scriptcm shivraj singh | सबंल योजना होगी रिफार्म, काशी विश्वनाथ कॉरीडोर की तर्ज पर विकसित होगा महाकालेश्वर | Patrika News

सबंल योजना होगी रिफार्म, काशी विश्वनाथ कॉरीडोर की तर्ज पर विकसित होगा महाकालेश्वर

---------------------------------
- शिवराज ने पूरे दिन की मैराथन बैठकें : अफसरों की लापरवाही पर नाराजगी भी, सीएम ने दिए मंत्री और अफसरों को फील्ड में जाने के निर्देश, मंत्रियों व अफसरों को कामकाज की लगातार समीक्षा के निर्देश
---------------------------------

भोपाल

Updated: January 03, 2022 11:01:01 pm


भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को मैराथन बैठकें की। इसके तहत प्रदेश के समग्र विकास का रोडमैप तय करने फैसले किए गए। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के तहत विभिन्न विभागों में कदम उठाए जाएंगे। शिवराज ने निर्देश दिए कि उज्जैन के ज्योर्तिलिंग महाकालेश्वर का जीर्णोध्दार अब काशी के विश्वनाथ कारीडोर की तर्ज पर किया जाए। साथ ही संबल योजना को रिफार्म करके नए सिरे से लागू किया जाए। देश के दूसरे राज्यों के श्रम कानूनों की स्थिति देखकर अच्छे मॉडल अपनाए जाएंगे। वहीं प्रदेश के हर स्कूल में योग शिक्षक की नियुक्ति की जाएगी। इसके लिए अलग से भर्ती भी होगी। वहीं जंगलों में बाघों की मौत को भी गंभीरता से लेकर सतर्कता बढ़ाने के लिए कहा गया। सीएम ने मंत्रियों और अफसरों को फील्ड में जाने और लगातार सक्रिय रहने के लिए भी कहा। शिवराज ने एक महीने बाद वापस इन निर्देशों की स्थिति जांचने की बात कही। शिवराज ने कहा कि मंत्री और अफसर कनेक्टेड विभागों के साथ समन्वय बनाकर काम करें। केंद्र की योजनाओं पर ध्यान देकर अधिक धनराशि लाए। साथ ही केंद्रीय योजनाओं में मध्यप्रदेश को नंबर वन लाया जाए। इसके अलावा हर योजना में लक्ष्य तय करके काम हो।
--------------------------------
श्रम विभाग : संबल योजना की रिपैकेजिंग होगी-
शिवराज ने श्रम विभाग की समीक्षा में कहा कि श्रम में अन्य राज्यों के अच्छे कामों की बेंचमार्किंग क्यों नहीं की गई। जो अच्छा काम है उसे देखो। पीएम श्रमयोगी मानधन योजना में प्रचार-प्रसार की जरूरत है। क्या कभी उद्योग और श्रम विभाग मिलकर बैठे? शिवराज के सवालों पर श्रम मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव ज्यादातर जवाब नहीं दे पाए। विभागीय अफसरों ने पूरा प्रेजेंटेशन दिया। शिवराज ने कहा कि अब संबल योजना की फिर से ठीक से पैकेजिंग करना है। कई समस्याएं हैं, जिन्हें दूर किया जाए। जो लोग अनाश्यक जुड़े हैं, उन्हें हटाकर जरूरतमंद को जोड़े। शिवराज ने कहा कि श्रमोदय विद्यालय देश में उदाहरण बने ऐसा काम हो। सुपर 30 की तर्ज पर आईटीआई को चलाया जाए।
-----------------------
खेल एवं युवा कल्याण : योग शिक्षकों की भर्ती करेंगे-
