scriptchild age of reading- writing, some are selling newspapers nd balloons | पिता शराब पीते हैं, मां घर संभालती हैं, अब पेट भरने के लिए किसी को तो कमाना पड़ेगा | Patrika News

पिता शराब पीते हैं, मां घर संभालती हैं, अब पेट भरने के लिए किसी को तो कमाना पड़ेगा

बाल श्रम निषेध दिवस: पढऩे-लिखने की उम्र में कोई अखबार तो कोई बेच रहा गुब्बारे

भोपाल

Published: June 12, 2022 11:32:16 am

भोपाल@शगुन मंगल

बच्चों के बचपन को बचाने के साथ ही लोगों के बीच इसके लिए जागरूकता फैलाने के लिए हर साल 12 जून 2022 को विश्व बालश्रम निषेध दिवस (World Day Against Child Labour) मनाया जाता है। ये दिन दुनियाभर के 100 से ज्यादा देशों में मनाया जाता है। तो चलिए आज हम बालश्रम से जुड़े भोपाल के बच्चों की जिंदगी पर नजर डाले हैं...

bal_kshram.jpg

पिता शराब पीते हैं, तो मां घर सभांलती हैं, वहीं 12 साल का हारुन (परिवर्तित नाम) परिवार के गुजारे के लिए हर रोज दोपहर होते ही अखबार बेचने भोपाल की सड़कों पर निकल जाता है। हारुन को क्रिकेट पसंद है, लेकिन मजबूरी ने पूरा बचपन ही छीन लिया।

पूरे दिन में 50 रुपए कमाकर जब वो अपनी मां को देता है तो उसे बड़ी खुशी मिलती है, लेकिन उसे ये सब काम करना अच्छा नहीं लगता। स्कूल से आकर फिर काम से निकल जाता है। हारुन के पिता सब्जी का ठेला लगाते हैं, लेकिन पूरी कमाई शराब पीने में ही उड़ा देते हैं। कोरोनाकाल के बाद मां के पास भी काम नहीं है। ऐसे में हारुन और उसका बड़ा भाई दोनों बचपन से ही मजदूरी करते हैं।

हारुन बताता है कि कई बार तो उसके अखबार आसानी से बिक जाते हैं, लेकिन कई बार उसे जबरदस्ती लोगों को देने पड़ते हैं। इस बीच लोगों की डांट फटकार भी सुननी पड़ती है, लेकिन वो निराश नहीं होता।

अब इस काम में मजा आता है: ट्रैफिक लाइट्स में गुब्बारे बेचने वाली 8 साल की नीना (परिवर्तित नाम) घर में अकेली कमाने वाली है। उसने 10वीं तक पढ़ाई की है। क्योंकि कभी कुछ और करने का मौका ही नहीं मिला तो इसी काम में मजा आने लगा है। दिन भर में 10 गुब्बारे बेचकर 100 रुपए कमा लेती है।

13 साल के मासूम पर 9 भाई-बहन का जिम्मा: महज 13 साल की उम्र में सोहेल (परिवर्तित नाम) नौ भाई-बहनों में सबसे छोटा है, लेकिन कई सालों से काम कर रहा है। आइसक्रीम पार्लर के आस पास गुब्बारे बेचता है और जो कुछ भी कमाता है उनसे सिर्फ अपने घर के लिए सामान लेता है।

बाल मजदूरी को ऐसे समझें
दरअसल बचपन को जीवन का सबसे अनमोल समय माना जाता है। लेकिन, इसी बचपन में पढ़ाई लिखाई के बजाय अगर बच्चे बाल मजदूरी करने लगे तो उनका बचपन नष्ट हो जाता है। ऐसे में यह जान लें कि हर साल करोड़ों बच्चे पढ़ाई लिखाई छोड़कर बाल मजदूरी में लग जाते हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनियाभर में करीब हर 10 बच्चों से एक बच्चा बाल मजदूरी का शिकार है। लेकिन, साल 2000 के बाद से दुनिया में बाल मजदूरी करने वाले बच्चों की संख्या में कमी आई है। इंटरनेशनल लेबर ऑर्गेनाइजेशन (International Labour Organisation) के आंकड़ों के अनुसार अब भी दुनियाभर में करीब 152 मिलियन बच्चे बाल मजदूरी करते हैं, जिसमें 72 मिलियन बच्चे बेहद खतरनाक स्थिति में काम करते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री मोदी आज गोवा में ‘हर घर जल उत्सव’ को करेंगे संबोधितकर्नाटक की राजनीति: येडियूरप्पा के लिए भाजपा ने क्यों बदला अलिखित नियमदिग्विजय सिंह का बड़ा बयान, बिल्डरों के साथ मिलकर कृषि कॉलेज की जमीन को बेच रहे अफसर-नेतापंजाब के अटारी बॉर्डर के पास दिखा ड्रोन, BSF की फायरिंग के बाद पाकिस्तान की तरफ लौटाविश्व कुश्ती चैंपियनशिप में प्रियांशी ने जीता कांस्यकौन हैं IAS राजेश वर्मा, जिन्हें किया गया राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का सचिव नियुक्त?IND vs ZIM: शिखर धवन और शुभमन गिल की शानदार बल्लेबाजी, भारत ने जिम्बाब्वे को 10 विकेट से हरायापटना मेट्रो रेल के भूमिगत कार्य का CM नीतीश कुमार ने किया उद्घाटन, तेजस्वी यादव भी रहे मौजूद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.