स्पीकर को लेकर मंथन जारी, विंध्य से मंत्री पद का दबाव

- सियासी कशमकश : कांग्रेस खड़ा कर सकती है उम्मीदवार

By: anil chaudhary

Published: 15 Jul 2020, 05:04 AM IST

भोपाल. विधानसभा के मानसून सत्र की शुरुआत 20 जुलाई को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के चुनाव से होगी। भाजपा ने तय किया है कि वो यह दोनों पद अपने पास रखेगी। पहले उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को देने की परंपरा रही है, लेकिन पिछली बार कांग्रेस ने यह परंपरा तोड़ दी थी।
सूत्रों के मुताबिक इन दोनों पदों पर मंत्री पद नहीं मिलने से असंतुष्ट नेताओं को बैठाया जा सकता है। स्पीकर का पद विंध्य को देने का फॉर्मूला भी सामने आया है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि वहां के कुछ नेता इसकी जगह मंत्री और निगम-मंडल में अध्यक्ष की मांग कर रहे हैं। एक पूर्व मंत्री ने इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा की है। हालांकि, 33 मंत्री बन जाने के कारण फिलहाल ये मामला टलता नजर आ रहा है। एक दो दिनों में संगठन तय कर लेगा कि इन पदों पर किसे बैठाया जाए।
विधानसभा के आगामी सत्र हंगामेदार रहने की पूरी संभावना है। ऐसे में भाजपा विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी पर किसी ऐसे विधायक को बैठा सकती है, जो मुश्किल परिस्थितियों में दृढ़ता से निर्णय ले सके। ऐसे में विधायकों की वरिष्ठता को भी दरकिनार किया जा सकता है।

- साधेंगे जातीय समीकरण
सूत्रों के मुताबिक विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष में से एक पद सवर्ण वर्ग को देने की तैयारी है। मंत्रिमंडल में ब्राह्मण चेहरों को दावेदारी के बावजूद दरकिनार कर दिए जाने से यहां एडजस्ट करने की तैयारी है। उधर, डिप्टी स्पीकर पर अनुसूचित जाति या जनजाति वर्ग के किसी विधायक को बैठाया जा सकता है। सत्र के दूसरे दिन इन दोंनों पदों के चुनाव होने की संभावना है।
- अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार उतार सकती है कांग्रेस
कांग्रेस विधायक दल की बैठक 19 जुलाई को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के निवास पर होने जा रही है। पार्टी विधानसभा अध्यक्ष के लिए अपनी तरफ से कोई उम्मीदवार उतार सकती है। हालांकि, कांग्रेस के पास सिर्फ 91 विधायक हैं, लेकिन रणनीति के तहत कांग्रेस अध्यक्ष पद पर उम्मीदवारी का दांव खेल सकती है। यह उम्मीदवार आदिवासी नेता हो सकता है। हालांकि, कांग्रेस विधायक दल में इस बात को लेकर अलग-अलग मत हैं। इसका अंतिम फैसला विधायक दल की बैठक में ही लिया जाएगा।
- बजट पर वोटिंग की योजना
कांग्रेस बजट के समय वोटिंग कराने की योजना पर भी विचार कर रही है। इस वोटिंग के जरिए कांग्रेस देखेगी कि आखिर भाजपा में कितने लोग नाराज हैं। कांग्रेस को लगता है कि नाराजगी के कारण कई विधायक अनुपस्थित रहें और कुछ विधायक वोटिंग में हिस्सा न लें। कांग्रेस विधायक दल की बैठक में इस पर भी बात की जाएगी। इसके अलावा किसान और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर भी सरकार को घेरने की तैयारी की जा रही है। कांग्रेस दल-बदल कराकर सरकार बनाने के मुद्दे पर भी भाजपा को आड़े हाथों लेगी।

विधानसभा सत्र के पहले कांग्रेस विधायक दल की बैठक आयोजित की गई है। इस बैठक में सत्र से संबंधित रणनीति तैयार की जाएगी।
- कमलनाथ, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष

स्पीकर और डिप्टी स्पीकर पद को लेकर विचार चल रहा है। जल्द ही संगठन इस पर निर्णय करेंगे।
- वीडी शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष भाजपा

Kamal Nath
anil chaudhary Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned