सीएम ने ली चुटकी, मंत्रालय में बैठे ब्यूरोक्रेट्स पर बोली मजेदार बात

मुख्यमंत्री ने कहा- सेक्रेटेरिएट में बैठ जाओ तो यहां तो रंगीन पिक्चर खींच दी जाती है, फील्ड में जाओ तो पता चलती है असलीयत...।

By: Manish Gite

Published: 22 Sep 2021, 07:38 PM IST

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एक बयान दिनभर सुर्खियों में रहा। वे मजाक के मूड में नजर आए। लेकिन, मजाक-मजाक में जो उन्होंने कहा वे राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बन गया। गौरतलब है कि दो दिन पहले ही पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने ब्यूरोक्रेट्स को चप्पल उठाने वाला बताया था, जिसके बाद उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj singh chauhan) बुधवार को मिंटो हॉल में वाणिज्य सप्ताह की शुरुआत के मौके पर संबोधित कर रहे थे। चौहान ने इस दौरान वल्लभ भवन के ब्यूरोक्रेट्स पर तंज कस दिया। हालांकि मजाक के मूड में उन्होंने जो कहा, उसके बाद इसके मायने निकाले जाने लगे।

चौहान ने कहा कि अगर सेक्रेटेरिएट में बैठ जाओ तो यहां तो रंगीन पिक्चर खींच दी जाती है, महाराज सब आनंद ही आनंद है, लेकिन फील्ड में जाओ तो जनता से मिलकर पता चलता है कि कहां तक आनंद पहुंचा। इस दौरान वहां मौजूद सभी लोग हंसने लगे। इसके बाद मुख्यमंत्री ने हंसते हुए मंच पर बैठे अफसरों से हंसते हुए कहा कि मैं प्रमुख सचिव संजय शुक्ला के बारे में नहीं बोल रहा हूं। नीचे भी काम मुख्यमंत्री की आंख का इशारा देखकर होता है। मुख्यमंत्री जिस काम पर फोकस कर ले, तो वहीं काम तेजी से होता है।

 

 

एमपी ट्रेड पोर्टल लांच

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मिंटो हॉल में mptradeportal लांच किया। इससे आयात और निर्यात करने वालों को जोड़ा जाएगा। एक्सपोर्ट की कई बाधाएं दूर होंगी और इन्फ्रास्ट्रक्चर चाहिए, उसे देंगे। इस मौके पर केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि केंद्र सरकार देश के 464 जिलों में निर्याण हब बनाने पर जोर दे रही है, इसके लिए मध्यप्रदेश सरकार ने पहले से ही काम शुरू कर दिया है। कार्यक्रम में उद्योग मंत्री राज्यवर्धन दत्तीगांव ने कहा कि हम दूसरे राज्यों से अच्छा काम कर रहे हैं। दूसरे देशों से भी बेहतर सीखने का प्रयास करेंगे। प्रदेस में अपार संभावनाएं हैं। कार्यक्रम में औद्योगिक निवेश और प्रोत्साहन प्रमुख सचिव संजय शुक्ला ने कहा कि इस कान्क्लेव के जरिए प्रदेश में एक्सपोर्ट का कारोबार और पढ़ाने व इम्पोर्ट को कम करने का काम करना होगा। इसके लिए कई कार्यक्रम करने का निर्णय लिया गया है।

 

नेशनल पार्क के लिए ऑनलाइन बुकिंग शुरू, यहां हैं 6 नेशनल पार्क

Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned