सीएम बोले- कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लगवाना अपराध, करो कार्रवाई

मैराथन बैठकों में बड़ा कदम : सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों पर सख्ती के निर्देश

By: Rohit verma

Published: 28 Jun 2021, 11:41 PM IST

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को मंत्री समूहों की मैराथन बैठकें कीं। सीएम ने वैक्सीनेशन की अनिवार्यता के लिए बड़ा कदम उठाया कि जो सरकारी अधिकारी-कर्मचारी एक डोज के बाद दूसरी नहीं लगवाता, उस पर कार्रवाई की जाए। सार्वजनिक स्थलों पर वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट के आधार पर एंट्री देना भी तय किया गया।

45+ वालों के लिए चलेगा अभियान
शिवराज ने बैठक में कहा कि उच्च जोखिम वाले लोगों को पहले दोनों डोज लगवाएं जाएं। दूसरी डोज नहीं लगवाना समाज के लिए अपराध के समान है। सामान्य लोगों को भी दूसरी डोज के लिए चिह्नित करके अनिवार्य रूप से डोज लगाने के लिए कहा गया। उन्होंने कहा, प्रदेश के सीमावर्ती जिलों में टीकाकरण अभियान पर विशेष ध्यान दिया जाए। 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को पहली डोज लगाने विशेष कैम्प लगाए जाएं।

66 ग्राम पंचायतों में 100त्न वैक्सीनेशन
नगर पंचायत बुढ़ार और नगर परिषद खेतिया में पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। 13 जिलों की 66 ग्राम पंचायतों में भी शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन हो चुका है। सीएम ने निर्देश दिए कि कोविड टीकाकरण के साथ बच्चों को लगने वाले 14 प्रकार के टीकाकरण का अभियान भी निरंतर जारी है। बच्चों का यह टीकाकरण प्रभावित नहीं हो।
बैठक में निर्देशित किया गया कि सार्वजनिक स्थलों पर प्रवेश का आधार वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट बन सकता है। इनमें पर्यटन स्थल, सिनेमाघर, पार्क जैसे अन्य स्थल शामिल हो सकते हैं।

दुकान-संस्थानोंका होगा सम्मान
सीएम ने कहा, जिन दुकानों व संस्थानों ने बेहतर तरीके से कोरोना प्रोटोकाल का पालन किया, उन्हें सम्मानित किया जाए। भीड़ वाले क्षेत्रों में प्रोटोकॉल की निगरानी के लिए टावर लगाए जाएं। सम्मान योजना व रोको-टोको अभियान चलाए जाएं। प्रदेश में प्रतिदिन एक लाख तक कोरोना टेस्ट सुनिश्चित किए जाएं।

दुकानों, होटलों में भीड़ रोकने लागू होगा कूपन सिस्टम
को रोना काल में दुकानों, होटलों और भीड़ वाले प्रतिष्ठानों में प्रोटोकॉल का पालन करने कूपन सिस्टम अपनाया जाएगा। दुकानों-होटलों से जितने लोग बाहर निकलेंगे, उतने ही नए लोग प्रवेश कर पाएंगे। होटल प्रतिष्ठान 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे। कोविड अनुकूल व्यवहार की मंत्री समूह की बैठक में तय किया गया कि घर से निकलने वाले सौ फीसदी लोगों के मुंह पर मास्क जरूर हो। नगरीय निकाय चैकिंग अभियान चलाएंगे।

दुकान, होटलों और प्रतिष्ठानों पर छापामार कार्रवाई करें। सुझाव दिया जाए कि वे खाद्य सामग्रियों की होम डिलेवरी पर जोर दें। इसके लिए कुछ प्रोत्साहन योजना चलाई जाए। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा, नगरीय निकायों द्वारा कोविड अनुकूल व्यवहार करने वाले व्यापारियों, दुकानदारों इत्यादि को पुरस्कृत किया जाएगा।

Rohit verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned