कोरोना का खतराः महाराष्ट्र की सीमा पर रहेगी सरकार की नजर, जरूरी होगा कोरोना टेस्ट

मध्यप्रदेश में भी अचानक कोरोना के बढ़ते मामले के बाद सीएम ने की समीक्षा बैठक...।

By: Manish Gite

Published: 22 Feb 2021, 06:36 PM IST

 

भोपाल। महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश में आने वालों की अब सख्त निगरानी होगी। कोरोना के मामले देखते हुए सतर्कता जरूरी है। भोपाल और इंदौर में तत्काल मास्क सभी के लिए लगाने का अनिवार्य कर दिया जाए। कोई भी व्यक्ति बगैर मास्क के निकलता हुआ दिखे तो कार्रवाई की जाए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार शाम को मंत्रालय में आयोजित समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। चौहान मध्यप्रदेश में अचानक कोरोना के मामले बढ़ने के बाद समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। इस दौरान उन्होंने सभी कलेक्टर्स को भी निर्देश दिए।

गौरतलब है कि पिछले 24 घंटों के दौरान 294 नए संक्रमित सामने आए हैं। इनमें इंदौर में 104 और भोपाल में 76 प्रकरण सामने आए हैं। इससे कुछ दिन पहले तक इन दोनों ही शहरों में कोरोना के मामले 18 तक आ रहे थे।

 

 

महाराष्ट्र में लॉकडाउन

पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में अचानक तेजी से संक्रमित बढ़ने के बाद कई जिलों में लॉकडाउन कर दिया गया है, वहीं कुछ जिलों में रात का कर्फ्यू लगा दिया गया है। कई पाबंदिया लगाई जाने के बाद मध्यप्रदेश में भी सरकार सतर्क हो गई है। इसी सिलसिले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में सोमवार शाम को समीक्षा बैठक हुई। जिसमें स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी विवेक जौहरी आदि शामिल थे।

हालांकि प्रदेश में पहले से ही मास्क पहनना अनिवार्य है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से लोग लापरवाह हो गए हैं और प्रशासन की तरफ से भी ढिलाई बरती जा रही थी। इसी सिलसिले में अब भोपाल और इंदौर जिले में सख्ती बढ़ाने को कहा गया है।

 

सभी रखें सावधानी

मुख्यमंत्री ने कहा है कि जरा-सी लापरवाही विकराल रूप ले सकती है। महाराष्ट्र से लगे सभी जिलों में आने वाले लोगों की जांच की जाए। चौहान ने सभी कलेक्टर्स को भी निर्देश दिए कि वे अपने-अपने जिलों में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक तत्काल आयोजित करें। आवश्यक सावधानी के संबंध में तुरंत निर्णय लें।

 

त्योहार पर रखें सतर्कता

कुछ दिनों में त्योहार आने वाले है। शिवरात्रि पर्व पर मध्यप्रदेश के कई धार्मिक स्थल पर मेले का आयोजन किया जाता है, जिसमें बड़ी संख्या में लोग आते हैं। ऐसी स्थिति में सतर्कता और जागरूकता की जरूरत है। विशेषकर महाराष्ट्र से लगे जिलों में आयोजित होने वाले मेलों में सहभागिता के संबंध में RT PCR (आरटी पीसीआर) के परीक्षण जरूरी किया जाए।

 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे पुराने आदेश

इधर, मध्यप्रदेश में लॉकडाउन की खबरों को लेकर कई अफवाह और पुराने सरकारी आदेश वायरल किए जा रहे हैं। जिसमें सख्त लाकडाउन लगाए जाने की बातें की जा रही है। इधर, स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने सोमवार को सुबह ही सोशल मीडिया पर पुराने निर्देसों को चलाना बताया था। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ऐसा कोई आदेश नहीं निकाला गया है। जो भी निर्देश आएंगे वे देर शाम को दिए जाएंगे।

Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned