मध्यप्रदेश में रिलांयस ग्रुप का बढ़ेगा निवेश, मुख्यमंत्री कमलनाथ-मुकेश अंबानी में वन-टू-वन

मध्यप्रदेश में रिलांयस ग्रुप का बढ़ेगा निवेश, मुख्यमंत्री कमलनाथ-मुकेश अंबानी में वन-टू-वन

KRISHNAKANT SHUKLA | Publish: Aug, 08 2019 11:23:50 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

Chief Minister Kamal Nath met Mukesh Ambani - आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस में निवेश पर सीएम-अंबानी में वन-टू-वन, मध्यालोक के उद्घाटन के बाद आज मुम्बई में दो दर्जन निवेशकों से चर्चा करेंगे मुख्यमंत्री कमलनाथ

भोपाल. मुख्यमंत्री कमलनाथ ( Kamal Nath ) परंपरागत निवेश से हटकर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस ( artificial intelligence ) सेक्टर पर निवेश चाहते हैं। इसी कड़ी में बुधवार को मुम्बई के ताज ग्रुप होटल में मुख्यमंत्री की रिलांयस ग्रुप ( Reliance group ) के मुकेश अंबानी से चर्चा हुई।


वन-टू-वन के दौरान मुकेश अंबानी ने कहा कि कृषि क्षेत्र में रिलायंस और मध्यप्रदेश सरकार की भागीदारी से विकास के नए रास्ते खुल सकते हैं। अमेजॉन और वालमार्ट की तरह रिलायंस ग्लोबल लॉजिस्टिक हब स्थापित करने की योजना है।

उन्होंने मध्यप्रदेश में ऊर्जा स्टोरेज, उद्यानिकी और जियो नेटवर्क सेवा में रुचि दिखाई। अंबानी ने कहा कि कमलनाथ जब केन्द्रीय मंत्री थे तब उनसे चर्चा में निवेश को लेकर जो इनपुट मिलता था, मैंने उस पर हमेशा अमल किया और सफलता भी हासिल की।

 

उन्होंने कहा कि वे मध्यप्रदेश में एनर्जी स्टोरेज में बैटरी निर्माण सेक्टर में निवेश करने के इच्छुक हैं। इसके लिए मध्यप्रदेश सबसे प्राथमिकता वाला राज्य है। लीथियम के बाद वेलेडियम के माध्यम से ऊर्जा स्टोरेज का भविष्य अच्छा है। मप्र उद्यानिकी का केन्द्र बन सकता है। खाद्य प्रसंस्करण का क्षेत्र बढऩे से किसानों को फायदा होगा।

 

अंबानी ने कहा कि मध्यप्रदेश में डेटा उपयोग साउथ कोरिया और यूके से भी ज्यादा हो रहा है। उन्होंने बताया कि कमलनाथ ने नई टेक्नोलॉजी में निवेश के लिए आमंत्रित किया। इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। साथ ही व्यापार भी बढ़ेगा। निवेशक और राज्य दोनों को फायदा होगा। अंबानी ने जियो नेटवर्क का उपयोग महिला सुरक्षा, अपराध अनुसंधान और नियंत्रण जैसे क्षेत्रों में किया जा सकता है।

कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश की औद्योगिक निवेश की संभावनाओं को ठीक से दोहन करने की जरूरत है। प्रदेश उद्यानिकी, खाद्य प्रसंस्करण, डेटा प्रोसेसिंग, ऊर्जा स्टोरेज जैसे नए क्षेत्रों में देश का केंद्र बिंदु बन सकता है।

 

ऐसा है प्रदेश सरकार का मध्यालोक

नवी मुम्बई वाशी में लगभग 81 करोड़ लागत से बने अतिथि गृह मध्यालोक में 48 रूम, कॉन्फ्रेंस रूम, ऑडिटोरियम, स्टाफ डाइनिंग, कैफेटेरिया और कैंटीन है। चार मंजिला भवन में पर्यटन सूचना केन्द्र भी है। भवन में अति विशिष्ट व्यक्तियों के लिए सूट और वीआइपी सुइट के साथ ही 6 डीलक्स कक्ष, 18 स्टैंडर्ड कक्ष, 2 डोरमेट्री और 3 स्टाफ क्वार्टर्स शामिल हैं।

आज इन प्रमुख निवेशकों से चर्चा

मुख्यमंत्री गुरुवार को दो दर्जन निवेशकों से चर्चा करेंगे। इनमें महिन्द्रा एंड महिन्द्रा ग्रुप के पवन गोयनका, टाटा पॉवर के प्रवीर सिंहा, ग्रेसिम के दिलीप गौर, आरपीजी ग्रुप के हर्ष गोयनका, एसीसी सीमेंट के दिलीप अखूरी, अहिल्या हेरिटेज के यशवंत होलकर, नरसी मुंजी समूह के अमरीश पटेल, बजाज समूह के एमडी और सीईओ संजीव बजाज, जुबलिऐंट लाइफ साइंसेस लिमि. के वाइस प्रेसीडेंट कारपोरेट अमरदीप सिंह, महेन्द्रा हॉलिडेस एवं रिसोट इंडिया के चेयरमेन अरुण नंदा, टाटा कैपिटल के बिजनेस डेवलपमेंट हेड काश्मीरा मेवावाला आदि प्रमुख हैं।

 

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned