5 बजते ही हर घर से बजी थालियां, तालियां और शंख, योद्धाओं का देश ने किया दिल से सम्मान

जैसे ही शाम के 5 तो खाली पड़े मोहल्लों में जैसे रौनक लौट आई। हर खिड़की, दरवाजे, बलकनी यहां तक की छतों से थालियां, तालियां और शंख बजने की आवाजें गूंजने लगीं।

By: Faiz

Published: 22 Mar 2020, 06:20 PM IST

भोपाल/ 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन पीएम मोदी के आहवान का देशभर में समर्थन देखने को मिला सुबह 7 बजे से ही सड़कों पर पसरा सन्नाटा कहीं न कहीं ये कहता हुआ लगा कि, कोरोना से जंग जीतने के लिए पूरा देश एकजुट है। वहीं, जैसे ही शाम के 5 तो खाली पड़े मोहल्लों में जैसे रौनक लौट आई। हर खिड़की, दरवाजे, बलकनी यहां तक की छतों से थालियां, तालियां और शंख बजने की आवाजें गूंजने लगीं। ये नजारा भोपाल शहर के हर घर में देखने को मिला। खबर है कि, पूरे मध्य प्रदेश के घरों में लोगों ने ऐसा किया। पांच मिनट की इस गतिविधि को करके जनता ने देश के उन योद्धाओं को सम्मान दिया, जो इस तेजी से फैलते संक्रमण की जटिल परिस्थिति में भी देशवासियों की सेवा में जुटे हैं।

हर घर से गूंज रही थी ताियों की आवाज

दरअसल, पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना के बढ़ते दंश को देखते हुए देश को संबोधित किया था। इस संबोधन में उन्होंने देशवासियों से आज यानी रविवार के दिन जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की थी। साथ ही, ये आह्वान भी किया था कि, जिस दिन आप लोग मिलकर जनता कर्फ्यू लगाएंगे, उस दिन सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक अपने अपने घरों पर रहें। लेकिन, शाम 5 बजे सिर्फ 5 मिनट के लिए अपनी खिड़की या बालकनी में आकर ताली या थाली बजाकर उन लोगों को सम्मान दें, जो इस विपरीत परिस्थिति में जब पूरा भारत अपने अपने घरों में होगा, तब देश की सेवा के लिए सड़कों पर होंगे। प्रधानमंत्री के इस आह्वान पर राजधानी भोपाल ही नहीं बल्कि देशभर के लोगों ने देश के इन योद्धाओं का उत्साह बढ़ाने के लिए उनके सम्मान में अपने अपने घरों से तालियां, शंख और थालियां बजाई। कहीं कहीं तो लोग घरों से पटाखे फोड़ते भी नजर आए।

 

पढ़ें ये खास खबर- Coronavirus Update :चीन के बाद अब यहां शुरु हुआ ड्रोन से केमिकल छिड़काव, बना भारत का पहला शहर

 

इन लोगों का किया गया सम्मान

पीएम मोदी के आह्वान के अनुसार, जनका कर्फ्यू के दिन जब पूरा देश अपने घरों में रहकर कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहा होगा। उस दौरान देश में कुछ लोग ऐसे भी है, जिनका अपने घरों से बाहर रहकर देश सेवा करना भी जरूरी है। पीएम ने कहा कि, ये लोग अपनी जान की परवाह किये बिना हमारी (देशवासियों की) सेवा में लगे हैं। हमें सिर्फ पांच मिनट के लिए ताली बजाकर इनका सम्मान करना चाहिए, ताकि इनका उत्साह बढ़े। इन योद्धाओं में सड़कों पर गश्त करके व्यवस्थाओं को नियंत्रण में रखने वाली पुलिस, अस्पतालों में मरीजों की सेवा करने वाले चिकित्सक और संबंधित स्टाफ, नगर निगम के सफाई कर्मी, घरों घर पार्सल लाने वाला पार्सल-मेन या पोस्ट-मेन और हम समय हमतक एक एक खबर का अपडेट पहुंचाने वाला मीडिया आदि लोग शामिल हैं।

Coronavirus information
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned