर और 10 मादा चीते को लाने का प्लान है। इससे पहले वन्य जीवों के ट्रस्ट (इडब्ल्यूटी) की ओर से 8 चीतों को देने का फैसला हुआ था, जिनमें पांच नर चीता और तीन माता शामिल थे।

चीतों का अच्छा आवास है कूनो नेशनल पार्क

मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में इन चीतों को लाने का प्लान इसलिए भी तैयार हुआ है कि यह चीतों के लिए सबसे अच्छा आवास है। चीतों के लिए यहां आदर्श घास का मैदान और शिकार का पर्याप्त आधार है। इससे पहले मध्यप्रदेश के साथ ही झारखंड और राजस्थान में भी चीता को बसाने की संभावनाएं तलाशी गई थी, लेकिन कूनो ही सबसे अच्छी जगह मानी गई थी। वैज्ञानिकों ने भी कूनो अभ्यारण की जलवायु और भौगोलिक स्थिति के लिए सबसे अनुकूल पाया था।

अगले एक-दो माह में यदि चीता मध्यप्रदेश लाया जाता है तो यह 73 वर्षों बाद नजर आएगा। वर्ष 1947 में ली गई सरगुजा महाराज रामानुशरण सिंह के साथ चीते की तस्वीर को अंतिम मान लिया गया था। 1952 में भारत सरकार ने चीतों को विलुप्थ जीव घोषित कर दिया था। गुजरात के गिर अभ्यारण्य से बब्बर शेर न मिलने पर भारत सरकार ने 2010 में कूनो में चीता बसाने की योजना बनाई थी।

Asian cheetah roar once echoed in Thar

चीताः एक नजर

  • चीता शब्द की उत्पत्ति संस्कृत शब्द चित्रकायः से हुई है।
  • एक छलांग में 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार।
  • इसी स्पीड से 460 मीटर तक लगातार दौड़ने की क्षमता।
  • तीन सेकंड में ही 103 की रफ्तार पकड़ लेता है।
  • 23 फीट लंबी तक की छलांग लगाने में माहिर।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

IPL 2022 MI vs SRH Live Updates : रोमांचक मुकाबले में हैदराबाद ने मुंबई को 3 रनों से हरायामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...जम्मू कश्मीर के बारामूला में आतंकवादियों ने शराब की दुकान पर फेंका ग्रेनेड,3 घायल, 1 की मौतमॉब लिंचिंग : भीड़ ने युवक को पुलिस के सामने पीट पीटकर मार डाला, दूसरी पत्नी से मिलने पहुंचा थादिल्ली के अशोक विहार के बैंक्वेट हॉल में लगी आग, 10 दमकल मौके पर मौजूदभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगाकर्नाटक के राज्यपाल ने धर्मांतरण विरोधी विधेयक को दी मंजूरी, इस कानून को लागू करने वाला 9वां राज्य बनाSwayamvar Mika Di Vohti : सिंगर मीका का जोधपुर में हो रहा स्वयंवर, भाई दिलर मेहंदी व कॉमेडियन कपिल शर्मा सहित कई सितारे आए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.