कोरोना को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, जहां ज्यादा मरीज वहां लगेगा कर्फ्यू

समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा- लॉकडाउन नहीं लगेगा, गाइडलाइन का कड़ाई से होगा पालन...।

By: Manish Gite

Published: 20 Nov 2020, 05:37 PM IST

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के अचानक बढ़ने के बाद राज्य सरकार चिंता में पड़ गई है। उसने सख्त कदम उठाने का फैसला लिया है। राज्य सरकार ने इस बार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मास्क लगाने पर जोर दिया है। इधर, मास्क नहीं लगाने पर भोपाल में कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है। पुराने भोपाल में बड़ी संख्या में लोगों के चालान बनाए गए। सभी से 100-100 रुपए वसूले गए।

 

कोरोना की तीसरी लहर के तहत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को मंत्रालय में कोरोना को लेकर समीक्षा बैठक की, जिसमें चौहान ने स्पष्ट कर दिया है कि मध्यप्रदेश में लॉकडाउन की जरूरत नहीं हैं, जबकि गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराया जाएगा। चौहान ने कहा कि फिलहाल स्कूल-कालेज भी बंद रहेंगे।

 

मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोविड 19 अभी गया नहीं है। परिवर्तित होते मौसम में यह चुनौती बड़ी हो सकती है। इसलिए सावधानी बरतें और दिशा-निर्देशों का पालन अवश्य करें। गाइडलाइंस का पालन नहीं करने पर जुर्माना वसूला जाए।

-हम सब मिलकर कोविड 19 की चुनौती का सामना करें। लोगों को जागरुक करने के लिए जन-जागरण हो। इस कार्य में एनजीओ भी सहयोग करें। विवाह में भी सीमित लोग ही सम्मिलित हों। स्वयं जागरुक रहें और दूसरों को भी जागरुक करें।

चौहान ने स्पष्ट कर दिया कि प्रदेश में #Lockdown नहीं लगाया जाएगा। स्कूल और कॉलेज अभी नहीं खुलेंगे। सिनेमा घर अभी पूर्व व्यवस्था के अनुसार 50 प्रतिशत के साथ ही खुलेंगे। याद रखिए कि जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं के मंत्र पर हम सब चलेंगे।

 

यह भी हुए फैसले

  • शनिवार से क्राइसिस ग्रुप की लगातार बैठक होगी और सरकार को अपनी सिफारिशें भेजी जाएगी।
  • शादियों में मेहमानों की संख्या बढ़ाने या घटना पर फैसला बाद में लिया जाएगा।
  • पूरे ही प्रदेश में मास्क को लेकर सख्ती बरती जाएगी। अभियान चलाया जाएगा। जुर्माना भी वसूला जाएगा। इसे अपने जिले में लागू करने की जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।
  • मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि वे खुद हर एक दिन छोड़कर कोरोना के मामलों की समीक्षा करेंगे।

 

पुराना वीडियो वायरल

समीक्षा बैठक से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसमें भोपाल और जबलपुर में कर्फ्यू की बात कही गई थी। यह 6 माह पुराना वीडियो वायरल कर भ्रम फैलाया जा रहा था। इस वीडियो के वायरल होने के बाद फिर से संपूर्ण लॉकडाउन की अटकलें लगने लगी थीं। इस संबंध में मुख्यमंत्री के जनसंपर्क विभाग से भी अधिकृत बयान जारी कर इसे गलत बताया है।

 

 

नरोत्तम मिश्रा का बयान

इससे पहले शुक्रवार को पत्रिकारों से बात करते हुए प्रदेश के गृह मंत्री डा. नरोत्तम मिश्र ने कहा था कि लोगों को कोरोना महामारी की भयावहता को समझना चाहिए। प्रदेश में बढ़ता संक्रमण चिंता का विषय है। इस समय हर नागरिक को सावधान रहने की जरूरत है। सरकार ने सावधाी और सुरक्षा के लिहाज से सारे विकल्प खुले रखे हैं।

 

अब सख्ती की दरकार

इससे एक दिन पहले गुरुवार को भी मंत्रालय के बड़े अधिकारियों ने बैठक कर कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने पर जोर दिया था। उनका मत था कि रात्रि कालीन कर्फ्यू या दुकानें बंद करने से कोई ज्यादा फायदा नहीं होगा। अधिकारियों का यह भी मत है कि बड़ी मुश्किल से बाजार की स्थिति में सुधार आ पाया है, इसे दोबारा से बंद नहीं करना चाहिए। अधिकारियों ने मास्क न लगाने पर जुर्माना भी बढ़ाने पर सहमति जताई। अधिकारियों ने अपने-अपने स्तर पर दो प्लान तैयार कर लिए थे।

 

अब दस फीसदी की दर से बढ़ोतरी

कोरोना संक्रमण की रफ्तार पहले 2 से 5 फीसदी चल रही थी, लेकिन नवंबर आते-आते इसने 10 फीसदी के हिसाब से ग्रोथ करना शुरू कर दिया है। अचानक बढ़ोतरी का सबसे बड़ा कारण लोगों की लापरवाही माना जा रहा है। कई लोगों ने मास्क का इस्तेमाल नहीं के बराबर कर दिया है, वहीं सोशल डिस्टेंसिंग का इस्तेमाल भी नहीं कर रहे हैं।

गौरतलब है कि अक्टूबर तक कम हो चुका कोरोना का संक्रमण नवंबर में तेजी से बढ़न लगा है। पिछले 14 घंटों के दौरान 1363 नए संक्रमित मिलने से चिंता बढ़ गई है। राजस्व विभाग की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक नए मरीजों की पुष्टि होने के बाद अब प्रदेश में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 88 हजार के पार निकल गई है। वहीं पिछले 24 घंटे में ही 14 मरीजों की मौत हो गई है। जबकि प्रदेश में कुल 3129 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

 

इंदौरः रात 9 बजे बंद होगी 56 दुकान

उधर इंदौर से खबर है कि पलासिया स्थित 56 दुकानों को रात 9 बजे बंद करने का निर्णय लिया गया है। यह फैसला 56 दुकान एसोसिएशन ने खुद ही लिया है। उन्होंने कहा है कि अभी तक देर रात तक लोगों का जमावड़ा रहता था, लेकिन रात 9 बजे तक सभी दुकानदार स्वेच्छा से दुकानें बंद कर देंगे।

Corona virus
Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned