कैबिनेट मीटिंग में गुस्से में सीएम! तीन मंत्रियों को डपटा तो किसी ने नहीं उठाया कोई मुद्दा

सीएम ने मंत्रियों से कहा कि अभी बैठ जाओ

By: Muneshwar Kumar

Published: 07 Mar 2020, 01:59 PM IST

भोपाल/ सियासी गहमागहमी के बीच शुक्रवार को भोपाल में सीएम कमलनाथ ने कैबिनेट की मीटिंग की थी। कैबिनेट की बैठक के दौरान पूरी तरह से सियासी ड्रामा हावी रहा। सीएम की बातों से लग रहा था कि वह झल्लाए और परेशान हैं। इसका असर बैठक के दौरान देखने को मिला, जब सीएम तीन कैबिनेट मंत्रियों को डपट दिया। उसके बाद किसी ने कोई सवाल नहीं पूछा।

दरअसल, शुक्रवार को सीएम ने बैठक में पहुंचते ही कहा कि आज स्पीड फास्ट रखो। आदिम जाति कल्याण मंत्री ओंकार मरकाम ने आदिवासियों का मुद्दा उठाना चाहा, तो सीएम ने डपटकर कहा कि अभी बैठ जाओ, ये बातें बाद में कर लेंगे। इस बीच खाद्य आपूर्ति मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने कहा कि माननीय, मुझे टाइम दीजिए, तो सीएम बोले कि सीधे अपनी बात कहो।

क्या कहना है
सीएम ने प्रद्युमन सिंह से पूछा कि क्या कहना है। प्रद्युमन ने कहा कि निकाय चुनाव आने वाले हैं, निकायों में बजट रखा है? इस पर सीएम ने कहा कि अपनी बात जल्दी कहो। प्रद्युमन बोले कि इस बजट को खर्च होना चाहिए। इस पर सीएम ने कहा कि ये सब काम बाद में देख लेंगे। तभी स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी ने कहा कि प्रतिभावन विद्यार्थियों को 25 हजार के लैपटॉप देते हैं, उन्हें अच्छे लैपटॉप मिलना चाहिए या फिर ये स्कीम बंद कर दी जाए।

नाराज हो गए सीएम
प्रभुराम चौधरी की बात सुनकर सीएम नाराज हो गए। उन्होंने कहा कि ये समय इन सब बातों के लिए नहीं है। इन बातों को बाद में देख लेंगे। अभी बैठ जाओ। इसके बाद किसी मंत्री ने कोई मुद्दा नहीं उठाया। यहीं नहीं सीएम कुछ प्रस्तावों को तो तुरंत हरी झंडी दे दी। वहीं, मंदिरों की जमीन बिल्डरों को देने के प्रस्ताव पर जमकर नाराजगी जताई।

सीएम ने कहा कि ये प्रस्ताव अभी क्यों लाए। जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने बताया कि सीएम की नाराजगी के बाद इस प्रस्ताव को रोक दिया गया है। वहीं, राम वनगमन पथ का प्रस्ताव मंजूर कर दिया गया। इसमें चित्रकूट से अमरकंटक तक पथ को दोनों छोर से एक साथ बनाना शुरू किया जाएगा। इसके लिए ट्रस्ट बनाने की मंजूरी दी है।

Congress Kamal Nath
Muneshwar Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned