कमलनाथ ने सरकार बचाने के लिए बनाया फार्मूला, विधायक को मिले 50 करोड़ और मंत्री बनने का ऑफर

कमलनाथ ने सरकार बचाने के लिए बनाया फार्मूला, विधायक को मिले  50 करोड़  और मंत्री बनने का ऑफर

Pawan Tiwari | Updated: 28 May 2019, 09:40:21 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

नेता प्रतिपक्ष ने कहा थी फ्लोर टेस्ट कराने की मांग।

भोपाल. केन्द्र में फिर से मोदी सरकार बनने के साथ ही प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। सोमवार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की विधायक रामबाई ने कहा कि भाजपा की तरफ से 50 करोड़ रुपए और मंत्री पद का प्रलोभन दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री कमलनाथ जहां विपक्ष को फ्लोर टेस्ट कराने की चुनौती दे चुके हैं वहीं, अपने और पार्टी को समर्थन देने वाले विधायकों को बचाने की जगुत में लग गए हैं। सीएम कमलनाथ ने प्रदेश के हर मंत्री को अपने-अपने जिले के विधायकों की समस्या सुनने और उनकी मदद के लिए कहा है ताकि विधायकों में किसी तरह का असंतोष न पनपे।

मंत्रियों को निर्देश
कमलनाथ ने रविवार रात विधायकों की बैठक बुलाई। बैठक में उन्होंने सभी विधायकों से एकजुट रहने के साथ ही उनकी समस्याओं के समाधान के लिए तय समय सीमा में कार्रवाई करने का मंत्रियों को निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार के एक-एक मंत्री को पांच-पांच विधायकों की समस्याओं और उनके उठाए जाने वाले मसलों का तुरंत समाधान निकालने के निर्देश दिए। वहीं, बताया जा रहा है कि सीएम कमलनाथ प्रदेश के निर्दलीय विधायक और सपा-बसपा के विधायकों के खुद संपर्क में रहेंगे। निर्दलीय विधायकों में किसी तरह का असंतोष ना उपजे इसलिए खुद सीएम कमलनाथ उनके संपर्क में रहेंगे।

 


बीजेपी-कांग्रेस के संपर्क में विधायक
भाजपा के कई नेता दावा कर चुके हैं कि प्रदेश में कांग्रेस के कई विधायक उनके संपर्क में हैं। तो वहीं, मध्यप्रदेश के कानून मंत्री पीसी शर्मा ने लोकसभा चुनाव के परिणाम आने से पहले कहा था कि भाजपा के 20 से 25 विधायक उनके संपर्क में हैं और समय आने पर वो कांग्रेस का साथ देंगे।

क्या कहा रामबाई ने
दमोह जिले की पथारिया विधानसभा सीट से बसपा विधायक रामबाई ने सोमवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि भाजपा की तरफ से लगातार दबाव बनाया जा रहा है। भाजपा वाले 50 करोड़ रुपए और मंत्री पद का प्रालोभन दिया जा रहा है। बेटे की तबियत खराब है और दिल्ली में उसका इलाज चल रहा है जिस कारण से वहां भी दबाव बनाया जा रहा है। लेकिन वह कमलनाथ सरकार के साथ हैं।

 

इस फार्मूले से सरकार बचाएंगे कमलनाथ!
मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बचाने के लिए सीएम कमलनाथ ने सरकार बचाने का नया फार्मूला निकाला है। रविवार को मंत्रियों के साथ बैठक में सीएम कमलनाथ ने उन्हें अपने विधायकों को संभाले रखने की जिम्मेदारी दी है। उन्होंने मंत्रियों से कहा कि प्रत्येक मंत्री पांच-पांच विधायकों को संभाले। कमलनाथ ने कहा कि भाजपा हमारी सरकार को अस्थिर बताकर छवि खराब करने की कोशिश करेगी। जनता को बताना है कि सरकार स्थिर है और बेहतर काम करेगी।


क्या है मध्यप्रदेश विधानसभा में दलों के आकड़े
मध्यप्रदेश विधानसभा में 230 सीटें हैं पांच महीने पहले हुए चुनाव में कांग्रेस के 114 और बीजेपी के 109 विधायक हैं। कांग्रेस की सरकार बीएसपी के दो, एसपी का एक और निर्दलीय चार विधायकों के समर्थन से बनी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned