scriptcm shivraj singh | नए वैरिएंट का खतरा : शिवराज बोले- ये मानकर चलें कि ओमीक्रान हमारे यहां आ चुका है... | Patrika News

नए वैरिएंट का खतरा : शिवराज बोले- ये मानकर चलें कि ओमीक्रान हमारे यहां आ चुका है...


------------------------
- शिवराज ने की आपात बैठक : वीसी के जरिए कलेक्टर-एसपी संग समीक्षा, जिलों में इंतजाम के निर्देश
-------------------------

भोपाल

Published: December 25, 2021 12:06:58 am


भोपाल। प्रदेश में कोरोना के नए वैरिएंट के खतरे के साथ नाइट कफ्र्यू लगाने के बाद शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आपात समीक्षा बैठक की। वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए वचुर्अल तरीके से प्रदेश के कलेक्टर्स व एसपी के साथ संवाद करके कोरोना की स्थित जानी गई। यहां शिवराज ने कहा कि प्रदेश में तीसरी लहर का खतरा बढ़ता जा रहा है। अब प्रदेश में भी पॉजीटिव केस 200 से ज्यादा हो गए हैं। कोरोना के केस पहले इंदौर और भोपाल में ही आ रहे थे, धीरे-धीरे अन्य जिलों में भी आते जा रहे हैं। 34 जिलों में अभी एक्टिव केस नहीं है, लेकिन प्रदेश के पड़ोसी राज्यों महाराष्ट्र व गुजरात में तेजी से केस बढ़़ रहे हैं। यह चिंताजनक है, क्योंकि पड़ोसी राज्यों से प्रदेश में आना-जाना लगा रहता है। पुराना अनुभव हमारे सामने है। यह मानकर चले कि ओमीक्रान हमारे यहां आ चुका है। इसलिए सतर्क और सावधान रहते हुए अभी से प्रयास करें। जनता की जिंदगी की सुरक्षा के उपायों में कोई कमी नहीं रहे।
-------------------------
आर्थिक गतिविधियां बरकरार रखना जरूरी-
शिवराज ने कहा कि केस बढऩे को गंभीरता से लेकर कदम उठाए जाएं। कोरोना टेस्ट बढ़ाए जाएं। अमेरिका, इंग्लेंड में बहुत ज्यादा केस आ रहे हैं। अब दोनों डोज लगवाने वाले ही जिम, सिनेमा हॉल एवं अन्य स्थानों पर जा सकेंगे यह प्रतिबंध लगाया है। आर्थिक गतिविधियों पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े यह भी सुनिश्चित किया जाए। ऑक्सीजन की कमी नहीं रहने दें। इसे प्राथमिकता से लें। मास्क लगाना जरूरी है। वैक्सीनेशन और टेस्टिंग कराने की अपील हो। पूरी स्थिति पर नियंत्रण रखें। अमेरिका, यूके, डेनमार्क की स्थिति देखें तो ओमिक्रान तेजी से बढ़ता जा रहा है। प्रदेश में पूरी जिम्मेदारी, सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ कोविड को नियंत्रण करना जरूरी है। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों के साथ बैठक करें। प्रभारी मंत्री भी बैठकों में जुड़ेें। अनावश्यक भीड़ वाले आयोजन से बचें। कलेक्टर इसका पालन करायें।
------------------------
जिलों में प्लानिंग रिपोर्ट बनाएं-
शिवराज ने कहा कि पॉजीटिव आने पर 30 लोगों की कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग हो। होम आयसोलेशन की व्यवस्था न होने पर अस्पताल में भर्ती करें। अस्पतालों में वेंटीलेटर्स, बिस्तरों की पर्याप्त व्यवस्था हो। ऑक्सीजन की लाइनें ठीक रहे। आयसोलेशन बिस्तर देख लें, पीएसए प्लांट चालू हालात में रहे। कंसन्ट्रेटर चालू करके देख लें। बिजली व्यवस्था ठीक रहें, जनरेटर की भी व्यवस्था हो। आवश्यक दवाइयां रखें, कम से कम एक महीने का स्टॉक हो। कोविड केयर सेंटर को फिर से चिन्हित करें। सभी जिलों में प्लानिंग रिपोर्ट बना लें। मैपिंग कर प्रायवेट और शासकीय अस्पतालों में बिस्तरों की व्यवस्था को देखें। डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, मेडीकल कॉलेज में समन्वय करें।
------------------------------
shivraj.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.