सीएम शिवराज ने खेल एवं युवा कल्याण की समीक्षा में कहा कि खेलों में कॉडर रिव्यु किया जाए। जो भी जरूरत होगी हम पूरा करेंगे। हर स्कूल में खेल व योग के शिक्षक होना चाहिए। इनकी नियुक्ति की जाएगी। ग्रामीण विकास के साथ मिलकर शारीरिक खेल कराएं। जो अधूरे प्रोजेक्ट हैं, उन्हें पहले पूरा करें। मुझे सूची दो कि किस जिले में कितने काम अधूरे हैं। खेल में भी योग्यता के आधार पर जॉब हो, जो मेडल प्राप्त हैं उन खिलाडियों को वरीयता दी जाये। अन्य राज्यों का अध्ययन कीजिये, कैसे खेल को अच्छा कर सकते हैं। ताकि खेल कोटे से रोजगार उपलब्ध हो सके। साथ ही मां तुझे प्रणाम योजना फिर शुरू की जाए। आनंद विभाग के साथ मिलकर आनंद उत्सव पर विचार करें। स्कूल विभाग और खेल विभाग कॉर्डिनेट करें।
------------------------------
अध्यात्म विभाग : नर्मदा तट वाले जिले अलग मॉडल बनाएं-
शिवराज ने अध्यात्म विभाग की समीक्षा में कहा कि नर्मदा जयंती एवं शिवरात्रि पर लगने वाले मेले एवं उत्सव व्यवस्थित तरीके से हों। नर्मदा तट के जिलों के कलेक्टर्स को जोडक़र एक नया मॉडल बनायें। जो भी आयोजन हो वह जन सहयोग से हों। वैदिक जीवन पद्धति मॉडल बनायें, जिसमें संतों का मार्गदर्शन लें। कोविड कम होने पर तीर्थदर्शन योजना को शुरू करेंगे। आनंद केन्द्र औऱ अधिक कैसे प्रभावी हो सकते हैं, इसका प्रयास करें, इन्हें सीमित न रखें। प्रदेशभर में 14 से 28 जनवरी तक आनंद उत्सव किए जाएं। काीश विश्वनाथ कॉरीडोर की र्ज पर महाकाल मंदिर परिसर का जीर्णोद्धार किया जाए। छोटे-छोटे मंदिरों का जीर्णोद्धार हेतू प्रयास करें।
----------------------------
वन विभाग : नेचर टूरिज्म पर फोकस हो-
shivraj-singh-chouhan-.jpg
सीएम शिवराज ने वन विभाग की समीक्षा में कहा कि बाघों की मौत को गंभीरता से लिया जाए। बाघ संरक्षण प्राथमिकता पर है। इसलिए इस पर ध्यान दें। वनोपज का जो समर्थन मूल्य है उसी के अनुसार खरीदी हो। बांस का उत्पादन जितना बढ़ जाये, उतना रोजगार भी बढ़ेगा और लकड़ी का आवश्यकता कम होगी। इसलिए इस पर ध्यान दें। कैंपा निधि का उपयोग ठीक ढंग से हो, मंत्री भी इस पर ध्यान दें। बफर में सफर और देवारण्य योजना हमारी महत्वाकांक्षी योजना है, इस पर अच्छा काम हो। वन पर्यटन का कंसेप्ट को आगे बढ़ाईये। होशंगाबाद और बैतूल को मिलाकर एक वन पर्यटन का एक सर्किट बने। नेशनल पार्क में ट्रेकिंग को बढावा देना है। साथ ही राजस्व व वन विभाग के विवादों का निपटारा जल्द किया जाए। शिवराज ने वन की मंजूरियों में देरी पर नाराजगी जाहिर करके कहा कि अन्य निर्माण विभागों से परियोजनाओं का फॉरेस्ट क्लिरेंस करने में समय क्यों लगता है? सीएम ने यह भी पूछा कि वन विभाग ने पर्यटन विभाग से मिलकर नेचर टूरिज्म पर अब तक क्या किया? इस पर बफर में सफर सहित अन्य योजनाओं की जानकारी दी गई।
----------------------- -----------------------

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.