अब Whatsapp से भी कर सकेंगे CM Helpline पर शिकायत, Government Scheme की भी मिलेगी जानकारी

मध्य प्रदेश में अब सीएम हेल्पलाइन हुई और भी सुलभ : शिकायत करने से लेकर उसकी पूरी जानकारी तत्काल मिलेगी, योजनाओं के बारे में भी जान सकेंगे।

By: Faiz

Published: 15 Oct 2020, 08:53 PM IST

भोपाल/ मध्य प्रदेश के रहवासियों के लिए सीएम हेल्पलाइन की व्यवस्था अब और भी सुलभ हो गई है। अब से जरूरत पड़ने पर शिकायतकर्ता अपनी शिकायत सीएम हेल्पलाइन के वॉट्सऐप नंबर पर भी दर्ज करा सकते हैं। यानी अब शिकायतकर्ता के लिए अब कॉल वैटिंग और नेटवर्क बिजी होने की समस्या से जूझना नहीं पड़ेगा। शिकायतकर्ता सीएम हेल्पलाइन पर बिना कॉल किए भी शिकायत दर्ज करा सकेगा। यही नहीं वॉट्सऐप पर शिकायतकर्ता करने पर वर्तमान स्थिति के बारे में तुरंत जानकारी दी जाएगी। प्रदेश सरकार द्वारा व्यवस्था को सुचारू करने के लिए वॉट्सऐप नंबर जारी किया है। नंबर की मदद से प्रदेश का कोई भी व्यक्ति अपने मोबाइल फोन से कोई भी शिकायत आसानी से दर्ज करा सकते हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- खुलासा : रेप ही नहीं बुजुर्गों से अत्याचार के मामले में भी देशभर में नंबर-1 है मध्य प्रदेश


इस नंबर पर करें शिकायत

शासन ने लोगों की मदद के लिए एक वॉट्सऐप नंबर जारी किया है। कोई भी वॉट्सऐप नंबर +91-7552555582 इस पर अब कहीं से कोई भी शिकायत कर सकता है। उसे बस अपने मोबाइल फोन पर इस नंबर को सेव करना होगा। उसके बाद वॉट्सऐप ऑप्शन में जाकर वो अपनी बात रख सकते हैं। अपनी तरफ से सिर्फ हाए लिखना होता है। उसके बाद चार विकल्प सामने आते हैं। इसमें शिकायत की स्थिति। नवीन शिकायत दर्ज कराना। योजनाओं की जानकारी और अन्य जानकारी शामिल होती है। बस अपना प्रश्न या अपनी समस्या मैसेज के रूप में लिखनी होगी। आगे की प्रोसेस अपने आप होती जाती है। बस उस प्रोसेस के अनुसार उसका जवाब देना होता है। किसी योजना की जानकारी के लिए इसमें एक लिंक आती है। इससे सरकार द्वारा आगामी योजनाओं के बारे में जानकारी भी मिल जाती है।

 

पढ़ें ये खास खबर- खुलासा : दलित बच्चियों से रेप के मामले में नंबर-1 है ये राज्य, छेड़छाड़ में भी अव्वल

 

अबतक इस व्यवस्था से हो रहा काम

मध्य प्रदेश में लोगों की शिकायत सुनने के लिए 181 सीएम हेल्पलाइन नंबर है। इस पर व्यक्ति अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। उसे इस नंबर पर कॉल करना होता है। कॉल सेंटर में बैठ व्यक्ति अटेंड कर शिकायत दर्ज कराते हैं। वे फिर संबंधित विभाग को उस शिकायत को फॉरवर्ड कर देते हैं। उसके बाद संबंधित विभाग का अधिकारी शिकायतकर्ता से संपर्क कर शिकायत के निवारण के लिए काम करता है। ऐसे में कई बार शिकायत करने के बाद भी उसकी पूरी जानकारी नहीं मिल पाती। पीड़ित को कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते हैं। इसी से बचाने के लिए अब वॉट्सऐप नंबर दिया गया है, ताकि वह अपनी समस्या ऑनलाइन कभी भी देख सकें।

 

पढ़ें ये खास खबर- VIDEO : पर्यटकों के लिए जल्द खुलेगा राजवाड़ा और अहिल्या फोर्ट, कलेक्टर-एसपी ने किया निरीक्षण

 

ये थी समस्या

सीएम हेल्पलाइन में अधिक कॉल होने पर कई बार आवेदक को तत्काल शिकायत करने में दिक्कत होती थी। कॉल नहीं लगने की शिकायत भी रहती थी। इसी को देखते हुए वॉट्सऐप की अलग से सेवा शुरू की। हालांकि हेल्पलाइन नंबर भी जरी रहेगा। लोग अपनी सुविधा के अनुसार इनका उपयोग कर सकते हैं।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned